इस बार ऐसे होगी EVM और VVPAT से वोटों की काउंटिंग - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       उर्मिला से लेकर जया प्रदा तक, क्या हार जाएंगे ये 13 मशहूर चेहरे? - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       Lok Sabha Election Result 2019 (लोकसभा चुनाव परिणाम २०१९): आज आएंगे इलेक्शन रिजल्ट, सुबह 8 बजे से शुरू होगी काउंटिंग - News18 हिंदी     |       लोकसभा चुनाव 2019 : मतगणना आज सुबह आठ बजे होगी शुरू, नतीजे आने में हो सकता है कुछ विलंब - NDTV India     |       कुछ घंटों बाद शुरू होगी मतगणना, हिंसा की आशंका, गृह मंत्रालय का सभी राज्यों को अलर्ट - Hindustan     |       Lok Sabha Election Results 2019: मतगणना सुबह 8 बजे से, ट्रेंड मिलेंगे पर नतीजे शाम तक - दैनिक जागरण     |       काउंटिंग के आधे घंटे में मिलेगा पहला ट्रेंड, 12 बजे साफ होने लगेगी नई सरकार की तस्वीर - Navbharat Times     |       कर्नाटक में गरमाई सियासत: केंद्रीय मंत्री ने कहा- 24 मई तक ही सीएम रहेंगे कुमारस्वामी - दैनिक जागरण     |       RBSE Class 12 Result 2019: 12वीं आर्ट्स रिजल्ट जारी, यहां करें चेक, 88 फीसदी हुए पास - NDTV India     |       Lok Sabha Election 2019: वॉट्सऐप पर कैसे चेक करें लोकसभा चुनाव का रिजल्ट - Navbharat Times     |       नेपाल के शेरपा का नया कारनामा, हफ्ते में दूसरी बार किया एवरेस्ट फतह - Navbharat Times     |       फ्रांस में राफेल विमान का काम देख रहे भारतीय वायुसेना के दफ्तर में 'घुसपैठ की कोशिश' - NDTV India     |       टॉपलेस कुंवारी लड़कियों की परेड, राजा किसी को भी बना लेता है पत्नी - आज तक     |       SCO बैठक में एक दूसरे के अगल-बगल बैठे सुषमा स्वराज और कुरैशी, पुलवामा हमले के बाद बढ़ा था भारत-पाक में तनाव - Hindustan     |       2019 Hyundai Venue SUV live launch: Details, prices, specs, variants - Overdrive     |       क्या चुनावी नतीजों के रॉकेट पर सवार होकर 40 हजार पहुंचेगा सेंसेक्‍स? - आज तक     |       ह्यूंदै वेन्यू: जानें, SUV का कौन सा वेरियंट आपके लिए बेस्ट - नवभारत टाइम्स     |       TikTok वाली कंपनी अब लाई नया चैट ऐप, जानें कैसे करेगा काम - आज तक     |       ऐश्वर्या पर बना मीम शेयर कर बुरे फंसे विवेक, यूं उड़ रहा मजाक - Entertainment - आज तक     |       सलमान खान ने प्रियंका चोपड़ा पर किया कमेंट, बोले- पति के लिए छोड़ा 'भारत' को - NDTV India     |       कान्स 2019/ रेड कार्पेट पर सोनम व्हाइट टक्सीडो सूट में आईं नजर, बहन रिया ने फाइनल किया लुक - Dainik Bhaskar     |       Photo: अर्जुन की नई फोटोज पर मलाइका ने बनाया दिल एक्टर ने पलट कर दिया ऐसा जवाब... - Zee News Hindi     |       मिताली राज के मुताबिक ये हैं वो कारण जो टीम इंडिया को बनाएंगे विश्व चैंपियन - Times Now Hindi     |       World Cup 2019 के लिए लंदन पहुंची टीम इंडिया, PHOTOS में देखें कैसे हुआ स्वागत? - अमर उजाला     |       CWC 2019: प्रैक्टिस मैच में स्मिथ और गेंदबाजों के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने विंडीज को दी मात - Hindustan     |       World Cup 2019: भारत-पाकिस्तान का मैच देखने के लिए खर्च करने होंगे एक गाड़ी खरीदने जितने पैसे - India TV हिंदी     |      

राज्य


सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- स्कूल प्रशासन की लापरवाही से हुई प्रद्युम्न की हत्या

सात साल के प्रद्युम्न की 8 सितंबर को गुरुग्राम के भोंडसी इलाके में सोहना रोड स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद उसके पिता बरुण चंद्र ठाकुर इस मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय गए।


cbse-supreme-court-pradyuman-murder-case-school-administration

नई दिल्लीः प्रद्युम्न हत्याकांड पर केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि रयान स्कूल प्रबंधन अगर अपने कर्तव्यों का निर्वहन सचेत होकर और ईमानदारी से करते तो मासूम की हत्या को टाला जा सकता था। सीबीएसई द्वारा दिए गए हलफनामे के हवाले से प्रद्युम्न के पिता के वकील ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बोर्ड ने स्कूल प्रबंधन की ओर से कई कथित कमियों को सूचीबद्ध किया है।

बता दें कि सात साल के प्रद्युम्न की 8 सितंबर को गुरुग्राम के भोंडसी इलाके में सोहना रोड स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद उसके पिता बरुण चंद्र ठाकुर इस मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय गए। वहीं ठाकुर के वकील सुशील के. टेकरीवाल ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल सीबीएसई का हलफनामा बताता है कि स्कूल प्रबंधन परिसर में बच्चों को बुनियादी सुविधाएं देने में विफल रहा है।

टेकरीवाल ने हलफनामे का हवाला देते हुए कहा कि रयान प्रबंधन छात्रों को पीने लायक पानी तक नहीं मुहैया करा पाता है। इतने बड़े स्कूल परिसर में कहीं कोई आरओ प्लांट नहीं लगाया गया है। स्कूल परिसर में बोरवेल के पानी की आपूर्ति की जाती थी। उन्होंने कहा कि सीबीएसई ने अपने हलफनामे में यह भी कहा है कि परिसर में प्रमुख जगहों पर कोई रैंप नहीं था, न ही कोई क्लोज सर्किट टेलीविजन था और स्कूल भवन के अंदर दो मंजिलों पर प्रयोग में न आने वाली कक्षाओं में ताले तक नहीं लगाए गए थे। टेकरीवाल ने कहा कि सीबीएसई के हलफनामे में स्कूल के अंदर कई गंभीर अनियमितताएं और सुरक्षा खामियों का उल्लेख किया गया है, जैसे विद्यार्थियों के साथ शौचालयों तक जाने के लिए कोई अटेंडेंट नहीं होता था, गैर-शिक्षण स्टाफ और बच्चों के लिए अलग-अलग शौचालय नहीं था, स्नानघर और रेस्टरूम मुहैया नहीं कराया गया था। 

वकील ने कहा कि हत्या के तुरंत बाद स्कूल प्रबंधन ने न तो पुलिस को सूचित किया और न ही कोई प्राथमिकी दर्ज कराई। इसके अलावा स्कूल परिसर की दीवारों की ऊंचाई पर्याप्त नहीं थी और न ही उन पर कांटेदार तार लगाए गए थे। बरुण चंद्र ठाकुर ने कहा कि उनकी इस कानूनी लड़ाई में सीबीएसई के हलफनामे ने सर्वोच्च न्यायालय में उनका साथ दिया है और उन्हें उम्मीद है कि न्याय जरूर मिलेगा। इस नृशंस हत्याकांड में प्रद्मुम्न के पिता को कानूनी सहायता मुहैया करा रहे मिथिलालोक फाउंडेशन के चेयरमैन डॉ.बीरबल झा ने भी सीबीएसई द्वारा पेश किए गए तथ्यों का स्वागत किया और कहा कि हाथी और चींटी की इस लड़ाई में जीत चींटी की होगी, क्योंकि जीत हमेशा सच्चाई की होती है। 

advertisement