LIVE: अविश्वास प्रस्ताव पर अग्निपरीक्षा से पहले PM मोदी ने बुलाई कोर ग्रुप की बैठक     |       डॉलर की तुलना में रुपये ने छुआ 69.12 का ऐतिहासिक निचला स्तर     |       यात्री और माल वाहनों के पहिये जाम, लोगों की फजीहत     |       पीएम मोदी के पिछले 4 साल के विदेश दौरे में खर्च हुए 1484 करोड़ रुपये     |       अगस्त से पटनावासियों के हाथ में होगा बैंगनी रंग का नया सौ रुपये का नोट     |       ये है BJP सांसद की DSP बेटी, जो 'कैश फॉर जॉब' घोटाले में हुई अरेस्ट     |       AAP नेता संजय सिंह का मुख्य सचिव पर गंभीर आरोप, कहा- वे भ्रष्टाचारियों से मिले हुए हैं     |       चीफ जस्टिस पर SC कॉलेजियम के सुझाव को सरकार ने अस्वीकार किया     |       गोपाल दास नीरज के निधन से एक युग का अंत, आम जन से लेकर राष्ट्रपति तक ने कहा- 'नमन'     |       सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को, जानें जरूरी और काम की बातें     |       मेरठ में पूर्व सांसद के भाई की मीट फैक्ट्री में गैस से तीन की मौत     |       भारत और अमेरिका की नई दिल्ली में 6 सितंबर को होगी 2+2 वार्ता     |       14 मिनट में बैंक के अंदर से 20 लाख पार     |       शिखर वार्ता के बाद व्लादीमिर पुतिन के प्रस्ताव को डोनल्ड ट्रंप ने किया ख़ारिज     |       Jio का मानसून हंगामा ऑफर आज से, जानें कैसे 500 रुपए में मिलेगा नया जियो फोन     |       Dhadak Movie Review: फिर से पहले प्यार की मासूमियत को करना चाहते हैं महसूस, तो देखें जाह्नवी और ईशान की धड़क     |       ट्रेन का जनरल टिकट अब घर में बैठें अपने स्मार्टफोन से करें बुक, लॉन्च हुआ नया एप     |       जन्म के समय था वजन मात्र 375 ग्राम, डॉक्टरों के प्रयास से जीवित बच गई बच्ची     |       चमोली के मलारी में बादल फटा, भूस्खलन से डेरों में पांच मजदूर दबे     |       लोन डिफॉल्टरों की देश-विदेश की सारी नामी-बेनामी प्रॉपर्टी होगी जब्त     |      

राज्य


इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- ठगने वाले बाबाओं पर अंकुश लगाए सरकार

इलाहाबादः उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद हाईकोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार दोनों से कहा है कि वह भोली-भाली जनता को ठगने वाले बनावटी बाबाओं पर अंकुश लगाए। इसके साथ ही अदालत ने ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य पद पर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती व स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के चयन को वैध नहीं माना है और तीन महीनें के अंदर नए शंकराचार्य की नियुक्ति का आदेश दिया है।


allahabad-high-court-says-government-to-act-against-fake-babas

वहीं अदालत ने कहा है कि तीन महीने के अंदर बाकी तीन पीठों के शंकराचार्य मिलकर ज्योतिष पीठ के लिए योग्य शंकराचार्य का चयन करेंगे। यह आदेश न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल और न्यायमूर्ति के.जे. ठाकुर की खंडपीठ ने स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती की अपील को आंशिक रूप से स्वीकार करते हुए दिया है। अदालत ने कहा कि ज्योतिष पीठ को लेकर दीवानी अदालत की स्थायी निषेधाज्ञा नई नियुक्ति तक बरकरार रहेगी। अदालत ने अखिल भारत धर्म महामंडल और काशी विद्वत परिषद के योग्य संन्यासी ब्राह्मणों को तीनों पीठों के शंकराचार्यों की मदद से नया शंकराचार्य घोषित करने का आदेश दिया है।
 

इलाहाबाद उच्च अदालत ने कहा कि जब तक नए शंकराचार्य की नियुक्ति नहीं हो जाती तब तक यथास्थिति कायम रखी जाए। इसके साथ ही कहा है कि शंकराचार्यों की नियुक्ति में 1941 की प्रक्रिया अपनाई जाए और अदालत ने कहा है कि आदि शंकराचार्य द्वारा घोषित चार पीठों को ही वैध पीठ माना जाएगा। इसके साथ ही अदालत ने स्वघोषित शंकराचार्यों को अवैध करार दिया है। अदालत ने केंद्र और राज्य सरकार से कहा है कि फर्जी शंकराचार्यों और मठाधीशों पर अंकुश लगे और इसके साथ ही मठों की संपत्ति का ऑडिट भी कराया जाए।

वहीं अदालत ने स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती को छत्र, चंवर, सिंहासन धारण करने पर निचली अदालत से लगी रोक को बरकरार रखा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शंकराचार्य पद के मामले में फैसला सुनाते हुए कहा कि जब तक तीन महीने में चयन प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती है, तब तक स्वामी वासुदेवानंद शंकराचार्य के पद पर बने रहेंगे। धार्मिक संगठन मिलकर तीन महीने में ज्योतिष पीठ बद्रिकाश्रम के शंकराचार्य के पद पर नए नाम का चयन करें।

advertisement