सामने आई इमरान की मोदी को लिखी चिट्ठी, आपसी वार्ता से लेकर वाजपेयी तक का जिक्र     |       चुनाव / राहुल बोले, गली-गली में शोर है चौकीदार चोर है     |       राफेल पर रक्षा मंत्री ने देश को गुमराह करने की कोशिश की, इस्तीफा दें : कांग्रेस     |       जेट की उड़ान में यात्रियों की नाक से निकाला खून, जाँच के आदेश     |       मेट्रो में PM को देख मची सेल्फी की होड़, IICC सेंटर का शिलान्यास करने जा रहे थे     |       सरकार ने पीपीएफ और अन्य बचत योजनाओं पर बढ़ाई ब्याज दरें     |       पाक BAT एक्शन का भारत लेगा बदला! राजनाथ ने BSF डीजी को दिए निर्देश     |       5वीं की छात्रा से 9 महीने तक रेप करते रहे प्रिंसिपल और क्लर्क, गर्भवती होने पर हुआ खुलासा     |       चोटिल हार्दिक बाहर, दीपक चहर, रवींद्र जड़ेजा और सिद्धार्थ कौल को मिला मौका     |       Watch video : मायावती का ऐलान, जोगी - बसपा का होगा गठबंधन, अजीत जोगी होंगे सीएम पद के उम्मीदवार     |       उत्तर प्रदेशः पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराए 25 हजार के दो ईनामी गैंगस्टर, पत्रकारों ने कैमरे में कैद की मुठभेड़     |       मध्य प्रदेश: हाईकोर्ट के आदेश पर हटाई जाएंगी पीएम मोदी और शिवराज की फोटो वाली टाइल्स     |       पिल्‍लों पर हमला किया तो कोबरा से भिड़ गया कुत्‍ता, देखें वीडियो     |       Asia Cup 2018: IND ने PAK को चटाई धूल लेकिन खुश हुआ अमेरिका, टीम इंडिया को दी मुबारकबाद     |       बेटी-दामाद पर किया जानलेवा हमला     |       कैबिनेट का फैसला / तीन तलाक देने पर 3 साल जेल, मोदी सरकार के अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी     |       तमिलनाडु, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना भारी बारिश की गतिविधि की उम्मीद - स्काईमेट (Skymet)     |       बिहार : आरा में भाजपा नेता के महिंद्रा ट्रैक्टर शोरूम पर दिनदहाड़े फायरिंग, एक की मौत     |       Isha Ambani Engagement: यहां होगी ईशा-आनंद की सगाई, जानिए क्या होगा ड्रेस कोड और जश्न का प्लान     |       कश्मीर में मारे आतंकियों पर पाकिस्तान ने जारी किए डाक टिकट, बताया आजादी का सिपाही     |      

राजनीति


जेटलीः रोजगार, सुस्त निवेश, अमेरिकी फेड वृद्धि हैं नीतिगत चुनौतियां

जेटली ने मौजूदा वर्ष और अगले वर्ष वैश्विक आर्थिक परिदृश्य के आश्वासनपूर्ण रहने के आसार को ध्यान में रखने के साथ-साथ मध्यम अवधि में सावधानी बरतने की सलाह को भी ध्यान में रखा।


arun-jaitley-job-slow-investment-us-fed-hike-policy-challenges

वाशिंगटनः भारतीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा एवं वित्तीय समिति (आईएमएफसी) के ब्रेकफास्ट सत्र में हिस्सा लिया और इस दौरान उन्होंने नीतिगत चुनौतियों पर बात की। जेटली ने कहा कि रोजगार सृजन, वैश्विक निवेश में सुस्ती और अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा मौद्रिक स्थितियों को सामान्य करने के कदम के उभरती अर्थव्यवस्थाओं पर संभावित प्रभाव तीन प्रमुख नीतिगत चुनौतियां हैं।

जेटली ने मौजूदा वर्ष और अगले वर्ष वैश्विक आर्थिक परिदृश्य के आश्वासनपूर्ण रहने के आसार को ध्यान में रखने के साथ-साथ मध्यम अवधि में सावधानी बरतने की सलाह को भी ध्यान में रखा। उन्होंने पूर्व चेतावनी कवायद के तहत साइबर सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित किए जाने की सराहना की और इस बात पर विशेष जोर दिया कि समूची वैश्विक वित्तीय प्रणाली को इससे खतरा है, क्योंकि यह आपस में काफी अधिक जुड़ गई है।

जेटली ने इस संबंध में तीन नीतिगत चुनौतियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पहली चुनौती यह है कि सामान्य मौद्रिक स्थिति बहाल करने के लिए अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा उठाए जा रहे साहसिक कदमों से उभरते बाजारों और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं (ईएमडीई) के समक्ष जोखिम उत्पन्न हो गए हैं। दूसरी चुनौती निवेश में वैश्विक सुस्ती और तीसरी चुनौती रोजगार को लेकर है। जेटली ने कहा कि वह अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से आग्रह करेंगे कि वह अल्पकालिक पूंजीगत अस्थिरता को प्रबंधित करने हेतु विभिन्न देशों के लिए उपलब्ध एवं उनके द्वारा अमल में लाए जा रहे वृहद-विवेकपूर्ण और पूंजी प्रवाह प्रबंधन उपायों का उचित एवं निष्पक्ष आकलन करे।

उन्होंने यह भी कहा कि भारत वर्तमान में दुनिया की उन कुछ बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, जहां जनसांख्यिकीय परिवर्तन का अच्छा दौर देखा जा रहा है। वित्तमंत्री ने कहा कि सरकार की सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकता हर साल श्रम बल में शामिल होने वाले 1.2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने के तरीके ढूंढ़ना है। जेटली ने आईएमएफसी के पूर्ण सत्र में भी भाग लिया, जिसमें संस्थागत मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया गया। उन्होंने भारत की व्यापक ढांचागत सुधार पहलों पर प्रकाश डाला, जिनमें वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी), विमुद्रीकरण और दिवाला एवं दिवालियापन संहिता शामिल हैं। जेटली ने कोटे की समीक्षा पर आम सहमति सुनिश्चित करने की दिशा में अपेक्षित प्रगति न होने पर मिश्रित भावनाएं व्यक्त की। उन्होंने विश्व बैंक की समग्र विकास समिति की 96वीं बैठक में भी भाग लिया।

बैठक के एजेंडे में विश्व विकास रिपोर्ट 2018 और विकास के लिए वित्त को उच्चतम सीमा तक बढ़ाने सहित कई विषय शामिल थे। वित्तमंत्री ने परामर्श और सहयोग की भावना के साथ 'स्प्रिंग मीटिंग 2018' तक शेयरधारिता समीक्षा को अंतिम रूप देने का आग्रह किया। जेटली ने ब्रिटेन और लंका के वित्त मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें भी कीं। इस दौरान आपसी रिश्ते प्रगाढ़ करने के लिए द्विपक्षीय सहयोग के व्यापक पहलुओं पर चर्चा की गई।

advertisement