राफेल डील पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का बड़ा खुलासा, भारत सरकार ने ही दिया था रिलायंस का नाम, 10 बातें     |       कश्मीर में आतंकियों ने तीन पुलिसकर्मियों को अगवा कर की हत्या     |       पीएम नरेंद्र मोदी आज ओडिशा और छत्तीसगढ़ में कई परियोजनाएं शुरू करेंगे     |       Asia Cup: दुबई में चमके रोहित-जडेजा, भारत ने बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया     |       कांग्रेस ने अलीगढ़ में पुलिस मुठभेड़ पर उठाये सवाल, कहा- सबकुछ स्क्रिप्टेड था     |       कांग्रेस का बड़ा आरोप, अस्पताल से धमका रहे CM मनोहर पर्रिकर     |       न्यूयॉर्क में मिलेंगे भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री     |       SC-ST एक्ट के खिलाफ पटना में सड़कों पर उतरे सवर्ण, पुलिस ने भांजी लाठियां, कई घायल     |       केरल नन रेप केस: पुलिस ने आरोपी बिशप फ्रैंको को किया गिरफ्तार     |       बिहार कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बने तो छलका कादरी का दर्द, बोले- झाड़ू भी लगा लूंगा     |       इटली / ईशा अंबानी-आनंद पीरामल की सगाई पार्टी, 23 सितंबर तक चलेंगे कार्यक्रम     |       सर्जिकल स्ट्राइक दिवस पर बोली कांग्रेस सांसद- 'कृपया ऐसा मजाक न करें'     |       मक्का मस्जिद विस्फोट के जज BJP में शामिल होने के इच्छुक, बताया- एकमात्र देशभक्त पार्टी     |       रूस से रक्षा सौदा / अमेरिका ने चीन पर प्रतिबंध लगाया, कहा- मिसाइल सौदा हुआ तो भारत पर भी कार्रवाई संभव     |       बिहार : ताजिया जुलूस की तैयारी के बीच दो युवकों की हत्या, वैशाली में तनाव     |       राजपाट: अबूझ पहेली     |       राजस्थान : जसवंत सिंह के बेटे की रैली शनिवार को, बगावती तेवर से बीजेपी में बेचैनी     |       वारदात / बदमाशों ने बैंक के 2 गार्डों की सरिया और रॉड से पीट-पीटकर की हत्या, नहीं कर पाए लूट     |       'हम नरभक्षी' नहीं, राज्यों को हमसे डरने की जरूरत नहीं- सुप्रीम कोर्ट     |       चक्रवाती तूफान DAYE ने पार किया ओडिशा का तट, कई इलाकों में भारी बारिश     |      

राष्ट्रीय


पटेल हॉस्पिटल से पकड़ा गया आतंकी, रुपानी ने अहमद से मांगा इस्तीफा

हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था।


cm-vijay-rupani-congress-mp-ahmed-patel-resignation-gujarat-terrorist-case

सूरत: गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रूपाणी ने शुक्रवार को कहा कि जिस हॉस्पिटल से आइएस का आतंकी पकड़ा गया है, अहमद पटेल उस हॉस्पिटल के कर्ताधर्ता हैं। सीएम रुपाणी ने कहा कि अहमद पटेल को इस्तीफा देना चाहिए।

हालांकि हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था। इसमें से कासिम सरदार पटेल हॉस्पिटल में इको कार्डियोग्राम टेक्नीशियन के तौर पर काम करता था और वहीं उबेद सूरत की डिस्ट्रिक कोर्ट में एडवोकेट था।

क्या कहा सीएम रुपानी ने?
गौरतलब है कि सीएम विजय रूपाणी ने 23 अक्टूबर 2016 को सरदार पटेल हॉस्पिटल का उद्घाटन किया था। इस हॉस्पिटल के उद्घाटन समारोह में अहमद पटेल के निमंत्रण पर राष्ट्रपति भी आए थे। इस समारोह के पूरे कार्यक्रम में मंच पर अहमद पटेल की मुख्य भूमिका नजर आई थी। भले ही उन्होंने इस हॉस्पिटल के ट्रस्टी के तौर पर इस्तीफा दे दिया था, लेकिन पटेल ही कार्यक्रम के मेजबान थे। उनकी जिम्मेदारी बनती है।

क्या कहा कांग्रेस ने?
गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि यदि कोई गुनहगार है, आतंकवादी है, देश के खिलाफ काम कर रहा है तो ऐसे लोगों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। आप लोग राजनीति ना करें, देश नीति करें और आतंकियों पर कड़ी कार्रवाई करें। वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी और गुजरात के सीएम अपनी कमियों को छिपाने के लिए इस तरह के निराधार आरोप लगा रहे हैं।

क्या कहा अहमद पटेल ने?
वहीं अहमद पटेल ने रूपाणी के आरोपों को पूरी तरह से निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि  मेरी अपील है कि चुनाव को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति ना की जाए।

बड़े ब्लास्ट की थी आतंकियों की तैयारी
बुधवार को एटीएस द्वारा अरेस्ट किए गए आतंकियों ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है। आतंकियों ने कहा कि उनके निशाने पर अहमदाबाद और बेंगलुरु के यहूदी धर्मस्थल थे। इन लोगों ने रेकी भी की थी। हालांकि एक साल पहले एटीएस को इनके आइएस से जुड़े होने की और जिहादी विचारधारा से प्रेरित होने के सुबूत मिले थे। यह जानकारी उबेद के 17 दिसंबर 2016 को किए फेसबुक पोस्ट से मिली थी। तब एटीएस ने अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के थाने की स्टेशन डायरी में फेसबुक पोस्ट के बारे में नोट किया था। वहीं एटीएस सूत्रों के अनुसार उबेद और कासिम ने पिछले साढ़े तीन साल में सूरत के बाहर अंकलेश्वर, अहमदाबाद, मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई और बेंगलुरु जाकर भी मुलाकात की। एटीएस ने एक-एक टीम इन शहरों में भेजी है। आशंका है कि कहीं ये शहर भी तो इनके निशाने पर नहीं।

advertisement