100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       इस ट्रेन में मिलेगा हवाई जहाज जैसा आनंद, बटन दबाने पर खुल जाएंगी खिड़कियां     |       प्रख्यात कवि और गीतकार महाकवि गोपालदास 'नीरज' का निधन     |       मोदी के मंत्री ने क्यों कहा, सोनिया का गणित कमजोर है?     |       कांग्रेस का 'मेरा तिरंगा मेरा गौरव' अभियान कल से होगा शुरू     |       राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने कहा, फतवा देने वालों पर दर्ज हो एफआइआर     |       एयरसेल मैक्सिस केस में CBI ने दाखिल की चार्जशीट, चिदंबरम और कार्ति का नाम शामिल     |       ग्रेटर नोएडा: नोटिफाइड एरिया में बनी थी बिल्डिंग, शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई     |       बड़ी ख़बर: अब यात्री मोबाइल फोन से खरीद सकते हैं जनरल टिकट     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       रेड मारते ही उड़े IT अफसरों के होश, 8 करोड़ कैश, 87 किलो सोना बरामद     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       देवरिया जेल में छापा, बाहुबली अतीक अहमद की बैरक से मिले सिम-पैन ड्राइव     |       वीडियो: हवा में टकराए दो विमान, जमीन पर गिरते ही सबकुछ तहस-नहस     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी से पूछा, 'क्या आप डॉक्टर हैं', जानिये क्या है कारण...     |       अरबपति पिता की डॉक्टर बेटी बनी जैन साध्वी     |      

विदेश


लाहौर हाईकोर्ट ने कहा- सरकार दे सबूत या हाफिज को करे रिहा

बता दें कि लाहौर हाईकोर्ट ने मंगलवार को सईद की गिरफ्तारी की याचिका पर सुनवाई के दौरान यह बात कही, क्योंकि गृह सचिव सईद की हिरासतअवधि बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज लेकर अदालत के समक्ष पेश नहीं हो सके थे।


lahore-high-court-warns-pakistan-government-hafiz-saeed-released

लाहौरः मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की सजा को समाप्त किया जा सकता है। यह बात पाकिस्तान की एक अदालत ने चेतावनी देते हुए कहा है। अदालत ने कहा कि हाफिज के खिलाफ सरकार पर्याप्त सबूत अदालत को नहीं सौंपती है तो सईद की नजरबंद की सजा को खत्म किया जा सकता है। हालांकि आतंकवाद निरोधक अधिनियम के तहत जनवरी में जमात-उद-दावा के प्रमुख और उसके चार सहयोगियों को घर में नजरबंद कर दिया गया था।

बता दें कि लाहौर हाईकोर्ट ने मंगलवार को सईद की गिरफ्तारी की याचिका पर सुनवाई के दौरान यह बात कही, क्योंकि गृह सचिव सईद की हिरासतअवधि बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज लेकर अदालत के समक्ष पेश नहीं हो सके थे। वहीं न्यायमूर्ति सैयद मजहर अली अकबर नकवी ने गृह सचिव की अनुपस्थिति पर कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि किसी को भी अखबार की कतरन के आधार पर लंबे समय तक हिरासत में नहीं रखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि अगर सभी निर्णय मंत्रालय ही लेगा तो अदालत को बंद कर देना चाहिए। कोई भी अदालत के साथ सहयोग करने को तैयार नहीं है।  न्यायमूर्ति नकवी ने 13 अक्टूबर तक गृह सचिव को लाहौर न्यायालय के समक्ष पेश होने का समन जारी किया।

advertisement