सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       न्यूज टाइम इंडिया : बुधवार को कुमारास्वामी लेंगे सीएम पद की शपथ     |       शिवसेना अफजल खान का काम कर रही है: योगी     |       प्रेस रिव्यू: मानव ढाल बनाने वाले मेजर गोगोई से महिला को लेकर पूछताछ     |       वैष्णो देवी पर्वत पर लगी भीषण आग, यात्रा में जाने के सभी मार्ग बंद     |       अमेरिकी बाजार की स्थिरता का असर भारतीय शेयर बाजार पर, हरे निशान के साथ खुले बाजार     |       तूतीकोरिन में धारा 144 लागू, प्लांट बंद होने से 32500 नौकरियों पर चली कुल्हाड़ी     |       पीएम मोदी ने कबूल किया विराट का फिटनेस चैलेंज, कहा- जल्द जारी करूंगा वीडियो     |       गीता से शादी के लिए देशभर से आए 26 प्रस्ताव, 15 युवकों में से चुनेगी हमसफर, सबसे करेगी मुलाकात     |       यूपी: पेंशन लेने के लिए मां की लाश को चार महीने तक घर में छिपाए रखा     |       उप्र लोकसेवा आयोग की पीसीएस 2017 मुख्य परीक्षा 18 जून से     |       गंगा दशहरा आज: हिंदू ही नहीं मुसलमानों व सिखों की भी है गंगा में आस्था, गोता लगाते ही मिलेगी पापों से मुक्ति     |       बीजेपी के 13 और व‍िधायकों को धमकी, दाउद के गुर्गों का नाम सामने आया     |       पैरंट्स का 750 करोड़ है प्राइवेट स्कूलों की जेब में     |       मार्च तक सात महीने में 39 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन : ईपीएफओ आंकड़े     |       IPL 2018, KKR VS RR: जीत कर भी ये शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर गई केकेआर     |       पीएम मोदी और नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट के बीच द्विपक्षीय बैठक आज, इन मामलों पर होगी बड़ी डील     |       एसएससी पेपर लीक मामले में सीबीआई ने की कार्रवाई, पटना, जहानाबाद, पूर्णिया समेत देश के 12 शहरों में हुई छापेमारी     |       मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती हुए लालू, इलाज में जुटी सात डॉक्टरों की टीम     |       चुनौती के साथ समस्या बना मालदीव, चीन की तरफ ज्यादा झुकाव : नौसेना प्रमुख     |      

राष्ट्रीय


भारत-इटली ने 6 समझौतो पर किए हस्ताक्षर, बढ़ेगा आर्थिक सहयोग

गौरतलब है कि नौसैनिक मामले को लेकर पिछले पांच सालों से भारत और इटली के रिश्तों में तल्खी आई है तो वहीं जेंटिलोनी पिछले 10 सालों में भारत की यात्रा करने वाले पहले इतालवी पीएम हैं।


india-and-italy-sign-six-agreements-to-boost-economy-in-all-sectors

नई दिल्लीः पीएम मोदी और इटली के उनके समकक्ष पाओलो जेंटिलोनी के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक हुई। इस बैठक में दोनों देशों ने 6 समझोतों पर हस्ताक्षर किए, जिसमें रेल सुरक्षा और ऊर्जा क्षेत्र भी शामिल है। भारत यात्रा पर आए इतालवी पीएम जेंटिलोनी के साथ बैठक के बाद कहा कि भारत और इटली दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं और हमारे वाणिज्यिक सहयोग को बढ़ावा देने की काफी संभावनाएं हैं।

गौरतलब है कि नौसैनिक मामले को लेकर पिछले पांच सालों से भारत और इटली के रिश्तों में तल्खी आई है तो वहीं जेंटिलोनी पिछले 10 सालों में भारत की यात्रा करने वाले पहले इतालवी पीएम हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हमारा द्विपक्षीय व्यापार जो वर्तमान में 8.8 अरब डॉलर है, इसमें बढ़ोतरी की काफी संभावना है। उन्होंने कहा कि जेंटिलोनी के साथ इटली के व्यापारियों के उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ चर्चा उन्हें काफी सकारात्मक नजर आई।

उन्होंने भारतीय कंपनियों के साथ भागीदारी में भारत के प्रमुख कार्यक्रमों में इटली की कंपनियों की भागीदारी का आह्वान किया। पीएम मोदी ने कहा कि स्मार्ट सिटी, खाद्य प्रसंस्करण, फार्मास्यूटिकल्स और अवसंरचना जैसे क्षेत्रों में हमारी जरूरत को इटली की विशेषज्ञता और क्षमताओं से पूरा किया जा सकता है। भारत और इटली के बीच कूटनीतिक संबंध साल 2012 के फरवरी में बिगड़ गए थे, जब इटली के व्यापारिक पोत एनरिका लेक्सी से दो नौसैनिकों मैसिमिलियानो लातोरे तथा साल्वातोरे गिरोने द्वारा की गई गोलीबारी ने केरल के दो भारतीय मछुआरों की जान ले ली थी।

हालांकि इस मामले की सुनवाई अब हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत कर रही है और भारत ने दोनों नौसैनिकों को इटली लौटने की अनुमति दे दी है। भारत और इटली के बीच तनातनी से यूरोपीय संघ और भारत के बीच मुक्त व्यापार वार्ता को लेकर हो रही बातचीत भी प्रभावित हुई है। दोनों देशों द्वारा बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि 'मोदी और जेंटिलोनी ने भारत-इटली के मजबूत आर्थिक संबंधों की सराहना की और व्यापक आर्थिक सहयोग बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई। दोनों पक्षों ने रेलवे की सुरक्षा के लिए सहयोग के एक संयुक्त घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर किए।

भारत और इटली के बीच ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। वहीं इटली की ट्रेड एजेंसी और इन्वेस्ट इंडिया के बीच आपसी सहयोग को लेकर एक अन्य एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। भारत-इटली कूटनीतिक रिश्तों के 70 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय की प्रशिक्षण इकाई तथा भारत के विदेश मंत्रालय के विदेश सेवा संस्थान के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। 

भारत और इटली के बीच सांस्कृतिक सहयोग पर एक कार्यकारी प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए गए। जेंटिलोनी यहां रविवार को पहुंचे। 2007 में तत्कालीन प्रधानमंत्री रोमानो प्रोडी की यात्रा के बाद इटली के किसी प्रधानमंत्री की यह पहली भारत यात्रा है। 

advertisement