NewsWrap: दिल्ली में डबल मर्डर, फैशन डिजाइनर की हत्या, पढ़ें, सुबह की 5 बड़ी खबरें     |       राजस्थान / भाजपा ने 31 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की, 3 मंत्रियों समेत 16 विधायकों के टिकट कटे     |       1984 सिख दंगे : दो लोगों की हत्या के दो दोषियों की सजा का ऐलान आज     |       राफेल सौदे पर सियासी घमासान जारी, जानिए अब तक इस मामले में क्या कुछ हुआ     |       चेतावनी / सैन्य संकट से जूझ रहा अमेरिका, जंग में चीन-रूस से हार सकता है: संसदीय पैनल     |       अयोध्या के मुसलमान बोले, हम खौफ में जी रहे हैं, सुरक्षा नहीं मिली तो करेंगे पलायन     |       लाल साड़ी में दीपिका, छाते से ब्राइडल लुक छिपाती दिखीं, PHOTOS     |       बीहड़ों में गरजने वाली बंदूकें हुईं खामोश, 30 साल में पहली बार चुनावी राजनीति से हो रहे दूर...     |       दिल्ली से चलकर अयोध्या और फिर श्रीलंका तक दर्शन कराएगा IRCTC, दौड़ी 'श्री रामायण एक्सप्रेस', 5 बड़ी बातें     |       Viral: सिग्नेचर ब्रिज पर किन्नरों ने कपड़े उतारकर की अश्लील हरकतें, FIR     |       100 km/h की रफ्तार से तूफान गाजा तमिलनाडु में आज देगा दस्तक     |       महाराष्ट्र : पिछड़ा वर्ग आयोग आज सौंपेगा मराठा आरक्षण पर अपनी रिपोर्ट     |       सिंगापुर: ASEAN-India ब्रेकफास्ट समिट में शामिल हुए PM, हैकाथन विजेताओं को दिए अवॉर्ड     |       अजय चौटाला ने कहा- मुझे पार्टी से क्यों निकाला, इनेलो में कौरव व पांडवों वाली स्थिति     |       देश में बनी पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन ट्रायल के लिए तैयार, ये हैं खूबियां     |       ट्रंप के मना करने के बाद शीर्ष अफ्रीकी नेता हो सकते हैं गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि     |       ISRO के बाहुबली ने अंतरिक्ष में पहुंचाया सबसे भारी उपग्रह, कश्मीर में बेहतर होगा इंटरनेट     |       केंद्र ने लौटाया पश्चिम बंगाल का नाम बदलने का प्रस्ताव, ममता नाराज     |       सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की समीक्षा के लिए आज बुलाई गई सर्वदलीय बैठक     |       सोशल मीडिया पर ट्रोल हुआ यह मशहूर सिंगर, दिल्‍ली में रद्द करना पड़ा कंसर्ट     |      

गपशप


सियासत के शाह की वाह

अखबार के तमाम बड़े पत्रकारों व विभिन्न संपादकों ने शाह को अपना परिचय पेश किया,


bjp-national-president-amit-shah

बदलते वक्त के साथ अकबर इलाहाबादी का यह तर्क बेमतलब होता जा रहा है कि ’जब तोप मुकाबिल हो तो अखबार निकालो’ आज नए दौर के अखबार और उनके मालिक गण इन सच्चाईयों पर भगवा पेंट करने में सिद्दहस्त हो गए हैं। यूपी के एक प्रमुख दैनिक अखबार के सवाल-जवाब की गोष्ठी में जब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पहुंचे तो उनके समक्ष टेबुल पर एक टेप रिकार्डर ऑन करके रख दिया गया। अखबार के तमाम बड़े पत्रकारों व विभिन्न संपादकों ने शाह को अपना परिचय पेश किया, इसके बाद शुरू हुआ सवाल-जवाब का सिलसिला। जैसे ही कुछ अप्रिय सवाल आने शुरू हुए, सूत्र बताते हैं कि शाह ने टेप रिकार्डर बंद कर उसे अपने पास रख लिया। अखबार के कई उत्साही पत्रकारों ने जब अपने तीखे सवालों के बाऊंसर शाह की ओर उछाले तो शाह ने उसे ’डक’ करते हुए बेतकत्लुफी से कहा-’आपके वरिष्ठ संपादकों को मालूम है कि क्या छापना है और क्या नहीं।’ एक सवाल एक वरिष्ठ संपादक की ओर से दन्न से आया जो कि गो-वध को लेकर था। शाह ने सपाट लहजे में कहा-’देखिए यह प्रधानमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि गाय के नाम पर किसी को सताया नहीं जा सकता और मैं भी यही राय रखता हूं।’ फिर अखबार प्रबंधन ने इस पूरे सेशन की रिपोर्टिंग पेज बनाकर बकायदा अनुमोदन के लिए सियासत के शाह के पास भेजा। जरूरी अनुमोदन के बाद अगले रोज अखबार छप कर पाठकों के बीच आ गया।

advertisement

  • संबंधित खबरें