इमरान खान ने पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली, पहले दिन से कर्ज की दरकार     |       LIVE: बाढ़ प्रभावित केरल में PM का हवाई दौरा, केंद्र करेगा 500 करोड़ की मदद     |       UP में अब चलेगी 'अटल भावनाओं' की लहर, अस्थि विसर्जन का रोडमैप तैयार     |       बिहार में असिस्टेंट प्रोफेसर की मॉब लिंचिंग की कोशिश     |       सबसे ज्यादा GDP मनमोहन सिंह के PM रहते वक्त हुआ, 10.08 प्रतिशत रहा     |       केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए अब विदेश से भी मदद, UAE के शेख खलीफा ने दिए निर्देश     |       UP: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डाली तो खैर नहीं, रासुक में होगी गिरफ्तारी     |       मुस्लिम से हिन्दू बन प्रेमिका से रचाई शादी, संग रहने के लिए कोर्ट से मांगी मदद…     |       चंबा के सुल्तानपुर में देह व्यापार का भंडाफोड़     |       नाले की गैस को भारतीय ने कराया पेटेंट, पीएम मोदी ने भी की थी तारीफ     |       आधा दर्जन लड़कियों से कर चुका है शादी, बहन ढूंढती थी भाई के लिए दुल्हन     |       मुजफ्फरपुर कांड: अय्याशी का अड्डा था पटना में ब्रजेश के अखबार का दफ्तर     |       उमर खालिद पर हमले का मामलाः 9 घंटे लुधियाना में आरोपियों का इंतजार करती रही पुलिस, नहीं किया सरेंडर     |       त्योहारी सीजन में महंगा हो सकता है खाद्य तेल     |       अमेरिका: भारतीय ने फ्लाइट में सो रही महिला के साथ की छेड़छाड़, मिल सकता है आजीवन कारावास     |       सगाई की ख़बरों के बीच निक जोनास और परिवार संग डिनर पर पहुंची प्रियंका चोपड़ा     |       सीमा विवाद सुलझाने के लिए वाजपेयी ने तैयार की थी प्रणाली: चीन     |       एयर इंडिया के पायटलों की धमकी, बकाया भत्ता न मिलने पर ठप किया जा सकता है परिचालन     |       पेंटागन की स्पेस रिपोर्ट में खुलासा, अमरीका पर हमले के लिए ट्रेनिंग पूरी कर रहा चीन     |       सावधान: अगले 24 घंटों में इन 6 राज्यों में हो सकती है मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने किया अलर्ट     |      

विदेश


डोनाल्ड ट्रंप ने परमाणु समझौते को प्रमाणित करने से किया इनकार

ट्रंप ने ईरान पर आतंकवाद को प्रायोजित करने का आरोप लगाया और कहा कि वह ईरान को परमाणु हथियार के रास्ते पर नहीं चलने देंगे।  अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षकों का कहना है कि ईरान 2015 में हुए परमाणु समझौते का पूरी तरह पालन कर रहा है।


donald-trump-refuse-to-certify-iran-nuclear-deal

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के शासन को 'कट्टरपंथी' बताते हुए उसकी निंदा की है। इसके साथ ही उन्होेंने अंतर्राष्ट्रीय परमाणु समझौते को प्रमाणित करने से भी इनकार कर दिया है। ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि वह इस समझौते को परामर्श के लिए कांग्रेस के पास भेज रहे हैं और अपने सहयोगियों से सलाह लेंगे कि इसमें क्या बदलाव किया जाए।

ट्रंप ने ईरान पर आतंकवाद को प्रायोजित करने का आरोप लगाया और कहा कि वह ईरान को परमाणु हथियार के रास्ते पर नहीं चलने देंगे।  अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षकों का कहना है कि ईरान 2015 में हुए परमाणु समझौते का पूरी तरह पालन कर रहा है। हालांकि ट्रंप ने कहा कि समझौता बेहद लचीला है और ईरान ने कई बार समझौते का उल्लंघन किया।

उन्होंने कहा कि ईरान ने समझौते का उल्लंघन करते हुए अंतर्राष्ट्रीय निरीक्षकों को पूर्ण निरीक्षण नहीं करने दिया। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, "ईरान मौत, विनाश और अराजकता फैला रहा है। ट्रंप ने कहा कि ईरान परमाणु करार का सही प्रकार से पालन नहीं कर रहा, लेकिन फिर भी वह इसके तहत लाभ उठा रहा है। उन्होंने कहा कि परमाणु करार को लेकर उनकी नई रणनीति से यह समस्या दूर होगी। उन्होंने साथ ही कहा कि अमेरिका किसी भी समय इस समझौते से अलग होने का अधिकार रखता है। 

advertisement

  • संबंधित खबरें