झारखंड : पीट-पीटकर युवक की हत्‍या मामले में 5 लोग गिरफ्तार - NDTV Khabar     |       PM मोदी पर टिप्पणी के बाद कांग्रेस सांसद ने मांगी माफी, बोले- मेरी हिंदी अच्छी नहीं - आज तक     |       मायावती के आरोपों का सपा ने दिया जवाब, कहा-अखिलेश का चरित्र किसी को धोखा देने वाला नहीं - Hindustan     |       आचार संहिता उल्लंघन का मामला: आयुक्त के असहमति नोट को सार्वजनिक करने से EC का इनकार - Navbharat Times     |       दिमागी बुखार: सीजेएम ने केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और मंगल पांडे के खिलाफ दिए जांच के आदेश - अमर उजाला     |       जानें क्‍या जेल से बाहर आएगा गुरमीत राम रहीम, हरियाणा के जेल मंत्री ने कही बड़ी बात - दैनिक जागरण     |       ऑस्ट्रेलियाई कोच का दावा- दुनिया को मिल गया है नया धोनी, जानिए कौन है वो - आज तक     |       एक बार फिर India Vs Pakistan! ICC World Cup 2019 के सेमीफाइनल में भिड़ सकती हैं दोनों टीमें - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       बयान/ बुमराह के कौशल से भारत जीत सकता है वर्ल्ड कप, ऑस्ट्रेलिया को वॉर्नर दिला सकते हैं ट्रॉफी: क्लार्क - Dainik Bhaskar     |       CWC 2019: गुलबदीन ने बांग्लादेश से कहा- हम तो डूबे हैं सनम, तुमको भी ले डूबेंगे - Hindustan     |       जम्मू-कश्मीर आरक्षण पर आज अपना पहला बिल संसद में पेश करेंगे अमित शाह - Hindustan     |       राजस्थान पंडाल हादसा: कथावाचक ने लोगों से की अपील- पंडाल उड़ रहा है, खाली करिए, देखें विडियो - Navbharat Times     |       न्यायालय के एक फैसले के बाद देश में लग गई थी इमरजेंसी, जानिए क्या था मामला - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       कांग्रेस ने राज्यसभा में उठाया बढ़ती आबादी का मुद्दा, कहा- नियंत्रण नहीं हुआ तो विकास बेमानी - Hindustan     |       सऊदी में शादी के लिए पुरुषों से ये शर्तें मनवा रही हैं महिलाएं - आज तक     |       ईरान के साथ बातचीत के लिए कोई पूर्व शर्त नहीं: डॉनल्ड ट्रम्प - Navbharat Times     |       अकेली छूटी महिला, आधी रात को फ्लाइट में नींद खुली तो उड़े होश - आज तक     |       अर्दोआन के लिए इस्तांबुल की हार इसलिए है बड़ा झटका - BBC हिंदी     |       टेक/ बिल गेट्स ने कहा- गूगल को एंड्रॉयड लॉन्च करने का मौका देना सबसे बड़ी गलती थी - Dainik Bhaskar     |       एक पिता ने बेटी की शादी में गाया गाना, वीडियो देख अमिताभ बच्चन की आंखों में आ गए आंसू - अमर उजाला     |       जियो धमाका : 200 रुपए से कम के इस प्लान में मिलेगा महीने भर सबकुछ फ्री, जानें - Himachal Abhi Abhi     |       Gold Rate Today: बाजार में आज गिर गए सोने के भाव वहीं चांदी में आया उछाल - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       वन डे/ फिल्म निर्माताओं को नहीं मिली दिल्ली की अदालत में सीन फिल्माने की इजाजत - Dainik Bhaskar     |       Kabir Singh box office collection Day 3: शाहिद कपूर की फिल्म का फर्स्ट वीकेंड शानदार - नवभारत टाइम्स     |       Shahrukh Khan ने खुद खोला राज़, Zero फ्लॉप होने के बाद क्यों साइन नहीं की कोई फिल्म - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       53 की उम्र में भी सलमान खान हैं बॉलीवुड के सबसे फिट एक्टर, ये 5 वर्कआउट करना कभी नहीं भूलते - अमर उजाला     |       ICC World Cup 2019 AFG vs BAN: शाकिब अल हसन नंबर वन बल्‍लेबाज बने, बना दिए कई रिकॉर्ड - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       वर्ल्ड कप/ भारत की फील्डिंग सबसे चुस्त, पाकिस्तान ने छोड़े सबसे ज्यादा 14 कैच - Dainik Bhaskar     |       शमी ने बताया हैटट्रिक से पहले धौनी ने उनसे क्या कहा, बुमराह ने लिया मैदान पर इंटरव्यू - प्रभात खबर     |       पैसों के लिए आईपीएल खेला, वर्ल्ड कप में कर दिया टीम का बेड़ा गर्क - आज तक     |      

विदेश


मिस्र राष्ट्रपति चुनावः अल-सीसी को चुनौती देंगे मानवाधिकार वकील

खालिद वही वकील हैं, जिनको अदालत के एक आदेश के बाद कथित रूप से हाथ से अशिष्ट और अश्लील इशारा करने के मामले में सितंबर में तीन महीने जेल की सजा सुनाई गई थी।


egyptian-presidential-election-al-cc-challenge-human-rights-lawyer-khalid

काहिरा: मिस्र के मानवाधिकार वकील खालिद अली राष्ट्रपति अब्देल-फतह अल-सीसी को 2018 के चुनाव में चुनौती देंगे। यह बातें अली ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहीं। उन्होंने कहा कि हमने आज राष्ट्रपति चुनाव में मेरी उम्मीदवारी की तैयारी करने के लिए प्रचार अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

बता दें कि खालिद वही वकील हैं, जिनको अदालत के एक आदेश के बाद कथित रूप से हाथ से अशिष्ट और अश्लील इशारा करने के मामले में सितंबर में तीन महीने जेल की सजा सुनाई गई थी। हालांकि इस वजह से उन्हें राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में अयोग्य ठहराया जा सकता है।

अली उन प्रमुख लोगों में से एक रहे हैं जिन्होंने इस साल की शुरुआत में मिस्र द्वारा लाल सागर के दो विवादित द्वीपों तिरान और सनाफिर को सऊदी अरब को सौंपने का विरोध किया था। मानवाधिकार वकील इससे पहले 2012 का राष्ट्रपति चुनाव भी लड़ चुके हैं। 

advertisement