जम्मू-कश्मीर पर आजाद और सोज के बयानों पर आमने-सामने आईं भाजपा और कांग्रेस     |       जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने इस्लामिक स्टेट के सरगना समेत 4 आतंकियों को किया ढेर…     |       ममता चाहती थीं नेताओं से बैठकें, चीन ने नहीं दी मंजूरी तो रद्द किया दौरा     |       ईद पर 100 युवकाें से गले मिलने वाली लड़की काे लेकर एक आैर बड़ा खुलासा     |       वडोदरा के स्कूल में 9वीं के छात्र की हत्या, पुलिस को सीनियर पर शक     |       जेटली का राहुल गांधी पर वार- मानवाधिकार संगठनों के प्रति बढ़ रही है उनकी सहानुभूति     |       दाती महाराज की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं, रात्रि में चरण सेवा के नाम पर लड़कियों को बुलाता था     |       कांग्रेस ने नोटबंदी को बताया आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला, पीएम से मांगा जवाब     |       मूल विभागों में वापस लौटेंगे महबूबा सरकार के मंत्रियों के साथ तैनात अफसर     |       ED की माल्या को भगोड़ा घोषित करने की पहल, जब्त होगी संपत्ति     |       नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर सकता है इंटरपोल     |       कश्‍मीर में ऑपरेशन ऑल आउट: सबसे खूंखार 22 आतंकियों की लिस्‍ट जारी, एक को किया ढेर     |       बड़ा फैसला: नोएडा के सेक्टर-123 से हटाया जाएगा डंपिंग ग्राउंड     |       अरुण जेटली ने ब्लॉग में राहुल पर किया तीखा हमला, पूछा- कौन है मानवाधिकारों का दुश्मन?     |       शिवपाल यादव की अखिलेश को नसीहत, बड़ों की बात मानते तो दोबारा सीएम बनते     |       सोनिया गांधी से मिलने पहुंचीं सपना चौधरी, कहा- कांग्रेस के लिए कर सकती हूं प्रचार     |       2019 चुनाव से पहले कांग्रेस के अंदर बड़ा फेरबदल, खड़गे को महाराष्ट्र की जिम्मेदारी     |       झारखंड HC ने लालू यादव की अंतरिम जमानत तीन जुलाई तक बढ़ाई     |       हापुड़ लिंचिंग: घायल को अमानवीय तरीके से ले जाने पर यूपी पुलिस ने मांगी माफ़ी     |       Kundli Tv- निर्जला एकादशी: यह है शुभ मुहूर्त और कथा     |      

राजनीति


सोशल मीडिया पर पत्रकारों को मिल रही धमकी पर कांग्रेस-राकांपा ने जताई चिंता

चव्हाण ने कहा कि सीधा लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला किया जाना बेहद खतरनाक चलन है। विशेष रूप से तर्कवादी लेखकों और पत्रकारों जैसे नरेंद्र दाभोलकर, एम.एम. कलबुर्गी, गोविंद पनसारे और हाल ही में गौरी लंकेश की हत्या होना।


congress-ncp-expressed-concern-over-threats-to-media

मुंबई: कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेताओं ने पत्रकारों को सोशल मीडिया पर धमकाए जाने पर गहरी चिंता व्यक्त की है। इंडिया टुडे टीवी के वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई और एनडीटीवी इंडिया के रवीश कुमार ने कुछ लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर धमकी दिए जाने संबधी अलग-अलग पत्र केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चव्हाण और राकांपा की वरिष्ठ नेता सुप्रिया सुले-पवार को भेजे हैं।

चव्हाण ने कहा कि सीधा लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला किया जाना बेहद खतरनाक चलन है। विशेष रूप से तर्कवादी लेखकों और पत्रकारों जैसे नरेंद्र दाभोलकर, एम.एम. कलबुर्गी, गोविंद पनसारे और हाल ही में गौरी लंकेश की हत्या होना। यह समाज और देश के लिए बहुत ही शर्मनाक है। उन्होंने राजनाथ सिंह को बताया कि ये हत्याएं भारतीय लोकतंत्र के इतिहास का सबसे शर्मनाक अध्याय है। ऐसा नहीं होना चाहिए और इस पर जांच होना चाहिए।

राकांपा की नेता सुप्रिया सुले ने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया कि हमारे लोकतंत्र में, संविधान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बनी हुई है, राजदीप सरदेसाई और रवीश कुमार लोकतांत्रिक तरीके से अपना काम कर रहे हैं। उनकी आवाज को धमकियों के सहारे चुप कराना निंदनीय है। सभी दलों को पार्टी लाइन से आगे आकर इसका सामना करना चाहिए। चव्हाण और सुप्रिया ने गृहमंत्री राजनाथ से अपील की है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सरदेसाई और रवीश कुमार को इन खतरों से कोई शारीरिक हानि न पहुंचे और धमकी देने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएं।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें