आईपीएल-11 : राशिद का हरफनमौला प्रदर्शन, हैदराबाद फाइनल में (राउंडअप)     |       कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने साबित किया बहुमत, BJP का वॉकआउट     |       2019 में अमेठी या रायबरेली हम जीतेंगे, SP-BSP साथ आए तो मिलेगी चुनौती: अमित शाह     |       CBSE 12th Results 2018: सीबीएसई 12वीं के नतीजे आज होंगे जारी, cbseresults.nic.in पर देखें रिजल्ट     |       समिट रद्द करने के दूसरे दिन ट्रम्प ने जताई किम जोंग के साथ जल्द मुलाकात की उम्मीद, उत्तर कोरिया की तारीफ की     |       सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       रोहिंग्या मुद्दे पर बांग्लादेश ने मांगी भारत से मदद     |       मेजर गोगोई की मुश्किलें बढ़ी, सेना ने जारी किया कोर्ट आफ इन्क्वायरी का आदेश     |       अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट की रवीश कुमार को जान से मारने की धमकी वाली खबर, एलजी से पूछा- है दम इस पर एक्‍शन लेने का     |       देश में पानी और तेल को लेकर आग     |       सीमा पर गोलीबारी व घुसपैठ बंद करे पाकिस्तान : महबूबा     |       नौतपा : पहले दिन मौसम के तेवर पड़े नरम, हल्की बारिश के बाद बढ़ी उमस     |       लेडी ट्यूशन टीचर ने नाबालिग छात्र से बनाए शारीरिक संबंध, खुलासा होने पर हुआ ये अंजाम     |       दिल्ली पुलिस ने सिसोदिया से 3 घंटे में पूछे 100 सवाल, कई के नहीं मिले जवाब     |       बिहार : 5 साल पहले महाबोधि मंदिर के पास हुए बम विस्फोट मामले में सभी 5 आरोपी दोषी करार     |       अपडेट.. सैन्य शिविर पर ग्रेनेड हमला, दो सैन्यकर्मी घायल     |       एच-4 वीजा वर्क परमिट खत्म करने की तैयारी में ट्रंप प्रशासन, भारतीयों पर होगा ज्यादा असर     |       घर आने की योजना रद्दकर ड्यूटी पर लौट गया था शहीद     |       पाक शांति चाहता है तो आतंकवादी भेजना बंद करे: जनरल रावत     |       वायरल सच: हिंदू लड़की को मुस्लिम लड़के से अलग करने में गुंडागर्दी का सच     |      

व्यापार


सरकार के कदम से शेयर बाजार में उछाल, रिकॉर्ड ऊंचाई पर सेंसेक्स

बता दें कि सोमवार को शेयर बाजार की सकारात्मक शुरूआत हुई और सेंसेक्स 116.76 अंकों या 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 32,506.72 पर बंद हुआ, जो 18 अक्टूबर के बाद अब तक का उच्चतम बंद स्तर है।


government-move-stock-market-sensex-high-record

मुंबईः बीते दिनों सरकार द्वारा उठाए गए आर्थिक कदमों से बाजार को काफी बल मिला है। नतीजतन बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली। सरकार की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने वाली नीतियों से सेंसेक्स और निफ्टी ने रिकॉर्ड ऊंचाई को छुआ है। इस सप्ताह सेंसेक्स 767.26 अंकों यानी 2.36 फीसदी की बढ़त के साथ 33,157.22 पर जबकि निफ्टी 176.50 अंकों यानी 1.73 फीसदी की बढ़त के साथ 10,323.05 पर रहा। सेंसेक्स 33,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर गया। बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 1.88 फीसदी जबकि स्मॉलकैप सूचकांक में 1.3 फीसदी की तेजी रही।

बता दें कि सोमवार को शेयर बाजार की सकारात्मक शुरूआत हुई और सेंसेक्स 116.76 अंकों या 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 32,506.72 पर बंद हुआ, जो 18 अक्टूबर के बाद अब तक का उच्चतम बंद स्तर है। मंगलवार को वैश्विक बाजारों में मजबूती का असर घरेलू बाजार पर भी देखने को मिला, जिस वजह से सेंसेक्स 100.62 अंकों या 0.31 फीसदी की तेजी के साथ 32,607.34 पर बंद हुआ। हालांकि बुधवार यानी 25 अक्टूबर को सरकार द्वारा उठाए गए आर्थिक कदमों से बाजार को और बल मिला। सेंसेक्स 435.16 अंकों या 1.33 फीसदी की मजबूती के साथ 33,042.50 पर बंद हुआ। गुरुवार को एक बार फिर शेयरों में तेजी आई और सेंसेक्स 104.63 अंकों या 0.32 फीसदी की तेजी के साथ 33,147.13 पर बंद हुआ, जो रिकॉर्ड उच्च स्तर रहा।

गौरतलब है कि कारोबारी सप्ताह के अंतिम दिन शुक्रवार को सेंसेक्स में हल्की मजबूती रही। इस दौरान सेंसेक्स 10.09 अंकों या 0.03 फीसदी की बढ़त के साथ 33,157.22 पर बंद हुआ। बीते सप्ताह सेंसेक्स के 30 में से 22 शेयरों में तेजी और आठ में गिरावट रही। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में सर्वाधिक मजबूती, जबकि ल्यूपिन में सर्वाधिक गिरावट रही। सरकार ने  24 अक्टूबर को डूबे कर्ज के बोझ से दबे सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पूंजी डालने के लिए योजना का ऐलान किया। सरकार ने अगले दो सालों में बैंकों में 2.11 लाख करोड़ रुपए की अतिरिक्त पूंजी डालने का फैसला किया है। इसके लिए 1.35 लाख करोड़ रुपए बांड और शेष 76,000 करोड़ रुपए केंद्रीय बजट से दिए जाएंगे।

दरअसल सरकार ने परिवहन व्यवस्था को दुरुस्त और सुगम बनाने के लिए राजमार्ग विकास एवं सड़क निर्माण कार्यक्रम पेश किया। इस सड़क निर्माण कार्यक्रम के तहत 83,677 किलोमीटर सड़कों का निर्माण होगा। इसके लिए अगले पांच साल में 6.92 लाख करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। वहीं वैश्विक मोर्चे पर अक्टूबर महीने में यूरोजोन का उपभोक्त विश्वास सूचकांक में मजबूती रही। यूरोपीय आयोग का कहना है कि मासिक आधार पर अक्टूबर में उपभोक्ता सूचकांक नकारात्मक 1.0 रहा, जबकि सितंबर में यह नकारात्मक 1.2 रहा था। 

 

advertisement