LIVE: अविश्वास प्रस्ताव पर अग्निपरीक्षा से पहले PM मोदी ने बुलाई कोर ग्रुप की बैठक     |       पीएम मोदी के पिछले 4 साल के विदेश दौरे में खर्च हुए 1484 करोड़ रुपये     |       डॉलर की तुलना में रुपये ने छुआ 69.12 का ऐतिहासिक निचला स्तर     |       अगस्त से पटनावासियों के हाथ में होगा बैंगनी रंग का नया सौ रुपये का नोट     |       NEWS FLASH: अमेरिकी डॉलर की तुलना में सात पैसे गिरकर रुपया 69.12 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर     |       ट्रांसपोर्टर हड़ताल: महंगे हो सकते हैं फल-सब्जी और किराना सामान     |       ये है BJP सांसद की DSP बेटी, जो 'कैश फॉर जॉब' घोटाले में हुई अरेस्ट     |       मेरठ में फर्जी मार्कशीट बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़, पांच गिरफ्तार     |       गोपाल दास नीरज के निधन से एक युग का अंत, आम जन से लेकर राष्ट्रपति तक ने कहा- 'नमन'     |       AAP नेता संजय सिंह का मुख्य सचिव पर गंभीर आरोप, कहा- वे भ्रष्टाचारियों से मिले हुए हैं     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को, जानें जरूरी और काम की बातें     |       नंबर प्लेट पर लिखा 'मेरी गर्लफ्रेंड मरगी', बाइक जब्त     |       मेरठ में पूर्व सांसद के भाई की मीट फैक्ट्री में गैस से तीन की मौत     |       14 मिनट में बैंक के अंदर से 20 लाख पार     |       शिखर वार्ता के बाद व्लादीमिर पुतिन के प्रस्ताव को डोनल्ड ट्रंप ने किया ख़ारिज     |       भारत और अमेरिका की नई दिल्ली में 6 सितंबर को होगी 2+2 वार्ता     |       जन्म के समय था वजन मात्र 375 ग्राम, डॉक्टरों के प्रयास से जीवित बच गई बच्ची     |       ट्रेन का जनरल टिकट अब घर में बैठें अपने स्मार्टफोन से करें बुक, लॉन्च हुआ नया एप     |       जियो का मानसून हंगामा कल से, 49 रुपये में 1 महीने तक सब कुछ फ्री     |      

राजनीति


लालू यादव ने कहा- सीएम आवास में आते-जाते हैं शराब माफिया

लालू ने बिहार में शराबबंदी को पूरी तरह असफल बताते हुए नीतीश कुमार पर तंज कसा। लालू ने कहा कि नीतीश कुमार शराब नहीं पीते हैं, तब उनको क्या मालूम है कि शराब की 'होम डिलिवरी' कैसे हो रही है।


lalu-prasad-yadav-nitish-kumar-house-liquor-barron-bihar

पटनाः राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सीएम नीतीश कुमार को आरक्षण विरोधी बताते हुए कहा कि वे दलितों और वंचितों की बात नहीं सुनते हैं। लालू ने कहा कि 'बिहार के सीएम आवास में मंत्रियों और विधायकों को प्रवेश नहीं मिलता है, लेकिन शराब माफियाओं का वहां आना-जाना लगा रहता है। इसके साथ ही लालू ने जद (यू) के प्रवक्ता पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि यदि आप जद (यू) प्रवक्ता के घर छापेमारी करेंगे तो आप देखेंगे कि वहां लोग कैसे शाम के वक्त आजादी से शराब पीते हैं।

लालू ने बिहार में शराबबंदी को पूरी तरह असफल बताते हुए नीतीश कुमार पर तंज कसा। लालू ने कहा कि नीतीश कुमार शराब नहीं पीते हैं, तब उनको क्या मालूम है कि शराब की 'होम डिलिवरी' कैसे हो रही है। जब शराबबंदी के बाद भी राज्य में हर जगह शराब मिल रही है, तब इसी से अंदाजा लग रहा है कि शराबबंदी कितनी 'फ्लॉप' है। इसके अलावा राजद अध्यक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि जद (यू) नेता आर.सी.पी. सिन्हा शराब के गोरखधंधे में लिप्त लोगों से 'फंड' वसूलते हैं।

गौरतलब है कि भोजपुर में जहरीली शराब कांड के एक आरोपी और जद (यू) के प्रखंड अध्यक्ष के साथ सीएम की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, इसके बाद विपक्ष लगातार नीतीश कुमार पर निशाना साध रही है। हालांकि आरोपी को जद (यू) से निष्कासित कर दिया गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने जद (यू) के नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक और बिहार के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी के बयानों को सही ठहराते हुए कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार हो या बिहार में नीतीश की सरकार, दोनों आरक्षण समाप्त करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार दलितों, पिछड़ों की आवाज नहीं सुनती है। वहीं बीजेपी आरक्षण की समीक्षा करने की बात करती है और नीतीश कुमार 'घुड़की' मारकर बैठे हुए हैं। नीतीश आरक्षण विरोधी आदमी हैं। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष चौधरी और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने दो दिन पहले कहा था कि वंचित समाज को मुख्यधारा में लाने का डॉ. भीमराव अंबेडकर और महात्मा गांधी का जो सपना था, वह देश की आजादी के सात दशक बाद भी पूरा नहीं सका है।

दोनों नेताओं ने कहा था कि वंचित समाज आज भी कूड़े के ढेर से अनाज चुनकर पेट की भूख मिटा रहा है। उन्होंने कहा कि आज भी इन लोगों को आरक्षण का सही लाभ नहीं मिल सका है। इसके बाद जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा है कि किसी भी नेता को अगर कोई परेशानी हो तो उसे पार्टी फोरम में अपनी बात रखनी चाहिए।

advertisement