छत्तीसगढ़ / मोदी ने कहा- कांग्रेस सोचती है कि उनकी राजगद्दी एक चायवाला कैसे चुरा ले गया?     |       अशोक गहलोत सरदारपुरा से लड़ेंगे चुनाव, जानें क्या है उनके लिए इस सीट के मायने     |       CVC को आलोक वर्मा के खिलाफ मिलीं 'कुछ गंभीर बातें', सुप्रीम कोर्ट ने वर्मा से जवाब देने को कहा     |       पंजाब में घुसे जैश के सात अातंकी, पुलिस ने जारी किए फोटो, दिल्ली में भी घुसने की फिराक में     |       तमिलनाडु में गाजा तूफान से 11 लोगों की मौत, 76 हजार लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा गया     |       सीएम ममता बनर्जी का निशाना: कहा- बीजेपी हिस्ट्री चेंजर है और देश डेंजर में है     |       बिहार: छठ पर सपना चौधरी के शो में हुड़दंग, 1 की मौत, 12 लोग जख्मी     |       रघुराज प्रताप सिंह 'राजा भैया' ने कहा-संसद में SC-ST कानून में संशोधन न्यायसंगत नहीं     |       रिपोर्ट में दावा: बिना इजाजत आंध्र प्रदेश में नहीं घुस पाएगी सीबीआई, चंद्रबाबू नायडू ने लगाया बैन     |       आज खुलेंगे सबरीमला के कपाट, मंदिर जाने के लिए केरल पहुंचीं तृप्ति देसाई एयरपोर्ट पर फंसीं     |       चुनावी संग्रामः MP, छत्तीसगढ़ में मोदी और राहुल का एक-दूसरे पर तीखा वार     |       42 साल की उम्र की इस महिला ने इंटरनेट पर मचाई धूम, जानें इनकी खूबसूरती का राज     |       कॉपीराइट / शादी के वीडियो में अपने गानों के इस्तेमाल पर टी-सीरीज को आपत्ति, 100 फोटोग्राफर्स पर केस     |       PM मोदी के आलोचक टीएम कृष्णा को मिला AAP का साथ, दिल्ली आने का दिया न्योता     |       लिफ्ट में बच्ची को पीटने और लूटपाट करने वाली महिला गिरफ्तार     |       नोटबंदी नहीं की गई होती, तो भारत की अर्थव्यवस्था ढह जाती : RBI निदेशक एस गुरुमूर्ति     |       Indian Railways: साल भर में 14 करोड़ रुपये के कंबल-तौलिए-चादर चुरा ले गए रेल यात्री!     |       नीतीश कुमार और सुशील मोदी हमारे परिवार का चरित्र हनन कर रहे हैं : तेजस्वी यादव     |       12वीं में पढ़ने वाली होमगार्ड की लड़की बन गई 1.5 करोड़ की मालकिन, देखिए एेसे खुली किस्मत     |       मेजर जनरल सुसाइड मामला: Suicide नोट में हुआ नया खुलासा (Video)     |      

विदेश


एटमी हथियारों को खत्म करने वाले कैंपेन को नोबेल शांति पुरस्कार

आईकैन को यह पुरस्कार दुनिया को परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की भयावहता से परिचित कराने के लिए दिया गया


icon-wins-nobel-peace-prize-for-campaign-to-end-nuclear-weapons

परमाणु हथियारों को खत्म करने वाले अंतरराष्ट्रीय अभियान (आईकैन) को इस साल शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। नॉर्वे की नोबेल कमिटी के मुताबिक आईकैन को यह पुरस्कार दुनिया को परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के बाद भयावह परिस्थितियों से अवगत कराने के लिए उसके प्रयासों की वजह से दिया गया है।

इस बार नोबेल शांति पुरस्कार की दौड़ में पोप फ्रैंसिस, सऊदी के ब्लॉगर रैफ बदावी, ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ भी शामिल थे। स्वीडिश अकादमी ने पुरस्कार की घोषणा के समय कहा कि हम इसके जरिए सभी परमाणु हथियार संपन्न देशों को यही संदेश देना चाहते हैं कि अगर वे इसका इस्तेमाल करते हैं तो यह कितना विनाशकारी साबित हो सकता है।

अकादमी ने कुल 300 नामांकनों में से आईकैन को इस साल के शांति पुरस्कार के लिए चुना है। पुरस्कार की घोषणा ओसलो में की गई। हालांकि घोषणा के समय यह नहीं बताया कि इस पुरस्कार के लिए किनके नामों पर विचार किया गया, लेकिन यह बताया गया कि पुरस्कार के लिए 215 लोगों और 103 संस्थाओं को नामांकित किया गया था।

advertisement