इमरान खान ने पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली, पहले दिन से कर्ज की दरकार     |       LIVE: बाढ़ प्रभावित केरल में PM का हवाई दौरा, केंद्र करेगा 500 करोड़ की मदद     |       UP में अब चलेगी 'अटल भावनाओं' की लहर, अस्थि विसर्जन का रोडमैप तैयार     |       बिहार में असिस्टेंट प्रोफेसर की मॉब लिंचिंग की कोशिश     |       सबसे ज्यादा GDP मनमोहन सिंह के PM रहते वक्त हुआ, 10.08 प्रतिशत रहा     |       केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए अब विदेश से भी मदद, UAE के शेख खलीफा ने दिए निर्देश     |       UP: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डाली तो खैर नहीं, रासुक में होगी गिरफ्तारी     |       Supreme Court : धर्म बदल कर की शादी, अब पत्नी के साथ रहने की सुप्रीम कोर्ट में लगाई गुहार     |       VIDEO : प्राकृतिक आपदा से जूझता केरल, आसमान से दिखा बाढ़ का भयावह नजारा     |       नाले की गैस को भारतीय ने कराया पेटेंट, पीएम मोदी ने भी की थी तारीफ     |       आधा दर्जन लड़कियों से कर चुका है शादी, बहन ढूंढती थी भाई के लिए दुल्हन     |       चंबा के सुल्तानपुर में देह व्यापार का भंडाफोड़     |       मुजफ्फरपुर कांड: अय्याशी का अड्डा था पटना में ब्रजेश के अखबार का दफ्तर     |       उमर खालिद पर हमले का मामलाः 9 घंटे लुधियाना में आरोपियों का इंतजार करती रही पुलिस, नहीं किया सरेंडर     |       यूएस-चीन ट्रेड वॉर से भारत को होगा फायदा, मिलेगा सस्ता तेल     |       अमेरिका: भारतीय ने फ्लाइट में सो रही महिला के साथ की छेड़छाड़, मिल सकता है आजीवन कारावास     |       सगाई की ख़बरों के बीच निक जोनास और परिवार संग डिनर पर पहुंची प्रियंका चोपड़ा     |       सीमा विवाद सुलझाने के लिए वाजपेयी ने तैयार की थी प्रणाली: चीन     |       एयर इंडिया के पायटलों की धमकी, बकाया भत्ता न मिलने पर ठप किया जा सकता है परिचालन     |       पेंटागन की स्पेस रिपोर्ट में खुलासा, अमरीका पर हमले के लिए ट्रेनिंग पूरी कर रहा चीन     |      

विदेश


भारत ने आतंकवाद से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र से सीसीआईटी अपनाने को कहा

उन्होंने कहा कि हमने खुद को 'आतंकवादी' कौन है, इसकी परिभाषा जैसे मुद्दों पर उलझा रखा है। हम उम्मीद करते हैं कि सभी महाद्वीपों में आतंकवाद के बढ़ते गंभीर खतरे को देखते हुए इन मुद्दों पर सहयोग करने की वास्तविक राजनीतिक इच्छा पैदा हो।


india-wants-to-adopt-ccit-from-un-to-deal-with-terrorism

संयुक्त राष्ट्र: भारत ने आतंकवाद के 'बेतहाशा' बढ़ते खतरे को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र से अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक संधि (सीसीआईटी) अपनाने को कहा है, जो पिछले 21 सालों से आतंकवाद की परिभाषा के सवाल पर अटका है। संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत के कानूनी सलाहकार येदला उमाशंकर ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की कानूनी मामलों की एक समिति से कहा कि आतंकवादी देशों से बढ़ते बेतहाशा खतरे के बीच हम यहां संयुक्त राष्ट्र में अभी तक सीसीआईटी अपनाने में नाकाम रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमने खुद को 'आतंकवादी' कौन है, इसकी परिभाषा जैसे मुद्दों पर उलझा रखा है। हम उम्मीद करते हैं कि सभी महाद्वीपों में आतंकवाद के बढ़ते गंभीर खतरे को देखते हुए इन मुद्दों पर सहयोग करने की वास्तविक राजनीतिक इच्छा पैदा हो। भारत ने 1996 में सीसीआईटी का प्रस्ताव रखा था, लेकिन कुछ देशों द्वारा कुछ आतंकवादियों के 'स्वतंत्रता सेनानी' होने का दावा करने के बीच यह प्रस्ताव इस विवाद को लेकर अभी तक अटका हुआ है कि किसे आतंकवादी कहा जाए।

आतंकवाद से लड़ाई के लिए अंतराष्ट्रीय सहयोग की तात्कालिक जरूरत पर जोर देते हुए उमाशंकर ने कहा कि कोई भी देश, भले ही वह कितना भी सम्पन्न या ताकतवर हो, अकेले यह लड़ाई नहीं जीत सकता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवाद सीमाओं में फर्क नहीं करता और इसका मुख्य कारण आतंकवादियों और उनके संगठनों के अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क और वे उद्देश्य हैं, जिनके लिए वे काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत आतंकवादियों के वित्त पोषण को लेकर चिंतित है और उन्हें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से धन मुहैया कराने या आपराधिक मामलों में उनका बचाव करने वाले देशों या उनकी एजेंसियों की कड़ी निंदा करता है।

भारत आतंकवाद रोधी कार्यालय (ओसीटी) के गठन का स्वागत करता है और उसे उम्मीद है कि इससे आतंकवाद से लड़ने के लिए वर्तमान साझेदारियां मजबूत होंगी और नई साझेदारियां विकसित होंगी। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने जून में ओसीटी का गठन किया था, जो महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के लिए एक उच्च प्राथमिकता वाला एजेंडा था।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें