total lunar eclipse: 67 मिनट ढक जाएगा पूरा चांद, जानें ग्रहण का टाइम - Hindustan     |       BJP विधायक के बिगड़े बोल, सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा- इन्हें आगरा में भर्ती कराओ– News18 हिंदी - News18 इंडिया     |       UK को पछाड़ देगा भारत, चुनाव से पहले मोदी सरकार की बल्ले-बल्ले! - Business AajTak - आज तक     |       ओडिशा कांग्रेस में संग्राम जारी, पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीकांत जेना को पार्टी ने बाहर निकाला- Amarujala - अमर उजाला     |       कुल्हड़ वाली चाय पी लो... 15 साल बाद फिर रेलवे स्टेशनों में गूंजेगी ये आवाज - आज तक     |       यूनाइटेड इंडिया रैली के लिए कोलकाता में जुटा विपक्ष, मोदी-शाह पर साधा निशाना - BBC हिंदी     |       कर्नाटक: कांग्रेसी विधायकों में रिजॉर्ट में 'मारपीट', एक अस्‍पताल में भर्ती, पार्टी बोली- छाती में दर्द था - News18 Hindi     |       शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने PM मोदी को बताया तानाशाह, झारखंड के भड़के मंत्री ने कहा गद्दार - दैनिक जागरण     |       गए थे तेल चोरी करने, पाइपलाइन में हुआ विस्फोट, लगी आग, 73 लोगों की गई जान, देखें दर्दनाक वीडियो - Times Now Hindi     |       Mauritian Prime Minister Pravind Jugnauth to arrive in India on 8-day visit - Times Now     |       नशे में महिला सैनिक ने पुरुष साथी का किया यौन शोषण, नहीं मिली सजा - trending clicks - आज तक     |       Two Russian fighter jets collide over Sea of Japan - Times Now     |       पेट्रोल-डीजल के दाम में रविवार को हुई भारी बढ़ोतरी, फटाफट जानें नए रेट्स - News18 Hindi     |       अनिल अंबानी के बेटे अंशुल बने कंपनी में ट्रेनी, न्यूयॉर्क से की पढ़ाई - आज तक     |       ऐमजॉन, फ्लिपकार्ट की सेल, जानें क्या है खास - नवभारत टाइम्स     |       मिनी अर्टिगा जैसी दिखती है न्‍यू WagonR, आएगी अलॉय व्‍हील के साथ - Zee Business हिंदी     |       विवादित प्रॉपर्टी को लेकर बेटी सारा के साथ थाने पहुंचीं अमृता सिंह - नवभारत टाइम्स     |       ड‍िप्रेशन का श‍िकार रह चुकी हैं युवराज स‍िंह की वाइफ हेजल, शेयर की पोस्ट - आज तक     |       सारा अली खान की वजह से परेशान हुए बोनी कपूर, हो रही है बेटी जाह्नवी की चिंता - Hindustan     |       'भाबीजी घर पर हैं' कि अनीता भाभी ने शेयर की बेटे की First Photo, 3 दिन पहले हुआ था जन्म - Times Now Hindi     |       क्रिकेट/ अमला ने तोड़ा कोहली का रिकॉर्ड, सबसे कम पारियों में लगाए 27 शतक - Dainik Bhaskar     |       ऑस्ट्रेलियन ओपन/ फेडरर उलटफेर का शिकार, 15वीं रैंकिंग वाले सितसिपास से हारे; नडाल की जीत - Dainik Bhaskar     |       ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज़ जीतने के बाद, ये मैच देखने पहुंचे विराट कोहली, फोटो हुई वायरल - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       फेडरर के साथ फोटो पर बुरी फंसीं अनुष्का, इस वजह से हो गईं ट्रोल - Sports - आज तक     |      

विदेश


संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मलेन में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन

इस सम्मलेन में अगले 11 दिनों तक भारत जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करना और इसके अनुसार अपने को अनुकूल बनाने से संबंधित 20 सत्र आयोजित करेगा।


india-inaugurates-its-pavilion-in-the-conference-of-united-nations-climate-change

संयुक्त राष्ट्र का सालाना जलवायु परिवर्तन सम्मेलन जर्मनी के बॉन शहर में  6 नवंबर से शुरू हो चूका है। यह सम्मलेन 17 नवम्बर तक चलेगा। इसमें 200 देशों के 20,000 से ज्यादा प्रतिनिधियों व पर्यावरण के क्षेत्र से जुड़े कार्यकर्ता भाग ले रहे हैं। 

भारत भी जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन के 23 वें कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज़ (कॉप-23) में भाग ले रहा है। केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने कॉप-23  में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन किया है। कॉप-23 में भारतीय पवेलियन की थीम है- ‘वर्तमान का संरक्षण, भविष्य की सुरक्षा’।

पर्यावरण मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव अरूण कुमार मेहता ने कहा कि अगले 11 दिनों तक भारत जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करना और इसके अनुसार अपने को अनुकूल बनाने से संबंधित 20 सत्र आयोजित करेगा।

भारतवंशी मेयर अशोक श्रीधरन ने सोमवार को एक वीडियो ट्वीट में कहा, "बोनर्स (बॉन निवासी) के रूप में हमें 'सीओपी23' का आयोजन करने पर गर्व महसूस हो रहा है और हम दुनियाभर से आ रहे प्रतिनिधियों के लिए अच्छे मेजबान बनना चाहते हैं।"

उन्होंने कहा कि हम यहां 20,000 से ज्यादा लोगों के आने की उम्मीद कर रहे हैं, जो एक बड़ी चुनौती है क्योंकि यहां 320,000 लोग रहते हैं, लेकिन बॉन में रहने वाले 'सीओपी23' को लेकर बहुत उत्सुक हैं।

बॉन में 1999 और 2001 में भी संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन भी हो चुका है। 

दो सप्ताह की अवधि वाला जलवायु परिवर्तन सम्मेलन सोमवार को शुरू हुआ और इसमें 197 देशों के अधिकारी और हजारों गैर शासकीय कार्यकर्ता जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए 2015 के पेरिस समझौते को आगे बढ़ाने की प्रतिबद्धता के साथ हिस्सा ले रहे हैं। 

23वें वार्षिक जलवायु परिवर्तन यानी सीओपी23 की अध्यक्षता कर रहे फिजी के राष्ट्रपति फ्रैंक बेनिमारामा ने अपने उद्घाटन संबोधन में कहा कि जलवायु परिवर्तन की प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की जरूरत है। 

सम्मेलन में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल सहित करीब 20 देशों के नेताओं के भाग लेने की संभावना है।

advertisement