सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       न्यूज टाइम इंडिया : बुधवार को कुमारास्वामी लेंगे सीएम पद की शपथ     |       शिवसेना अफजल खान का काम कर रही है: योगी     |       प्रेस रिव्यू: मानव ढाल बनाने वाले मेजर गोगोई से महिला को लेकर पूछताछ     |       वैष्णो देवी पर्वत पर लगी भीषण आग, यात्रा में जाने के सभी मार्ग बंद     |       अमेरिकी बाजार की स्थिरता का असर भारतीय शेयर बाजार पर, हरे निशान के साथ खुले बाजार     |       तूतीकोरिन में धारा 144 लागू, प्लांट बंद होने से 32500 नौकरियों पर चली कुल्हाड़ी     |       पीएम मोदी ने कबूल किया विराट का फिटनेस चैलेंज, कहा- जल्द जारी करूंगा वीडियो     |       वीडियो: कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण में क्यों भड़क गईं सीएम ममता     |       जम्मू-कश्मीरः 10 दिनों से LoC पर पाक की गोलीबारी जारी, अब उरी सेक्टर में भी दागा मोर्टार     |       शादी के लिए 15 लड़कों के प्रस्ताव पसंद आए गीता को, लेकिन कहा- पहले माता-पिता ढूंढो     |       अश्लील सीडी मामले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल से पूछताछ     |       गंगा दशहरा 2018: जान तो लीजिए क्यों मनाते हैं यह पर्व     |       यूपी: पेंशन लेने के लिए मां की लाश को चार महीने तक घर में छिपाए रखा     |       बीजेपी के 13 और व‍िधायकों को धमकी, दाउद के गुर्गों का नाम सामने आया     |       मार्च तक सात महीने में 39 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन : ईपीएफओ आंकड़े     |       चीन में अमेरिकी कर्मचारी कर रहे असामान्य आवाज का सामना     |       गर्मी का कहर : हरियाणा, राजस्थान और पश्चिमी उत्तरप्रदेश में रेड अलर्ट जारी     |       पैरंट्स का 750 करोड़ है प्राइवेट स्कूलों की जेब में     |       एसएससी पेपर लीक मामले में सीबीआई ने की कार्रवाई, पटना, जहानाबाद, पूर्णिया समेत देश के 12 शहरों में हुई छापेमारी     |      

राजनीति


लालू यादव ने कहा- सीएम आवास में आते-जाते हैं शराब माफिया

लालू ने बिहार में शराबबंदी को पूरी तरह असफल बताते हुए नीतीश कुमार पर तंज कसा। लालू ने कहा कि नीतीश कुमार शराब नहीं पीते हैं, तब उनको क्या मालूम है कि शराब की 'होम डिलिवरी' कैसे हो रही है।


lalu-prasad-yadav-nitish-kumar-house-liquor-barron-bihar

पटनाः राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सीएम नीतीश कुमार को आरक्षण विरोधी बताते हुए कहा कि वे दलितों और वंचितों की बात नहीं सुनते हैं। लालू ने कहा कि 'बिहार के सीएम आवास में मंत्रियों और विधायकों को प्रवेश नहीं मिलता है, लेकिन शराब माफियाओं का वहां आना-जाना लगा रहता है। इसके साथ ही लालू ने जद (यू) के प्रवक्ता पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि यदि आप जद (यू) प्रवक्ता के घर छापेमारी करेंगे तो आप देखेंगे कि वहां लोग कैसे शाम के वक्त आजादी से शराब पीते हैं।

लालू ने बिहार में शराबबंदी को पूरी तरह असफल बताते हुए नीतीश कुमार पर तंज कसा। लालू ने कहा कि नीतीश कुमार शराब नहीं पीते हैं, तब उनको क्या मालूम है कि शराब की 'होम डिलिवरी' कैसे हो रही है। जब शराबबंदी के बाद भी राज्य में हर जगह शराब मिल रही है, तब इसी से अंदाजा लग रहा है कि शराबबंदी कितनी 'फ्लॉप' है। इसके अलावा राजद अध्यक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि जद (यू) नेता आर.सी.पी. सिन्हा शराब के गोरखधंधे में लिप्त लोगों से 'फंड' वसूलते हैं।

गौरतलब है कि भोजपुर में जहरीली शराब कांड के एक आरोपी और जद (यू) के प्रखंड अध्यक्ष के साथ सीएम की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, इसके बाद विपक्ष लगातार नीतीश कुमार पर निशाना साध रही है। हालांकि आरोपी को जद (यू) से निष्कासित कर दिया गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने जद (यू) के नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक और बिहार के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी के बयानों को सही ठहराते हुए कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार हो या बिहार में नीतीश की सरकार, दोनों आरक्षण समाप्त करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार दलितों, पिछड़ों की आवाज नहीं सुनती है। वहीं बीजेपी आरक्षण की समीक्षा करने की बात करती है और नीतीश कुमार 'घुड़की' मारकर बैठे हुए हैं। नीतीश आरक्षण विरोधी आदमी हैं। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष चौधरी और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने दो दिन पहले कहा था कि वंचित समाज को मुख्यधारा में लाने का डॉ. भीमराव अंबेडकर और महात्मा गांधी का जो सपना था, वह देश की आजादी के सात दशक बाद भी पूरा नहीं सका है।

दोनों नेताओं ने कहा था कि वंचित समाज आज भी कूड़े के ढेर से अनाज चुनकर पेट की भूख मिटा रहा है। उन्होंने कहा कि आज भी इन लोगों को आरक्षण का सही लाभ नहीं मिल सका है। इसके बाद जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा है कि किसी भी नेता को अगर कोई परेशानी हो तो उसे पार्टी फोरम में अपनी बात रखनी चाहिए।

advertisement