आईपीएल-11 : राशिद का हरफनमौला प्रदर्शन, हैदराबाद फाइनल में (राउंडअप)     |       कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने साबित किया बहुमत, BJP का वॉकआउट     |       2019 में अमेठी या रायबरेली हम जीतेंगे, SP-BSP साथ आए तो मिलेगी चुनौती: अमित शाह     |       समिट रद्द करने के दूसरे दिन ट्रम्प ने जताई किम जोंग के साथ जल्द मुलाकात की उम्मीद, उत्तर कोरिया की तारीफ की     |       सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       CBSE 12th Results 2018: सीबीएसई 12वीं के नतीजे आज होंगे जारी, cbseresults.nic.in पर देखें रिजल्ट     |       मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्कवायरी का आदेश     |       अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट की रवीश कुमार को जान से मारने की धमकी वाली खबर, एलजी से पूछा- है दम इस पर एक्‍शन लेने का     |       देश में पानी और तेल को लेकर आग     |       रोहिंग्या मुद्दे पर बांग्लादेश ने मांगी भारत से मदद     |       सीमा पर गोलीबारी व घुसपैठ बंद करे पाकिस्तान : महबूबा     |       दिल्ली पुलिस ने सिसोदिया से 3 घंटे में पूछे 100 सवाल, कई के नहीं मिले जवाब     |       बिहार : 5 साल पहले महाबोधि मंदिर के पास हुए बम विस्फोट मामले में सभी 5 आरोपी दोषी करार     |       14 साल के छात्र से महिला टीचर पर संबंध बनाने का आरोप, अरेस्ट     |       झीरम घाटी हत्याकांड की बरसी पर कांग्रेस ने निकाली संकल्प यात्रा     |       अपडेट.. सैन्य शिविर पर ग्रेनेड हमला, दो सैन्यकर्मी घायल     |       घर आने की योजना रद्दकर ड्यूटी पर लौट गया था शहीद     |       Movie Review: भारतीय होने का गर्व महसूस कराएगी 'परमाणु', जॉन अब्राहम की दमदार एक्टिंग     |       प्रो गणेशी लाल ओडिशा और राजशेखरन मिजोरम के राज्यपाल होंगे     |       जेसीबी से हटाया गया अतिक्रमण     |      

खेल


बीसीसीआई ने सलगांवकर को किया निलंबित, भ्रष्टाचार के लगे आरोप

वहीं बीसीसीआई ने बताया है कि सलगांवकर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बीसीसीआई ने कहा कि सलगांवकर के भ्रष्टाचार में शामिल होने की खबरों के बाद उन पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्हें पिच क्यूरेटर के पद से निलंबित कर दिया गया है


bcci-suspended-mca-pitch-curator-pandurang-salgaonkar

मुंबई: बीसीसीआई ने भ्रष्टाचार मामले में फंसे महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) के पिच क्यूरेटर पांडुरंग सालगांवकर को निलंबित कर दिया है। सालगांवकर बुधवार को भारत-न्यूजीलैंड के बीच पुणे में दूसरे एकदिवसीय मैच से पहले एक निजी चैनल द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर मैच से पहले पिच से छेड़छाड़ की बात कहते हुए पकड़े गए थे।

वहीं बीसीसीआई ने बताया है कि सलगांवकर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बीसीसीआई ने कहा कि सलगांवकर के भ्रष्टाचार में शामिल होने की खबरों के बाद उन पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्हें पिच क्यूरेटर के पद से निलंबित कर दिया गया है और उनकी जगह रमेश महामुंकर को मैच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बीसीसीआई ने कहा है कि इससे मैच की शुरुआत पर कोई असर नहीं पड़ा और मैच तय समय पर ही शुरू हुआ। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड ने मैच से पहले पिच का निरीक्षण किया और अपनी मंजूरी दी।

बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी.के.खन्ना ने कहा कि सालगांवकर को निलंबित कर दिया गया है और इस पूरे मामले की रिपोर्ट आने तक उन्हें स्टेडियम में प्रवेश से सख्त मना किया गया है। मैंने एमसीए के अध्यक्ष आप्टे से बात की है और उन्होंने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। पिच क्यूरेटर सालगांवकर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। एक टेलीविजन चैनल का दावा है कि उसने सट्टेबाज के रूप में एक स्टिंग ऑपरेशन किया था, जिसमें उसने सालगांवकर से पिच की स्थिति जानने की कोशिश की। चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में सलगांवकर कह रहे हैं कि वह दो गेंदबाजों को ध्यान में रखते हुए पिच तैयार करेंगे। हालांकि, उन्होंने इन दो गेंदबाजों का नाम नहीं लिया है। आईसीसी के नियमों के अनुसार पिच की जानकारी देना अपराध है।

सालगांवकर को कैमरे पर यह कहते सुना जा रहा है कि काम हो जाएगा। सालगांवकर ने कहा कि यह पिच अच्छी है। इस पिच पर 337 रनों के लक्ष्य को आसानी से हासिल किया जा सकता है। बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि खेल की भावना को नुकसान पहुंचाने वाली किसी भी हरकत को बीसीसीआई बर्दाश्त नहीं करेगी। हमने सावधानी से काम किया है और यह सुनिश्चित किया है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरे मैच में किसी तरह की कमी न रहे। बीसीसीआई का कामकाज देख रही प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय ने कहा कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और संबंधित व्यक्तियों के संपर्क में हैं। हमने इसकी रिपोर्ट मांगी है उसके हिसाब से ही कम काम करेंगे। बीसीसीआई में हम इस तरह के मामलों में जीरो टॉलेरेंस की नीति अपनाते हैं।"

advertisement