JAC 12th Arts Result 2019: इंटर आर्ट्स में लड़कियों ने मारी बाजी, जानें 10 खास बातें - Hindustan हिंदी     |       राजतिलक: पहले VVPAT की पर्ची मिलान, फिर EC करे नतीजों का ऐलान! Rajtilak: Opposition requests EC to verify VVPAT slips - Rajtilak - आज तक     |       NDA के भोज में PM सम्मानित, कहा- पहली बार सकारात्मक मतदान के साथ सरकार की वापसी - दैनिक जागरण     |       वोटों की गिनती से ठीक पहले अमित शाह के डिनर में एकजुट हुआ NDA, PM मोदी ने चुनाव अभियान की तुलना 'तीर्थयात्रा' से की - NDTV India     |       NDA के डिनर में पहुंचे 36 सहयोगी दल, पीएम मोदी के नेतृत्व पर सबने जताया भरोसा: राजनाथ - Navbharat Times     |       हरियाणा/ 3 महीने से रोज 4 लाख कीमत के 5 रु. के नकली सिक्के बना रहे गिरोह का पर्दाफाश, 4 गिरफ्तार - Dainik Bhaskar     |       देश की हर सीट का Exit Poll, देखें: आपके क्षेत्र से किसकी जीत का अनुमान - आज तक     |       सिद्धू दंपती पर कसा शिकंजा, राहुल गांधी को भेजा गया विवादित भाषण का वीडियाे - दैनिक जागरण     |       Burger King में पहुंचा शख्स, बर्गर को जैसे ही खाया तो निकलने लगा गले से खून... अंदर मिली ये खतरनाक चीज - NDTV India     |       एग्जिट पोल्स ने बढ़ाई विपक्ष की बेचैनी, नतीजों से पहले ही ईवीएम पर मचने लगा शोर - Navbharat Times     |       ईरान की ट्रंप को दो टूक- कितने आए और चले गए, बर्बादी की धमकी हमें मत देना - आज तक     |       चीन: हजारों लड़कियों की तस्करी, किशोरियों को बनाते हैं सेक्स गुलाम - आज तक     |       पाकिस्तानी जनता परेशान, ब्याज दर 12.25%, जाएंगी 10 लाख नौकरियां - Business - आज तक     |       हूथी विद्रोहियों की मक्‍का की तरफ दागी मिसाइल को सऊदी अरब ने हवा में ही किया खत्‍म - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       6.50 लाख रुपये से Hyundai Venue लॉन्च, जानें कौन सा वेरिएंट आपके लिए सही है? - आज तक     |       सेंसेक्स में आज फिर तेजी, 200 अंकों की बढ़त के साथ खुला बाजार - Hindustan     |       खबरों वाले शेयर, इन पर बनी रहे नजर - मनी कंट्रोल     |       ऐमजॉन, वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट का धंधा चौपट करने को तैयार है रिलायंस रिटेल: रिपोर्ट - Navbharat Times     |       विवेक ओबेरॉय के विवादित ट्वीट पर ओमंग कुमार का रिऐक्शन, बोले- हो गया, हो गया - नवभारत टाइम्स     |       'भारत' छोड़ने के बाद क्या दोबारा प्रियंका संग काम करेंगे सलमान? बताया - आज तक     |       तो इस वजह से अभी मलाइका अरोड़ा से शादी नहीं कर रहे हैं अर्जुन कपूर? - Entertainment AajTak - आज तक     |       ऐश्वर्या राय ने Cannes Film Festival में बिखेरा अपना जादू, सोशल मीडिया पर Photos वायरल - NDTV India     |       World Cup 2019: 1975 से वर्ल्‍ड कप 2015 तक भारतीय टीम का सफर, रिकॉर्ड के पहाड़ पर जा बैठे सचिन - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       कुछ भी हो, आपको माही भाई चाहिए: युजवेंद्र चहल - Navbharat Times     |       वर्ल्ड कप 2019: इंग्लैंड जाने से पहले कोहली ने देश के सामने रखा 'विराट' विजन Kohli considers World Cup 2019 as the most challenging one - Sports - आज तक     |       एथलेटिक्स/ दुती ने कहा- बहन ब्लैकमेल कर रही थी इसलिए समलैंगिक रिश्ते की बात सार्वजनिक की - Dainik Bhaskar     |      

विदेश


हैदर अबादी ने कहा- इस साल हो जाएगा इराक से आईएसआईएस का पूरा सफाया

अबादी ने मिश्रित जाति वाले किरकुक प्रांत के हवीजा में चलाए गए अंतिम अभियान की खासतौर पर सराहना की। उन्होंने कहा कि इराकी बलों ने उन इलाकों को मुक्त करा लिया,


pm-haider-al-abadi-says-complete-eradication-of-isis-from-iraq-in-this-year

बगदादः इराकी प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने  कहा है कि इस साल देश से आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) का पूरा सफाया होने की उम्मीद है। यह बातें अबादी ने मंगलवार को एक टेलीविजन पर प्रसारित संवाददाता सम्मेलन में कहीं। इसके साथ ही उन्होंने आईएस के खिलाफ इराकी सुरक्षा बलों की जीत की सराहना भी की। अबादी ने मिश्रित जाति वाले किरकुक प्रांत के हवीजा में चलाए गए अंतिम अभियान की खासतौर पर सराहना की। उन्होंने कहा कि इराकी बलों ने उन इलाकों को मुक्त करा लिया, जहां पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कोई बल पहुंच तक नहीं पाया था। आज इराक में हर स्थान पर आईएस में भय का माहौल है और जैसा कि हमने वादा किया था इस साल इराक से आतंकवादी संगठन आईएसआईएस का पूरी तरह सफाया कर दिया जाएगा।

क्या है आईएसआईएस का मकसद?
बता दें कि आईएसआईएस दुनिया का सबसे धनी चरमपंथी संगठन है, जिसका क्षेत्र सीरिया के पूर्वी अलेप्पो प्रांत में अल-बाब से लेकर 670 किमी दूर इराक़ के सलाउद्दीन प्रांत में सुलेमान बेक तक  फैला है। इसकी स्थापना अप्रैल 2013 में की गई थी और इसके बाद से  इस संगठन ने काफी तेजी से अपने क्षेत्र में विस्तार किया है। आईएसआईएस साफ़ तौर पर इन क्षेत्रों में इस्लामिक राज्य स्थापित करना चाहता है। आईएसआईएस का पूरा नाम इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया है। यह आतंकवादी संगठन कभी अलकायदा का ही एक हिस्सा हुआ करता था। 2006 में अमेरिकी और इराक की सेना ने मिलकर कार्रवाई करते हुए अलकायदा को जमींदोज कर दिया था, लेकिन संगठन पूरी तरह खत्म नहीं हो पाया था। इसके बाद संगठन के लोगों ने मिलकर एक बार फिर नई आतंकी संगठन का निर्माण कर लिए, जिसे आईएसआईएस का नाम दिया गया।

कौन है ये अबू बगदादी?
1971 में इराक के समारा शहर में जन्मा अल बगदादी पहले अपने शहर में धार्मिक कार्यकर्ता था, लेकिन 2003 में अमेरिका ने इराक पर हमला किया तो इस्लामिक स्टडीज में डॉक्टरेट लेने वाला और धार्मिक तकरीरें देने वाला अल बगदादी इस हमले से तिलमिला गया और अमेरिका विरोधी आतंकवाद की दुनिया में शामिल हो गया। अल बगदादी की बढ़ती ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इराक और सीरिया के अलग अलग हिस्सों में उसके लड़ाकों की तादाद 30 हजार से 40 हजार के बीच पहुंच चुकी है। वहीं अमेरिकी सेना कहती है कि अल बगदादी का कद ऐसा नहीं था कि उसे बड़ा खतरा माना जाए, लेकिन अमेरिकी सेना के एक अधिकारी के मुताबिक साल 2009 में जब उसे छोड़ा गया तो उसने धमकी दी थी कि अब मैं तुम्हें न्यूयॉर्क में देखूंगा। उस समय उसकी बात को गंभीरता से नहीं लिया गया था, लेकिन आईएसआईएस की बढ़ती करतूतें  बता रहीं हैं कि अल बगदादी के इरादे नेक नहीं है।

हालांकि इराक ने 2014 में आईएसआईएस द्वारा लोगों के मारने और उनके वीडियो वायरल करने के बाद से इस संगठन के खिलाफ कड़े कदम उठाए हैं। इराक सरकार को इसके लिए अमेरिका से मदद मिलती रही है। हाल ही में इराकी प्रधानमंत्री  हैदर अल-अबादी के आईएसआईएस के खात्में पर दिए गए बयान से यह तो साफ हो गया है कि इराक आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए प्रयासरत है। 

advertisement