केपाटन से मंत्री बाबूलाल वर्मा का टिकट कटा, चंद्रकांता मेघवाल को मौका     |       सुप्रीम कोर्ट में एयरफोर्स ने कहा, ३३ साल से नहीं मिला कोई लड़ाकू विमान     |       डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं     |       सेमी हाईस्पीड ट्रेन टी-18 परीक्षण के लिए दिल्ली पहुंची     |       सिंगापुर: अमेरिका के उपराष्ट्रपति पेंस से मिले PM मोदी     |       बयान से पलटे शाहिद आफरीदी, कहा- कश्मीर में भारत कर रहा जुल्म     |       इसरो / जीसैट-29 का सफल प्रक्षेपण, 2020 तक गगनयान के तहत पहला मानव रहित मिशन शुरू होगा     |       चौटाला परिवार की कलह गहराई, छोटे भाई का बड़े भाई पर प्रहार     |       पश्चिम बंगाल का नाम बदलने के प्रस्ताव को केंद्र ने किया खारिज, 'बांग्ला' नाम पर राजनीति न करे केंद्र सरकार : ममता     |       ट्रैवेल / राम से जुड़े तीर्थ स्थलों की यात्रा के लिए आज से चलेगी श्री रामायण स्पेशल ट्रेन, ऐसे करें टिकट की बुकिंग     |       VIDEO: मंडी में याद किए गए चाचा नेहरू, कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने लिया ये संकल्प     |       लोक आस्था के पर्व पर डीजीपी और सीनियर एसपी मनु महाराज ने भी दिया अर्घ्य     |       प्रधानमंत्री राजपक्सा के खिलाफ संसद में अविश्वास प्रस्ताव पास     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसम्बर से आठ जनवरी तक     |       वायरल वीडियो में कमलनाथ ने मुसलमानों से कहा सतर्क रहें, भाजपा ने साधा निशाना     |       दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज पर सेल्फी के लिए होड़ के बाद निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल     |       दिल्लीः हवा गुणवत्ता में सुधार, लेकिन सुरक्षित अब भी नहीं     |       दीक्षांत समारोह में छात्रों को गोल्ड मेडल देंगे राष्ट्रपति     |       IGNOU B.Ed. Admission 2019: जल्द करें आवेदन, कल अंतिम दिन     |       नौ दिन बाद मलबे में दबे तीनों शव बरामद     |      

विदेश


अमेरिका प्रायद्वीप में स्थिति बिगाड़ने पर तुला- उत्तर कोरिया

अमेरिका के बी-1 लड़ाकू विमान ने कोरियाई प्रायद्वीप में उड़ान भरी थी। इससे स्पष्ट पता चलता है कि अमेरिका ही एकमात्र देश है, जो कोरियाई प्रायद्वीप में स्थिति को बदत्तर करने पर तुला है और परमाणु युद्ध की चिंगारी भड़काने की कोशिश में है।


north-korea-america-fighter-plane-fly-near-peninsula

प्योंगयांगः कोरियाई प्रायद्वीप के पास अमेरिकी लड़ाकू विमानों के उड़ान भरने के कदम की उत्तर कोरिया ने कड़ी निंदा की है। उत्तर कोरिया ने कहा कि अमेरिका जैसे गैंगस्टर निरंतर परमाणु हमले की धमकी दे रहे हैं और उत्तर कोरिया को किसी भी कीमत पर ब्लेकमैल करने का प्रयास कर रहे हैं।

अमेरिका के बी-1 लड़ाकू विमान ने कोरियाई प्रायद्वीप में उड़ान भरी थी। इससे स्पष्ट पता चलता है कि अमेरिका ही एकमात्र देश है, जो कोरियाई प्रायद्वीप में स्थिति को बदत्तर करने पर तुला है और परमाणु युद्ध की चिंगारी भड़काने की कोशिश में है।

गौरतलब है कि अमेरिका के इन लड़ाकू विमानों ने जापान और दक्षिण कोरिया के साथ कोरियाई प्रायद्वीप में संयुक्त सैन्याभ्यास किया था। अमेरिकी वायुसेना के बी-1बमवर्षकों ने दक्षिण कोरिया और जापान के लड़ाकू विमानों के साथ गुरुवार को कोरियाई प्रायद्वीप के पास उड़ान भरी थी।

हालांकि उत्तर कोरिया की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि दो बी-1बी लैंसर्स ने गुआम के एंडरसेन वायु सैन्यअड्डे से दक्षिण कोरिया एवं जापना की ओर उड़ा भरी। इसके बाद लैंसर्स ने यैले सागर के ऊपर दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों के साथ अभ्यास किया। इस द्विपक्षीय साझेदारी के पूरा होने के बाद ये विमान अपने-अपने सैन्यअड्डे पर लौट आए।

 

advertisement