LIVE: अविश्वास प्रस्ताव पर अग्निपरीक्षा से पहले PM मोदी ने बुलाई कोर ग्रुप की बैठक     |       पीएम मोदी के पिछले 4 साल के विदेश दौरे में खर्च हुए 1484 करोड़ रुपये     |       डॉलर की तुलना में रुपये ने छुआ 69.12 का ऐतिहासिक निचला स्तर     |       अगस्त से पटनावासियों के हाथ में होगा बैंगनी रंग का नया सौ रुपये का नोट     |       NEWS FLASH: अमेरिकी डॉलर की तुलना में सात पैसे गिरकर रुपया 69.12 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर     |       ट्रांसपोर्टर हड़ताल: महंगे हो सकते हैं फल-सब्जी और किराना सामान     |       ये है BJP सांसद की DSP बेटी, जो 'कैश फॉर जॉब' घोटाले में हुई अरेस्ट     |       गोपाल दास नीरज के निधन से एक युग का अंत, आम जन से लेकर राष्ट्रपति तक ने कहा- 'नमन'     |       AAP नेता संजय सिंह का मुख्य सचिव पर गंभीर आरोप, कहा- वे भ्रष्टाचारियों से मिले हुए हैं     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       सपा सरकार की बेरोजगारी भत्ता योजना बंद, शासनादेश जारी     |       सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को, जानें जरूरी और काम की बातें     |       जियो का मानसून हंगामा कल से, 49 रुपये में 1 महीने तक सब कुछ फ्री     |       चेकिंग के लिए पुलिस ने लगाए 57 नाके, 399 वाहनों के किए चालान     |       मेरठ में पूर्व सांसद के भाई की मीट फैक्ट्री में गैस से तीन की मौत     |       मेरठ में फर्जी मार्कशीट बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़, पांच गिरफ्तार     |       14 मिनट में बैंक के अंदर से 20 लाख पार     |       शिखर वार्ता के बाद व्लादीमिर पुतिन के प्रस्ताव को डोनल्ड ट्रंप ने किया ख़ारिज     |       भारत और अमेरिका की नई दिल्ली में 6 सितंबर को होगी 2+2 वार्ता     |       चमोली के मलारी में बादल फटा, भूस्खलन से डेरों में पांच मजदूर दबे     |      

खेल


बीसीसीआई ने सलगांवकर को किया निलंबित, भ्रष्टाचार के लगे आरोप

वहीं बीसीसीआई ने बताया है कि सलगांवकर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बीसीसीआई ने कहा कि सलगांवकर के भ्रष्टाचार में शामिल होने की खबरों के बाद उन पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्हें पिच क्यूरेटर के पद से निलंबित कर दिया गया है


bcci-suspended-mca-pitch-curator-pandurang-salgaonkar

मुंबई: बीसीसीआई ने भ्रष्टाचार मामले में फंसे महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) के पिच क्यूरेटर पांडुरंग सालगांवकर को निलंबित कर दिया है। सालगांवकर बुधवार को भारत-न्यूजीलैंड के बीच पुणे में दूसरे एकदिवसीय मैच से पहले एक निजी चैनल द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर मैच से पहले पिच से छेड़छाड़ की बात कहते हुए पकड़े गए थे।

वहीं बीसीसीआई ने बताया है कि सलगांवकर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बीसीसीआई ने कहा कि सलगांवकर के भ्रष्टाचार में शामिल होने की खबरों के बाद उन पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्हें पिच क्यूरेटर के पद से निलंबित कर दिया गया है और उनकी जगह रमेश महामुंकर को मैच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बीसीसीआई ने कहा है कि इससे मैच की शुरुआत पर कोई असर नहीं पड़ा और मैच तय समय पर ही शुरू हुआ। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड ने मैच से पहले पिच का निरीक्षण किया और अपनी मंजूरी दी।

बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी.के.खन्ना ने कहा कि सालगांवकर को निलंबित कर दिया गया है और इस पूरे मामले की रिपोर्ट आने तक उन्हें स्टेडियम में प्रवेश से सख्त मना किया गया है। मैंने एमसीए के अध्यक्ष आप्टे से बात की है और उन्होंने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। पिच क्यूरेटर सालगांवकर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। एक टेलीविजन चैनल का दावा है कि उसने सट्टेबाज के रूप में एक स्टिंग ऑपरेशन किया था, जिसमें उसने सालगांवकर से पिच की स्थिति जानने की कोशिश की। चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में सलगांवकर कह रहे हैं कि वह दो गेंदबाजों को ध्यान में रखते हुए पिच तैयार करेंगे। हालांकि, उन्होंने इन दो गेंदबाजों का नाम नहीं लिया है। आईसीसी के नियमों के अनुसार पिच की जानकारी देना अपराध है।

सालगांवकर को कैमरे पर यह कहते सुना जा रहा है कि काम हो जाएगा। सालगांवकर ने कहा कि यह पिच अच्छी है। इस पिच पर 337 रनों के लक्ष्य को आसानी से हासिल किया जा सकता है। बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि खेल की भावना को नुकसान पहुंचाने वाली किसी भी हरकत को बीसीसीआई बर्दाश्त नहीं करेगी। हमने सावधानी से काम किया है और यह सुनिश्चित किया है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरे मैच में किसी तरह की कमी न रहे। बीसीसीआई का कामकाज देख रही प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय ने कहा कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और संबंधित व्यक्तियों के संपर्क में हैं। हमने इसकी रिपोर्ट मांगी है उसके हिसाब से ही कम काम करेंगे। बीसीसीआई में हम इस तरह के मामलों में जीरो टॉलेरेंस की नीति अपनाते हैं।"

advertisement