आईपीएल-11 : राशिद का हरफनमौला प्रदर्शन, हैदराबाद फाइनल में (राउंडअप)     |       कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने साबित किया बहुमत, BJP का वॉकआउट     |       2019 में अमेठी या रायबरेली हम जीतेंगे, SP-BSP साथ आए तो मिलेगी चुनौती: अमित शाह     |       समिट रद्द करने के दूसरे दिन ट्रम्प ने जताई किम जोंग के साथ जल्द मुलाकात की उम्मीद, उत्तर कोरिया की तारीफ की     |       सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       CBSE 12th Results 2018: सीबीएसई 12वीं के नतीजे आज होंगे जारी, cbseresults.nic.in पर देखें रिजल्ट     |       मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्कवायरी का आदेश     |       अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट की रवीश कुमार को जान से मारने की धमकी वाली खबर, एलजी से पूछा- है दम इस पर एक्‍शन लेने का     |       देश में पानी और तेल को लेकर आग     |       रोहिंग्या मुद्दे पर बांग्लादेश ने मांगी भारत से मदद     |       सीमा पर गोलीबारी व घुसपैठ बंद करे पाकिस्तान : महबूबा     |       दिल्ली पुलिस ने सिसोदिया से 3 घंटे में पूछे 100 सवाल, कई के नहीं मिले जवाब     |       बिहार : 5 साल पहले महाबोधि मंदिर के पास हुए बम विस्फोट मामले में सभी 5 आरोपी दोषी करार     |       14 साल के छात्र से महिला टीचर पर संबंध बनाने का आरोप, अरेस्ट     |       झीरम घाटी हत्याकांड की बरसी पर कांग्रेस ने निकाली संकल्प यात्रा     |       अपडेट.. सैन्य शिविर पर ग्रेनेड हमला, दो सैन्यकर्मी घायल     |       घर आने की योजना रद्दकर ड्यूटी पर लौट गया था शहीद     |       Movie Review: भारतीय होने का गर्व महसूस कराएगी 'परमाणु', जॉन अब्राहम की दमदार एक्टिंग     |       प्रो गणेशी लाल ओडिशा और राजशेखरन मिजोरम के राज्यपाल होंगे     |       जेसीबी से हटाया गया अतिक्रमण     |      

राज्य


पुलिस को गुमराह कर रही हनीप्रीत, अन्य आरोपीयों की तलाश जारी

वहीं पंचकूला के पुलिस आयुक्त ए.एस.चावला ने बताया कि हनीप्रीत जांच के दौरान पुलिस को पूरे तरीके से सहयोग नहीं कर रही है और सवालों के गोलमोल जवाब दे रही है। अधिकारी ने कहा कि हनीप्रीत देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होने से पहले 38 दिनों तक कानून से भाग रही थी


honeypreet-misleading-haryana-police-into-investigation

पंचकूलाः डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह इंसां की करीबी हनीप्रीत इंसां पूछताछ में हरियाणा पुलिस को गुमराह कर रही है। बाबा रहीम को दो अनुयायियों के साथ दुष्कर्म मामले में 25 अगस्त को आरोपी करार देने के बाद पंचकूला और दूसरी जगहों पर हिंसा भड़क गई थी। इसके बाद से ही पुलिस इस मामले में आरोपियों की कथित भूमिका की जांच कर रही है।

वहीं पंचकूला के पुलिस आयुक्त ए.एस.चावला ने बताया कि हनीप्रीत जांच के दौरान पुलिस को पूरे तरीके से सहयोग नहीं कर रही है और सवालों के गोलमोल जवाब दे रही है। अधिकारी ने कहा कि हनीप्रीत देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होने से पहले 38 दिनों तक कानून से भाग रही थी, वह इस दौरान राजस्थान, दिल्ली और भठिंडा में भी रही थी। चावला ने कहा कि डेरे के दो अन्य शीर्ष पदाधिकारी, आदित्य इंसान और पवन इंसान को पकड़ने का प्रयास चल रहा है, जो 25 अगस्त के बाद से फरार चल रहे हैं।

बता दें कि हनीप्रीत का असली नाम प्रियंका तनेजा है। उसे बुधवार को पंचकूला की एक अदालत ने 6 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। उसे हरियाणा के पड़ोसी राज्य पंजाब से मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था।  हरियाणा पुलिस अधिकारी ने कहा है कि हिंसा में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दूसरी जगहों पर छापेमारी की गई थी। पुलिस  महीने भर से हनीप्रीत को निशाना बनाकर नेपाल, राजस्थान, बिहार, हरियाणा और दिल्ली में छापेमारी कर रही थी।

हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने बाबा राम रहीम और हनीप्रीत के बीच अवैध संबंध का आरोप लगाया था। वहीं हनीप्रीत खुद को राम रहीम की गोद ली हुई बेटी होने का दावा करती है। तीन साल में उसके निर्देशन में बनी 5 फिल्मों में वह बतौर मुख्य अभिनेत्री काम कर चुकी है। बता दें कि राम रहीम को 20 साल कठोर कारावास के साथ 30 लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई गई है। उसके दोषी सिद्ध होते ही हरियाणा के पंचकूला और सिरसा में भड़की हिंसा में 38 लोग मारे गए थे और 264 लोग घायल हुए थे। इसके साथ ही दिल्ली और पंजाब के कई हिस्सों में हिंसा की खबरे आई थीं। 

advertisement