अविश्वास प्रस्तावः जानिए- संसद में किस दल को बोलने के लिए मिलेगा कितना समय     |       100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       तेजस एक्सप्रेस दौड़ने को तैयार, नई दिल्ली-चंडीगढ़ तक चलने वाली इस ट्रेन में हैं खास सुविधाएं     |       गोपाल दास नीरज : कारवां गुजर गया..     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       उलमा कौन होते निदा का हुक्का-पानी बंद करने वालेः तनवीर हैदर उसमानी     |       एयरसेल मैक्सिस केस में CBI ने दाखिल की चार्जशीट, चिदंबरम और कार्ति का नाम शामिल     |       ग्रेटर नोएडा: नोटिफाइड एरिया में बनी थी बिल्डिंग, शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई     |       बड़ी ख़बर: अब यात्री मोबाइल फोन से खरीद सकते हैं जनरल टिकट     |       लखनऊ में सूदखोर कारोबारी से मिला 100 किलो सोना व नकद 9.21 करोड़ रुपये     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       वीडियो: हवा में टकराए दो विमान, जमीन पर गिरते ही सबकुछ तहस-नहस     |       देवरिया जेल में बाहुबली अतीक के बैरक से मिला मोबाइल फोन , दर्ज होगा मुकदमा     |       पटना पहुंचते ही विरोधियों पर जमकर बरसे तेजस्वी     |       गुजरात : MBBS में गोल्ड मेडल जीतने वाली डॉक्टर बनी साध्वी, अरबों की संपत्ति ठुकराई     |      

राष्ट्रीय


पटेल हॉस्पिटल से पकड़ा गया आतंकी, रुपानी ने अहमद से मांगा इस्तीफा

हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था।


cm-vijay-rupani-congress-mp-ahmed-patel-resignation-gujarat-terrorist-case

सूरत: गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रूपाणी ने शुक्रवार को कहा कि जिस हॉस्पिटल से आइएस का आतंकी पकड़ा गया है, अहमद पटेल उस हॉस्पिटल के कर्ताधर्ता हैं। सीएम रुपाणी ने कहा कि अहमद पटेल को इस्तीफा देना चाहिए।

हालांकि हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था। इसमें से कासिम सरदार पटेल हॉस्पिटल में इको कार्डियोग्राम टेक्नीशियन के तौर पर काम करता था और वहीं उबेद सूरत की डिस्ट्रिक कोर्ट में एडवोकेट था।

क्या कहा सीएम रुपानी ने?
गौरतलब है कि सीएम विजय रूपाणी ने 23 अक्टूबर 2016 को सरदार पटेल हॉस्पिटल का उद्घाटन किया था। इस हॉस्पिटल के उद्घाटन समारोह में अहमद पटेल के निमंत्रण पर राष्ट्रपति भी आए थे। इस समारोह के पूरे कार्यक्रम में मंच पर अहमद पटेल की मुख्य भूमिका नजर आई थी। भले ही उन्होंने इस हॉस्पिटल के ट्रस्टी के तौर पर इस्तीफा दे दिया था, लेकिन पटेल ही कार्यक्रम के मेजबान थे। उनकी जिम्मेदारी बनती है।

क्या कहा कांग्रेस ने?
गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि यदि कोई गुनहगार है, आतंकवादी है, देश के खिलाफ काम कर रहा है तो ऐसे लोगों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। आप लोग राजनीति ना करें, देश नीति करें और आतंकियों पर कड़ी कार्रवाई करें। वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी और गुजरात के सीएम अपनी कमियों को छिपाने के लिए इस तरह के निराधार आरोप लगा रहे हैं।

क्या कहा अहमद पटेल ने?
वहीं अहमद पटेल ने रूपाणी के आरोपों को पूरी तरह से निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि  मेरी अपील है कि चुनाव को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति ना की जाए।

बड़े ब्लास्ट की थी आतंकियों की तैयारी
बुधवार को एटीएस द्वारा अरेस्ट किए गए आतंकियों ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है। आतंकियों ने कहा कि उनके निशाने पर अहमदाबाद और बेंगलुरु के यहूदी धर्मस्थल थे। इन लोगों ने रेकी भी की थी। हालांकि एक साल पहले एटीएस को इनके आइएस से जुड़े होने की और जिहादी विचारधारा से प्रेरित होने के सुबूत मिले थे। यह जानकारी उबेद के 17 दिसंबर 2016 को किए फेसबुक पोस्ट से मिली थी। तब एटीएस ने अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के थाने की स्टेशन डायरी में फेसबुक पोस्ट के बारे में नोट किया था। वहीं एटीएस सूत्रों के अनुसार उबेद और कासिम ने पिछले साढ़े तीन साल में सूरत के बाहर अंकलेश्वर, अहमदाबाद, मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई और बेंगलुरु जाकर भी मुलाकात की। एटीएस ने एक-एक टीम इन शहरों में भेजी है। आशंका है कि कहीं ये शहर भी तो इनके निशाने पर नहीं।

advertisement