LIVE: अविश्वास प्रस्ताव पर अग्निपरीक्षा से पहले PM मोदी ने बुलाई कोर ग्रुप की बैठक     |       पीएम मोदी के पिछले 4 साल के विदेश दौरे में खर्च हुए 1484 करोड़ रुपये     |       डॉलर की तुलना में रुपये ने छुआ 69.12 का ऐतिहासिक निचला स्तर     |       अगस्त से पटनावासियों के हाथ में होगा बैंगनी रंग का नया सौ रुपये का नोट     |       NEWS FLASH: अमेरिकी डॉलर की तुलना में सात पैसे गिरकर रुपया 69.12 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर     |       ट्रांसपोर्टर हड़ताल: महंगे हो सकते हैं फल-सब्जी और किराना सामान     |       ये है BJP सांसद की DSP बेटी, जो 'कैश फॉर जॉब' घोटाले में हुई अरेस्ट     |       मेरठ में फर्जी मार्कशीट बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़, पांच गिरफ्तार     |       AAP नेता संजय सिंह का मुख्य सचिव पर गंभीर आरोप, कहा- वे भ्रष्टाचारियों से मिले हुए हैं     |       गोपाल दास नीरज के निधन से एक युग का अंत, आम जन से लेकर राष्ट्रपति तक ने कहा- 'नमन'     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को, जानें जरूरी और काम की बातें     |       नंबर प्लेट पर लिखा 'मेरी गर्लफ्रेंड मरगी', बाइक जब्त     |       मेरठ में पूर्व सांसद के भाई की मीट फैक्ट्री में गैस से तीन की मौत     |       14 मिनट में बैंक के अंदर से 20 लाख पार     |       शिखर वार्ता के बाद व्लादीमिर पुतिन के प्रस्ताव को डोनल्ड ट्रंप ने किया ख़ारिज     |       भारत और अमेरिका की नई दिल्ली में 6 सितंबर को होगी 2+2 वार्ता     |       जन्म के समय था वजन मात्र 375 ग्राम, डॉक्टरों के प्रयास से जीवित बच गई बच्ची     |       ट्रेन का जनरल टिकट अब घर में बैठें अपने स्मार्टफोन से करें बुक, लॉन्च हुआ नया एप     |       जियो का मानसून हंगामा कल से, 49 रुपये में 1 महीने तक सब कुछ फ्री     |      

राष्ट्रीय


भारत-इटली ने 6 समझौतो पर किए हस्ताक्षर, बढ़ेगा आर्थिक सहयोग

गौरतलब है कि नौसैनिक मामले को लेकर पिछले पांच सालों से भारत और इटली के रिश्तों में तल्खी आई है तो वहीं जेंटिलोनी पिछले 10 सालों में भारत की यात्रा करने वाले पहले इतालवी पीएम हैं।


india-and-italy-sign-six-agreements-to-boost-economy-in-all-sectors

नई दिल्लीः पीएम मोदी और इटली के उनके समकक्ष पाओलो जेंटिलोनी के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक हुई। इस बैठक में दोनों देशों ने 6 समझोतों पर हस्ताक्षर किए, जिसमें रेल सुरक्षा और ऊर्जा क्षेत्र भी शामिल है। भारत यात्रा पर आए इतालवी पीएम जेंटिलोनी के साथ बैठक के बाद कहा कि भारत और इटली दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं और हमारे वाणिज्यिक सहयोग को बढ़ावा देने की काफी संभावनाएं हैं।

गौरतलब है कि नौसैनिक मामले को लेकर पिछले पांच सालों से भारत और इटली के रिश्तों में तल्खी आई है तो वहीं जेंटिलोनी पिछले 10 सालों में भारत की यात्रा करने वाले पहले इतालवी पीएम हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हमारा द्विपक्षीय व्यापार जो वर्तमान में 8.8 अरब डॉलर है, इसमें बढ़ोतरी की काफी संभावना है। उन्होंने कहा कि जेंटिलोनी के साथ इटली के व्यापारियों के उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ चर्चा उन्हें काफी सकारात्मक नजर आई।

उन्होंने भारतीय कंपनियों के साथ भागीदारी में भारत के प्रमुख कार्यक्रमों में इटली की कंपनियों की भागीदारी का आह्वान किया। पीएम मोदी ने कहा कि स्मार्ट सिटी, खाद्य प्रसंस्करण, फार्मास्यूटिकल्स और अवसंरचना जैसे क्षेत्रों में हमारी जरूरत को इटली की विशेषज्ञता और क्षमताओं से पूरा किया जा सकता है। भारत और इटली के बीच कूटनीतिक संबंध साल 2012 के फरवरी में बिगड़ गए थे, जब इटली के व्यापारिक पोत एनरिका लेक्सी से दो नौसैनिकों मैसिमिलियानो लातोरे तथा साल्वातोरे गिरोने द्वारा की गई गोलीबारी ने केरल के दो भारतीय मछुआरों की जान ले ली थी।

हालांकि इस मामले की सुनवाई अब हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत कर रही है और भारत ने दोनों नौसैनिकों को इटली लौटने की अनुमति दे दी है। भारत और इटली के बीच तनातनी से यूरोपीय संघ और भारत के बीच मुक्त व्यापार वार्ता को लेकर हो रही बातचीत भी प्रभावित हुई है। दोनों देशों द्वारा बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि 'मोदी और जेंटिलोनी ने भारत-इटली के मजबूत आर्थिक संबंधों की सराहना की और व्यापक आर्थिक सहयोग बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई। दोनों पक्षों ने रेलवे की सुरक्षा के लिए सहयोग के एक संयुक्त घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर किए।

भारत और इटली के बीच ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। वहीं इटली की ट्रेड एजेंसी और इन्वेस्ट इंडिया के बीच आपसी सहयोग को लेकर एक अन्य एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। भारत-इटली कूटनीतिक रिश्तों के 70 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय की प्रशिक्षण इकाई तथा भारत के विदेश मंत्रालय के विदेश सेवा संस्थान के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। 

भारत और इटली के बीच सांस्कृतिक सहयोग पर एक कार्यकारी प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए गए। जेंटिलोनी यहां रविवार को पहुंचे। 2007 में तत्कालीन प्रधानमंत्री रोमानो प्रोडी की यात्रा के बाद इटली के किसी प्रधानमंत्री की यह पहली भारत यात्रा है। 

advertisement