बिहार: BJP-JDU के प्रत्याशियों की घोषणा, देखें लिस्ट- लोकसभा चुनाव 2019 - BBC हिंदी     |       BJP-Congress Candidates List: कांग्रेस-BJP की एक और लिस्ट जारी; पुरी से पात्रा, फतेहपुर सीकरी से राज बब्बर - Hindustan     |       Lok Sabha Election 2019: लालू के सियासी और जातीय गणित ने कांग्रेस को झुकने पर किया मजबूर, मांझी, कुशवाहा, साहनी को दी तवज्जो - Jansatta     |       बिहार: महागठबंधन में सीटों का बंटवारा, 9+1 पर मानी कांग्रेस, कन्हैया को जगह नहीं - दैनिक जागरण     |       भ्रष्टाचार पर अब होगा कड़ा वार, जस्टिस पिनाकी घोष बने देश के पहले Lokpal, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       कांग्रेस ने मानी राज बब्बर की मांग, अब फतेहपुर सीकरी से मिला टिकट - आज तक     |       राम मनोहर लोहिया का जिक्र कर मोदी ने कांग्रेस और समाजवादी दलों पर साधा निशाना - नवभारत टाइम्स     |       Video: होली पर क्रिकेट खेल रहे मुस्लिमों को पीटा, कहा- PAK जाओ - trending clicks - आज तक     |       पाकिस्तान के नेशनल डे पर क्या पीएम मोदी ने इमरान खान को भेजी हैं शुभकामनाएं - Webdunia Hindi     |       नॉर्थ कोरिया की मदद के लिए अब चीन को भुगतना होगा नुकसान, अमेरिका ने आंखें तरेरी - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       दंगल: सैम पित्रोदा पर कार्रवाई करेंगे राहुल? Dangal: Rahul Gandhi will take any action on Sam Pitroda? - Dangal - आज तक     |       लंदन में नीरव मोदी के गिरफ्तार होने पर गुलाम नबी आजाद ने कहा- चुनावी फायदे के लिए हुई कार्रवाई - ABP News     |       JIO, AIRTEL, VODAFONE, IDEA: पढ़िए 1699 में कौन कितना दे रहा है - bhopal Samachar     |       TATA की इस सेडान कार पर जबरदस्त छूट, मारुति बलेनो से भी हुई सस्ती - Zee Business हिंदी     |       Airtel 4G Hotspot प्लान्स में 100GB तक डाटा समेत फ्री मिलेगी डिवाइस, पढ़ें डिटेल्स - दैनिक जागरण     |       Jio Offer: शियोमी के इस फोन पर मिल रहा है, 2000 से ज्यादा का कैशबैक, साथ में 100 GB इंटरनेट फ्री - Hindustan     |       Kesari Box Office Collection Day 2: अक्षय कुमार की फिल्म 'केसरी' की ताबड़तोड़ कमाई, दो दिन में कमा लिए इतने करोड़ - NDTV India     |       माधुरी दीक्षित के घर आया नया मेहमान, तस्वीर शेयर कर दी जानकारी - Himachal Abhi Abhi     |       मणिकर्णिका के बाद कंगना का एक और बायोपिक, इस बाहुबली नेता का जीवन - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       64th FilmFare Award 2019: फिल्मफेयर अवॉर्ड के लिए नॉमिनेशन लिस्ट जारी, बेस्ट एक्टर और एक्ट्रेस की रेस में हैं ये सितारे - NDTV India     |       एबी डिविलियर्स की कलम से/ जबरदस्त एक्शन के लिए रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु तैयार - Dainik Bhaskar     |       विराट कोहली के बचाव में आए CSK के कोच, गौतम गंभीर को दिया ये जवाब - Hindustan     |       IPL-12: लसिथ मलिंगा को अपनी कमाई खोने का डर नहीं, ये है वजह - आज तक     |       जब बीच मैदान साथी खिलाड़ी से भिड़ पड़े थे गंभीर, एक गलती ने बर्बाद कर दिया पूरा करियर- Amarujala - अमर उजाला     |      

साहित्य/संस्कृति


‘द्रौपदी’ को नए सिरे से रचने वाली प्रतिभा

उड़िया से बाहर का रचना संसार प्रतिभा राय के अक्षर हौसले से ज्यादा करीब से तब परिचित हुआ, जब उनका उपन्यास आया- 'द्रौपदी'


pratibha-roy-draupadi-novel-gyanpeeth-award

प्रतिभा राय भारतीय साहित्यकारों की उस पीढ़ी की हैं, जिन्होंने गुलाम नहीं बल्कि स्वतंत्र भारत में अपनी आंखें खोलीं। लिहाजा, अपनी अक्षर विरासत को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें स्वतंत्र लीक गढ़ने का हौसला दिखाया। उड़िया से बाहर का रचना संसार उनके इस हौसले से ज्यादा करीब से तब परिचित हुआ, जब उनका उपन्यास आया- 'द्रौपदी'। भारतीय पौराणिक चरित्रों को लेकर नवजागरण काल से 'सुधारवादी साहित्य' लिखा जा रहा है, जिसमें ज्यादा संख्या काव्य कृतियों की है। पर कथा क्षेत्र में इस तरह का कोई बड़ा प्रयोग नहीं हुआ। इस कमी को पूरा करती हैं प्रतिभा राय।

साहित्य में स्त्री
समाकालीन जीवन के गठन और चिंताओं को लेकर एक बात इधर खूब कही जाती है कि साहित्य के मौजूदा सरोकारों पर खरा उतरने के लिए अब 'बिंबात्मक' औजार से ज्यादा जरूरी  है- 'कथात्मक हस्तक्षेप'। मौजूदा भारतीय समाज में स्त्रियों की स्थिति को लेकर जारी दुराग्रहों पर हमला बोलने के लिए राय ने इस दरकार को समझा। 'द्रौपदी' में वह विधवाओं के पुनर्विवाह को लेकर सामाजिक नजरिया, पति-पत्नी संबंध और स्त्री प्रेम को लेकर काफी ठोस धरातल पर संवाद करती हैं। इस संवाद में वह एक तरफ जहां पुरुषवादी आग्रहों को चुनौती देती हैं, वहीं भारतीय स्त्री के गृहस्थ जीवन को रचने वाली विसंगतिपूर्ण स्थितियों पर भी वह संवेदनात्मक सवाल खड़ी करती हैं।

'द्रौपदी' उपन्यास
बहरहाल, 'द्रौपदी' उपन्यास की रचयिता का रचना संसार काफी विषद और विविधतापूर्ण है। कथा साहित्य की विविध विधाओं के साथ कविता के क्षेत्र में भी वह अधिकारपूर्वक दाखिल हुई हैं। यही कारण है कि उन्हें भारतीय साहित्य क्षेत्र के सर्वाधिक सम्मानित आैर मान्य पुरस्कार ज्ञानपीठ के लिए भी चुना गया तो निर्णय प्रक्रिया की तटस्थता पर भी कोई सवाल नहीं उठा। हां, यह जरूर कहा जा सकता है कि सुप्रसिद्ध उड़िया लेखक डॉ. सीताकांत महापात्र चूंकि ज्ञानपीठ चयन समिति के अध्यक्ष थे, इसलिए प्रतिभा राय के कृतित्व पर विचार करने और सर्वसम्मत निर्णय लेने में सहुलियत हुई होगी।

वैसे प्रतिभा राय को इससे पूर्व साहित्य अकादमी और भारतीय ज्ञानपीठ का ही एक और महत्वपूर्ण पुरस्कार मूर्तिदेवी सम्मान मिल चुका है। लिहाजा उनके साहित्य को नए सिरे अनुमोदित होने की जरूरत नहीं है।

 

 

 

advertisement