UK Board Result 2018: नतीजे घोषित, मोबाइल पर यूं चेक करें नतीजे     |       जम्मू-कश्मीर में 5 आतंकी ढेर, आज आएगा 12वीं का रिजल्‍ट, अब तक की 5 बड़ी खबरें     |       मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर कांग्रेस मना रही 'विश्‍वासघात दिवस'     |       मेरठ सिटी स्टेशन पर बज रहा गंदगी का 'हॉर्न', सफाई हुई 'डिरेल'     |       कर्नाटक में कुमारस्वामी ने जीता फ्लोर टेस्ट, येद्दयुरप्पा ने ऐसे बढ़ाई टेंशन     |       सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       फिर बयान से पलटे ट्रंप, बोले- हो सकती है किम के साथ मीटिंग     |       मेजर गोगोई दोषी पाए गए तो ऐसी सजा मिलेगी जो मिसाल बनेगी: सेना प्रमुख     |       गोवा: बीच पर कपल के कपड़े उतरवाए, तस्वीरें खीचीं और बॉयफ्रेंड के सामने ही लड़की से किया गैंगरेप     |       भाषा की मर्यादा भूले उद्धव ठाकरे, कहा- योगी आदित्यनाथ को चप्पलों से पीटना चाहिए     |       दुलत के साथ किताब लिखने पर पूर्व ISI चीफ़ तलब     |       इन सात राज्यों में हिंदुओं को अल्पसंख्यक का दर्जा देने पर होगा विचार     |       बसपा का राष्ट्रीय अधिवेशन आज, मायावती को प्रधानमंत्री बनाने का पास हो सकता है प्रस्ताव     |       देश में पानी और तेल को लेकर आग     |       IPL-11: अफगानी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को किया टैग, लिखा- हीरो हैं राशिद, किसी और को नहीं देंगे     |       यहां सिर्फ 10 रुपये में खूबसूरत मॉडल्स को बना सकते हैं अपनी गर्लफ्रेंड, जानें     |       पिछले 5 साल में PF पर मिलेगा सबसे कम ब्याज, 8.55% को मंजूरी     |       कांसटेबल ललिता की ललित बनने के लिए पहले चरण की सर्जरी सफल     |       मुंबई में तैरता रेस्तरां समुद्र में डूबा, 15 लोग बचाए गए     |       मोदी सरकार के चार साल LIVE: CM योगी ने दी PM मोदी को बधाई, मायावती बोलीं- हर मोर्चे पर फेल रही सरकार     |      

राष्ट्रीय


पटेल हॉस्पिटल से पकड़ा गया आतंकी, रुपानी ने अहमद से मांगा इस्तीफा

हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था।


cm-vijay-rupani-congress-mp-ahmed-patel-resignation-gujarat-terrorist-case

सूरत: गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रूपाणी ने शुक्रवार को कहा कि जिस हॉस्पिटल से आइएस का आतंकी पकड़ा गया है, अहमद पटेल उस हॉस्पिटल के कर्ताधर्ता हैं। सीएम रुपाणी ने कहा कि अहमद पटेल को इस्तीफा देना चाहिए।

हालांकि हॉस्पिटल ने कहा है कि अहमद पटेल या उनके परिवार का कोई सदस्य ट्रस्टी नहीं है। गुजरात एटीएस ने बुधवार को खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को अरेस्ट किया था। इसमें से कासिम सरदार पटेल हॉस्पिटल में इको कार्डियोग्राम टेक्नीशियन के तौर पर काम करता था और वहीं उबेद सूरत की डिस्ट्रिक कोर्ट में एडवोकेट था।

क्या कहा सीएम रुपानी ने?
गौरतलब है कि सीएम विजय रूपाणी ने 23 अक्टूबर 2016 को सरदार पटेल हॉस्पिटल का उद्घाटन किया था। इस हॉस्पिटल के उद्घाटन समारोह में अहमद पटेल के निमंत्रण पर राष्ट्रपति भी आए थे। इस समारोह के पूरे कार्यक्रम में मंच पर अहमद पटेल की मुख्य भूमिका नजर आई थी। भले ही उन्होंने इस हॉस्पिटल के ट्रस्टी के तौर पर इस्तीफा दे दिया था, लेकिन पटेल ही कार्यक्रम के मेजबान थे। उनकी जिम्मेदारी बनती है।

क्या कहा कांग्रेस ने?
गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि यदि कोई गुनहगार है, आतंकवादी है, देश के खिलाफ काम कर रहा है तो ऐसे लोगों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। आप लोग राजनीति ना करें, देश नीति करें और आतंकियों पर कड़ी कार्रवाई करें। वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी और गुजरात के सीएम अपनी कमियों को छिपाने के लिए इस तरह के निराधार आरोप लगा रहे हैं।

क्या कहा अहमद पटेल ने?
वहीं अहमद पटेल ने रूपाणी के आरोपों को पूरी तरह से निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि  मेरी अपील है कि चुनाव को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति ना की जाए।

बड़े ब्लास्ट की थी आतंकियों की तैयारी
बुधवार को एटीएस द्वारा अरेस्ट किए गए आतंकियों ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है। आतंकियों ने कहा कि उनके निशाने पर अहमदाबाद और बेंगलुरु के यहूदी धर्मस्थल थे। इन लोगों ने रेकी भी की थी। हालांकि एक साल पहले एटीएस को इनके आइएस से जुड़े होने की और जिहादी विचारधारा से प्रेरित होने के सुबूत मिले थे। यह जानकारी उबेद के 17 दिसंबर 2016 को किए फेसबुक पोस्ट से मिली थी। तब एटीएस ने अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के थाने की स्टेशन डायरी में फेसबुक पोस्ट के बारे में नोट किया था। वहीं एटीएस सूत्रों के अनुसार उबेद और कासिम ने पिछले साढ़े तीन साल में सूरत के बाहर अंकलेश्वर, अहमदाबाद, मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई और बेंगलुरु जाकर भी मुलाकात की। एटीएस ने एक-एक टीम इन शहरों में भेजी है। आशंका है कि कहीं ये शहर भी तो इनके निशाने पर नहीं।

advertisement

  • संबंधित खबरें