ममता की बंगाल सरकार और चंद्र बाबू की आंध्र सरकार ने CBI को जांच से रोका     |       लखनऊ से उलटे पांव लौटे पीयूष गोयल, भाषण से नाराज लोगों ने की नारेबाजी     |       NDTV से बोलीं मायावती, न BJP के साथ जाएंगे, न कांग्रेस के साथ, एक सांपनाथ, एक नागनाथ     |       रालोसपा की बैठक शनिवार को पटना में, बड़ी घोषणा की अटकलें     |       दिल्ली / 13 दिन बंद रहेगा आईजीआई एयरपोर्ट का एक रनवे, 86% तक बढ़ा फ्लाइट्स का किराया     |       पंजाब में दिखा 12 लाख का इनामी आतंकी, जम्मू-कश्मीर सहित दोनों राज्यों में हाई अलर्ट     |       सीबाआई में घमासान: सीवीसी ने कहा, कुछ आरोपों पर जांच की जरूरत     |       Sabrimala: मंदिर के पट खुले, महिलाओं के प्रवेश पर गतिरोध और तनाव कायम     |       तमिलनाडु में गाजा तूफान से 13 लोगों की मौत, PM ने ली जानकारी     |       सिंगर टीएम कृष्‍णा को अब आप सरकार देगी कॉन्‍सर्ट के लिए मंच, दिल्ली में स्थगित हुआ था कार्यक्रम     |       आरबीआई के अहम फैसलों में बड़ी भागीदारी चाहती है सरकार     |       सियासत / मोदी का ज्योतिरादित्य पर तंज- कांग्रेस के सर्वेसर्वा से पूछो कि आपकी दादी को जेल में क्यों रखा?     |       यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को मिली जमानत, दुर्गा पूजा के नाम पर फर्जी पैड छपवाकर वसूली का मामला     |       मेक इन इंडिया की सौगात, देश की पहली T-18 ट्रेन ट्रायल के लिए पहुंची मुरादबाद     |       MP चुनावः वरिष्ठ BJP नेता ने कहा- चुनाव नहीं होते, तो पार्टी MLA के तोड़ देता दांत     |       मार्क जुकरबर्ग बोले- पिछली दो तिमाहियों में फेसबुक ने हटाए 1.5 अरब फर्जी अकाउंट     |       मालदीव में आज पीएम मोदी की यात्रा से भारत को मिला पैर जमाने का मौका     |       वाराणसी / डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगाकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखा- बेटा हत्या करना चाहता है     |       पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के खिलाफ कोर्ट ने दिया कार्रवाई का आदेश     |       यूपी के बाहुबली विधायक राजा भैया ने की पार्टी बनाने की घोषणा, आयोग को भेजे तीन नाम     |      

राजनीति


कैशलेस बनो इंडिया अभियान शुरू, डिजिटल पेमेंट को मिलेगा बढ़ावा

सीएआईटी एवं मास्टरकार्ड का यह संयुक्त अभियान पीएम नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया अभियान की एक महत्वपूर्ण कड़ी बनेगा। छोटे व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था के आधार स्तंभ हैं


cashless-bano-india-campaign-to-promote-digital-payment

नई दिल्ली: कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) ने मास्टरकार्ड के साथ मिलकर 'कैश लेस बनो इंडिया' राष्ट्रीय अभियान की शुरुआत की। इस अभियान को लांच करते हुए केंद्रीय वस्त्र एवं सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने सीएआईटी के एक डिजिटल रथ को हरी झंडी दिखा कर नई दिल्ली से रवाना किया। हालांकि नोटबंदी के एक साल पूरे होने के मौके पर देश भर में डिजिटल पेमेंट को तेजी से बढ़ावा देने और ज्यादा-से-ज्यादा व्यापारियों एवं उपभोक्ताओं के बीच डिजिटल पेमेंट को लोकप्रिय बनाने एवं चलन में लाने के लिए यह कदम उठाया गया है। सीएआईटी ने कहा कि यह अभियान देश भर में डिजिटल पेमेंट को बड़े पैमाने पर प्रोत्साहित करेगा। डिजिटल रथ आगामी 31 दिसंबर तक देश भर में लगभग 10 लाख व्यापारियों से संपर्क करेगा और उन्हें डिजिटल पेमेंट अपनाने के लिए प्रेरित करेगा।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि सीएआईटी एवं मास्टरकार्ड का यह संयुक्त अभियान पीएम नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया अभियान की एक महत्वपूर्ण कड़ी बनेगा। छोटे व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था के आधार स्तंभ हैं और इस वजह से यह अभियान व्यापारी वर्ग के बीच लेन-देन को और अधिक विश्वसनीय एवं पारदर्शी बनाएगा तथा टेक्नोलॉजी के उपयोग से व्यापारी डिजिटल अर्थव्यवस्था का लाभ ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब देश डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहा है ऐसे में डिजिटल पेमेंट इस परिवर्तन का मुख्य केंद्र है और कैश लेस बनो इंडिया अभियान व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट से पूरे तौर पर जोड़ेगा।

सीएआईटी की टीम करेगी डिजिटल रथ का नेतृत्व
नई दिल्ली से शुरू इस कैश लेस बनो इंडिया अभियान के पहले चरण में यह रथ 9 नवंबर को लखनऊ पहुंचेगा और फिर कोलकाता, पॉन्डिचेरी, नवी मुंबई होते हुए यह 31 दिसंबर तक भोपाल पहुंचेगा। प्रत्येक शहर एवं राज्यों में इस डिजिटल रथ का नेतृत्व स्थानीय सीएआईटी के व्यापारियों की टीम करेगी तथा अधिक से अधिक व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट अपनाने के लिए प्रेरित करेगी। वहीं देश के अन्य शहरों में भी यह अभियान साथ-साथ चलाया जायेगा। इस अभियान के अंतर्गत डिजिटल पेमेंट से जुड़ने वाले व्यापारियों एवं डिजिटल पेमेंट से लेन देन करने वाले उपभोक्ताओं को ड्रॉ के माध्यम से प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिए जाएंगे।

डिजिटल अर्थव्यवस्था में व्यापारियों का अहम रोल
कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) के महासचिव जीएसटी काउंसिल सलाहकार समिति (भारत सरकार) के सदस्य प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि नोटबंदी से लेकर अब तक पिछले एक साल में सीएआईटी ने देश भर में डिजिटल पेमेंट को अपनाये जाने हेतु लगातार बड़ी संख्या में देश भर में सेमिनार, वर्कशॉप एवं सम्मेलन आयोजित करते हुए डिजिटल पेमेंट के प्रति जनजागरण का व्यापक वातावरण तैयार किया है। डिजिटल अर्थव्यवस्था में व्यापारियों का बहुत ही अहम रोल है क्योंकि उपभोक्ताओं से सीधा संपर्क होने के कारण व्यापारी अर्थव्यवस्था के केंद्र में है। डिजिटल रथ के माध्यम से अब और अधिक तेजी से पूरे देश में व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट प्रणाली इस मुद्दे से जोड़ा जा सकेगा।

4 करोड़ लोगों को डिजिटल पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य
मास्टरकार्ड के कार्यकारी निदेशक (ग्लोबल कम्युनिटी रिलेशन्स) रवि अरोड़ा ने बताया कि सीएआईटी के साथ मिलकर हम संयुक्त रूप से भारत को एक कैश लेस सोसाइटी में परिवर्तित करने के लिए लगातार प्रयत्नशील है और छोटे व्यापारी नकद आधारित अर्थव्यवस्था से नकदी रहित डिजिटल अर्थव्यवस्था में देश को परिवर्तित करने में निश्चित रूप से एक बड़ी भूमिका निभाएंगे। मास्टरकार्ड ने सीएआईटी के साथ मिलकर साल 2020 तक भारत में 4 करोड़ लोगों को डिजिटल पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

advertisement

  • संबंधित खबरें