राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट का सवाल, ऑफसेट पार्टनर भाग गया तो जिम्मेदारी किसकी?     |       कांग्रेस में टिकट पर चल रहे घमासान के बीच भाजपा ने फिर बाजी मारी     |       डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं     |       दीपिका और रणवीर की Wedding Pic को लेकर स्मृति ईरानी ने किया मजाकिया पोस्ट     |       वैश्विक नेताओं से मिले PM मोदी, US उपराष्ट्रपति को दिया भारत आने का न्योता     |       बयान से पलटे शाहिद आफरीदी, कहा- कश्मीर में भारत कर रहा जुल्म     |       इसरो / जीसैट-29 का सफल प्रक्षेपण, 2020 तक गगनयान के तहत पहला मानव रहित मिशन शुरू होगा     |       मैं सीएम की रेस में नहीं, आेपी चौटाला के नाम का सहारा लेने वाले उनका फैसला मानें: अभय     |       राम भक्तों के लिये भारतीय रेल का नया तोहफा, आज से शुरु हुई रामायण एक्सप्रेस     |       स्कूलों में बच्चों ने स्टाॅलें लगाने में दिखाया अपना कौशल     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       पश्चिम बंगाल का नाम बदलने के प्रस्ताव को केंद्र ने किया खारिज, 'बांग्ला' नाम पर राजनीति न करे केंद्र सरकार : ममता     |       श्रीलंकाः राष्ट्रपति को एक और झटका, संसद में राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास     |       बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने अयोध्या से पलायन करने की दी चेतावनी     |       दिल्लीः हवा गुणवत्ता में सुधार, लेकिन सुरक्षित अब भी नहीं     |       1984 सिख विरोधी दंगे: संगत की गवाही ने लिखी इंसाफ की इबारत     |       दीक्षांत समारोह में छात्रों को गोल्ड मेडल देंगे राष्ट्रपति     |       डीआरआई और सेना ने पाक सीमा से सटे इलाके में बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए     |       शायराना अंदाज में अखिलेश का BJP पर तंज, बोले- 'बंद पड़े हैं सारे काम, बदल रहे बस नाम'     |       इग्नू : 156 प्रोग्राम, 31 दिसंबर तक चांस     |      

राष्ट्रीय


#MeToo | 97 वकीलों के साथ अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया

एक तरफ 97 वकीलों के साथ अकबर, तो दूसरी तरफ अकेली प्रिय रमानी


me-too-mj-akbar-files-defamation-case-against-journalist-priya-ramani

केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ सोमवार को आपराधिक मानहानि का मामला दायर किया। रमानी ने मंत्री पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

गौरतलब है कि पत्रकार से राजनेता बने अकबर पर उनके साथ काम करने वाली कई महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। अकबर ने सभी आरोपों को झूठा और निराधार बताया है।

अकबर ने अपने 97 अधिवक्ताओं के साथ पटियाला हाउस कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई। अकबर ने भारतीय दंड संहिता की धारा 500 (मानहानि) के तहत रमानी पर मुकदमा चलाने की मांग की।

अकबर ने आरोप लगाया है कि रमानी ने पूर्णतया झूठे व ओछे बयान द्वारा जानबूझकर, सोच-समझकर, स्वेच्छा से और दुर्भावनापूर्वक उन्हें बदनाम किया। इससे राजनीतिक गलियारे, मीडिया, दोस्तों, परिवार, सहकर्मियों और समाज में व्यापक रूप से उनकी साख और इज्जत को नुकसान पहुंचा है।

अधिवक्ता संदीप कपूर द्वारा दाखिल अर्जी में कहा गया है, "आरोपी द्वारा शिकायतकर्ता (अकबर) के खिलाफ लगाए गए अपमानपूर्ण आरोप प्रथम दृष्टया अपमान सूचक हैं और इन्होंने न केवल शिकायतकर्ता की उनके समाज व राजीतिक गलियारे में बरसों की मेहनत व मशक्कत के बाद अर्जित की गई उनकी साख और इज्जत को नुकसान पहुंचाया है बल्कि समुदाय, दोस्तों, परिवार और सहकर्मियों में उनके निजी सम्मान को भी प्रभावित किया है। इससे उन्हें अपूरणीय क्षति और अत्यधिक पीड़ा का सामना करना पड़ रहा है।"
 

advertisement

  • संबंधित खबरें