केंद्र ने अदालत से कहा- कारगिल के समय राफेल होता तो शहीदों की संख्या कम होती     |       कांग्रेस में टिकट पर चल रहे घमासान के बीच भाजपा ने फिर बाजी मारी     |       डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं     |       वैश्विक नेताओं से मिले PM मोदी, US उपराष्ट्रपति को दिया भारत आने का न्योता     |       बयान से पलटे शाहिद आफरीदी, कहा- कश्मीर में भारत कर रहा जुल्म     |       इसरो / जीसैट-29 का सफल प्रक्षेपण, 2020 तक गगनयान के तहत पहला मानव रहित मिशन शुरू होगा     |       चौटाला परिवार का कलह गहराया, भाई ने भाई पर किया प्रहार     |       पश्चिम बंगाल का नाम बदलने के प्रस्ताव को केंद्र ने किया खारिज, 'बांग्ला' नाम पर राजनीति न करे केंद्र सरकार : ममता     |       पूर्व प्रधानमंत्री पंडित नेहरू को याद कर मनाया बाल दिवस विद्यालयों में हुई प्रतियोगिताएं, विजेताओं को किया सम्मानित     |       सूर्य अर्घ्य के साथ महापर्व छठ का हुआ समापन     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       श्रीलंकाः राष्ट्रपति को एक और झटका, संसद में राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास     |       अयोध्या में RSS की रैली, इकबाल अंसारी बोले- छोड़ देंगे अयोध्या     |       हवा की गुणवत्ता कुछ बेहतर, पराली जलाने की घटना हुई कम     |       आज बिहार आयेंगे राष्ट्रपति, पूसा कृषि विवि व एनआईटी के दीक्षांत समारोह में लेंगे भाग     |       डीआरआई और सेना ने पाक सीमा से सटे इलाके में बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए     |       सबरीमाला: कोर्ट 22 जनवरी को पुनर्विचार याचिकाओं पर करेगा सुनवाई, अपने फैसले पर रोक से इनकार     |       पटनाः थानाध्यक्ष के सामने रालोसपा नेता की गोली मारकर हत्या     |       बारूदी सुरंग में विस्फोट कर नक्सलियों ने उड़ाया ट्रक, पांच घायल     |       किसान व कर्मियों ने किया शुगर मिल प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन     |      

राजनीति


सीएम नीतीश ने कहा- प्रत्येक भारतीय की थाली में हो बिहार का व्यंजन

उन्होंने कहा कि सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठा रही है। गंगा नदी के तट पर जैविक कॉरिडोर बनाने की योजना प्रारंभ कर दी गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यहां बिहार के तीसरे कृषि रोड मैप का शुभारंभ किया।


cm-nitish-says-one-bihari-food-in-each-indian-plates

पटना: पटना में तीसरे बिहार कृषि रोड मैप के शुभारंभ के मौके पर सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार के किसान ने आलू की उत्पादकता में चीन का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बिहार आज सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में भले ही तीसरे स्थान पर है, लेकिन हम सब्जी उत्पादन के मामले में जल्द ही प्रथम स्थान पर होंगे। उन्होंने कहा कि कृषि रोड मैप के जरिए बिहार में कृषि क्षेत्र में प्रगति हो रही है। गेहूं, धान और मक्के की उत्पादकता में रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि प्रत्येक भारतीय के खाने की थाली में बिहार का एक व्यंजन हो।

उन्होंने कहा कि सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठा रही है। गंगा नदी के तट पर जैविक कॉरिडोर बनाने की योजना प्रारंभ कर दी गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यहां बिहार के तीसरे कृषि रोड मैप का शुभारंभ किया। नीतीश ने कहा कि बिहार के राज्यपाल देश के राष्ट्रपति बने, यह हमारे लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति ने कई मौकों पर स्वयं कहा है कि वह बिहारी हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि पूरे बिहार में भूमि विवाद सुलझाने के लिए सर्वे का काम हो रहा है और सिंचाई के लिए गांव-गांव में बिजली पहुंचाई जा रही है। बिहार के किसानों को वैज्ञानिकों से ज्यादा होशियार बताते हुए उन्होंने कहा कि यहां के किसान खुद नए-नए प्रयोग कर खेती करते रहे हैं। उन्होंने दूसरे कृषि रोड मैप की सफलता की चर्चा करते हुए कहा कि बिहार जब झारखंड से अलग हुआ था तब यहां हरित आवरण मात्र नौ प्रतिशत था परंतु आज यह आवरण 15 प्रतिशत के करीब पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि अब इसे 17 प्रतिशत तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

सीएम ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि नए कृषि रोडमैप से बीज विकास, वर्मी कंपोस्ट के क्षेत्र में काफी फायदा मिलेगा तथा परंपरागत तरीके से जैविक खेती की ओर किसानों को ले जाने में भी मदद मिलेगी। राज्य में पहला कृषि रोड मैप वर्ष 2008 में तथा दूसरा कृषि रोड मैप 2012 में लागू किया गया था। तीसरे कृषि रोड मैप में 1.54 लाख करोड़ रुपए खर्च करने की योजना है। 

advertisement

  • संबंधित खबरें