नंबर गेम में कमजोर विपक्ष शब्दों के तीर से करेगा सरकार को 'घायल'     |       100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       गोपाल दास नीरज : कारवां गुजर गया..     |       इस ट्रेन में मिलेगा हवाई जहाज जैसा आनंद, बटन दबाने पर खुल जाएंगी खिड़कियां     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       उलमा कौन होते निदा का हुक्का-पानी बंद करने वालेः तनवीर हैदर उसमानी     |       एयरसेल-मैक्सिस मामलाः CBI ने पी चिदंबरम, उनके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की     |       ग्रेटर नोएडा हादसा : नौ शव बरामद, पुलिस ने किया पांच लोगों को गिरफ्तार, कई लोग अब भी फंसे     |       खुशखबरी! अब टिकट काउंटर पर नहीं लगेगी भीड़, मोबाइल ऐप से बुक कराएं जनरल टिकट     |       लखनऊ में सूदखोर कारोबारी से मिला 100 किलो सोना व नकद 9.21 करोड़ रुपये     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       अमेरिकी अधिकारी आसमान में विमानों की टक्कर के कारणों की जांच में जुटे     |       देवरिया जेल में छापा, बाहुबली अतीक अहमद की बैरक से मिले सिम-पैन ड्राइव     |       पटना पहुंचते ही विरोधियों पर जमकर बरसे तेजस्वी     |       गुजरात : MBBS में गोल्ड मेडल जीतने वाली डॉक्टर बनी साध्वी, अरबों की संपत्ति ठुकराई     |      

गपशप


ऐसे उड़ी जेटली के इस्तीफे की ख़बर

शाह के बेहद भरोसेमंद भूपेंद्र यादव पिछले काफी समय से छोटे व्यापारियों से मिलकर जीएसटी पर उनकी परेशानियां जान रहे थे। भूपेंद्र यादव की मदद से शाह ने जीएसटी को लेकर छोटे व्यापारियों की चिंताए और उनकी अपेक्षाओं को लेकर एक डॉसियर तैयार किया था


finance-minister-arun-jaitley-resignation-news

मीडिया में इस बात की पड़ताल शुरू हो गई है कि आखिरकार मोदी सरकार के सर्वशक्तिमान अरुण जेटली की इस्तीफे की अफवाह उड़ी कैसे? कांग्रेस परस्त एक अखबार ने तो बकायदा इसकी ख़बर छाप भी दी थी। विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि जीएसटी काऊंसिल की बैठक से पूर्व 2 अक्टूबर की शाम को इस पर ब्रीफिंग के लिए प्रधानमंत्री ने अमित शाह और अरुण जेटली को अपने पास तलब किया था। जिसमें सरकार का पक्ष जेटली रख रहे थे तो पार्टी व जनता का पक्ष सामने रखने की जिम्मेदारी शाह को सौंपी गई थी। शाह के बेहद भरोसेमंद भूपेंद्र यादव पिछले काफी समय से छोटे व्यापारियों से मिलकर जीएसटी पर उनकी परेशानियां जान रहे थे। भूपेंद्र यादव की मदद से शाह ने जीएसटी को लेकर छोटे व्यापारियों की चिंताए और उनकी अपेक्षाओं को लेकर एक डॉसियर तैयार किया था, जिसे लेकर वे पीएम के पास गए थे। ऐसे में किसी ने अफवाह उड़ा दी कि पीएम जेटली से इस्तीफा ले रहे हैं। यह ख़बर तेजी से फैली, उस रोज राजनाथ सिंह लखनऊ में थे, जहां उनके कई कार्यक्रम लगे थे। सूत्र बताते हैं कि राजनाथ ने भी अपने तमाम पूर्व निर्धारित कार्यक्रम रद्द कर दिए और किसी अनहोनी की आशंका से भागे-भागे दिल्ली आ पहुंचे। सोशल मीडिया पर इस्तीफे की ख़बर छाई हुई थी और पीएम से मीटिंग के बाद निर्विकार भाव से जेटली व शाह उनके घर से बाहर निकल रहे थे।

advertisement