इमरान खान ने पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली, पहले दिन से कर्ज की दरकार     |       LIVE: बाढ़ प्रभावित केरल में PM का हवाई दौरा, केंद्र करेगा 500 करोड़ की मदद     |       UP में अब चलेगी 'अटल भावनाओं' की लहर, अस्थि विसर्जन का रोडमैप तैयार     |       बिहार में असिस्टेंट प्रोफेसर की मॉब लिंचिंग की कोशिश     |       सबसे ज्यादा GDP मनमोहन सिंह के PM रहते वक्त हुआ, 10.08 प्रतिशत रहा     |       केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए अब विदेश से भी मदद, UAE के शेख खलीफा ने दिए निर्देश     |       UP: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डाली तो खैर नहीं, रासुक में होगी गिरफ्तारी     |       मुस्लिम से हिन्दू बन प्रेमिका से रचाई शादी, संग रहने के लिए कोर्ट से मांगी मदद…     |       चंबा के सुल्तानपुर में देह व्यापार का भंडाफोड़     |       नाले की गैस को भारतीय ने कराया पेटेंट, पीएम मोदी ने भी की थी तारीफ     |       आधा दर्जन लड़कियों से कर चुका है शादी, बहन ढूंढती थी भाई के लिए दुल्हन     |       मुजफ्फरपुर कांड: अय्याशी का अड्डा था पटना में ब्रजेश के अखबार का दफ्तर     |       उमर खालिद पर हमले का मामलाः 9 घंटे लुधियाना में आरोपियों का इंतजार करती रही पुलिस, नहीं किया सरेंडर     |       त्योहारी सीजन में महंगा हो सकता है खाद्य तेल     |       अमेरिका: भारतीय ने फ्लाइट में सो रही महिला के साथ की छेड़छाड़, मिल सकता है आजीवन कारावास     |       सगाई की ख़बरों के बीच निक जोनास और परिवार संग डिनर पर पहुंची प्रियंका चोपड़ा     |       सीमा विवाद सुलझाने के लिए वाजपेयी ने तैयार की थी प्रणाली: चीन     |       एयर इंडिया के पायटलों की धमकी, बकाया भत्ता न मिलने पर ठप किया जा सकता है परिचालन     |       पेंटागन की स्पेस रिपोर्ट में खुलासा, अमरीका पर हमले के लिए ट्रेनिंग पूरी कर रहा चीन     |       सावधान: अगले 24 घंटों में इन 6 राज्यों में हो सकती है मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने किया अलर्ट     |      

गपशप


बिहार कांग्रेस को नया अध्यक्ष

अखिलेश सिंह 2004 के लालू लहर में लोकसभा का चुनाव जीत गए थे और लालू की कृपा से वे यूपीए-I सरकार में मंत्री भी बन गए थे।


congress -new-president-of-bihar

बिहार कांग्रेस के नए अध्यक्ष को लेकर धकमपेल मची है। बिहार के कांग्रेस प्रभारी सीपी जोशी एक ऐसे नाम की पैरवी कर रहे हैं जिसको लेकर राहुल गांधी खुश नहीं बताए जाते हैं। सीपी जोशी अखिलेश सिंह की पैरवी कर रहे हैं, जो भूमिहार जाति से ताल्लुक रखते हैं, अखिलेश सिंह 2004 के लालू लहर में लोकसभा का चुनाव जीत गए थे और लालू की कृपा से वे यूपीए-I सरकार में मंत्री भी बन गए थे। पर अखिलेश ने 2009 में लालू का साथ छोड़ कांग्रेस का दामन थाम लिया। इसके बाद हुए जितने भी चुनाव में उन्होंने हिस्सा लिया, वे कोई भी चुनाव जीत नहीं पाए, यहां तक कि इस बार का विधानसभा चुनाव भी वे हार गए। अब इनके विरोधी कह रहे हैं कि एक हारा हुआ नेता कैसे पार्टी को राज्य में जीत का स्वाद चखा सकता है। दूसरा नाम श्याम सुंदर सिंह धीरज का चल रहा है, जो 17 साल तक यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष रहे और कभी सीताराम केसरी के खासमखास में शुमार होते थे, केसरी के जमाने में ही इन्होंने सोनिया को पार्टी अध्यक्ष बनाने की वकालत कर दी थी, नाराज़ होकर केसरी ने इन्हें ठंडे बस्ते में डाल दिया था। यह पिछड़ी जाति से ताल्लुक रखते हैं, राहुल भी इनके नाम को आगे बढ़ाने के पक्षधर दिखते हैं। एक और नाम प्रेमचंद्र मिश्र का है जो छात्र राजनीति से आगे आए हैं, पर चुनाव जीतने के मामले में इनका रिकार्ड भी सिफर है। एक और नाम मदन मोहन झा का चल रहा है जो इस बार का चुनाव जीते हैं। बिहार में कांग्रेस के लिए संभावनाओं की जमीन काफी ऊर्वरा है, क्योंकि फिलवक्त लालू कमजोर विकेट पर खेल रहे हैं, कांग्रेस को इस बात का फायदा मिल सकता है।

advertisement