रिश्वतखोरी / सीवीसी ने सीबीआई चीफ के खिलाफ कुछ आरोपों पर प्रतिकूल रिपोर्ट सौंपी: सुप्रीम कोर्ट     |       राजस्थान में कांग्रेस के गेमप्लान के जितने फायदे हैं उतने ही खतरे भी, जानिए क्यों     |       छत्तीसगढ़ / मोदी ने कहा- कांग्रेस सोचती है कि उनकी राजगद्दी एक चायवाला कैसे चुरा ले गया?     |       चक्रवात 'गाजा' की दस्तक से तमिलनाडु में भारी तबाही, अब तक 23 लोगों की मौत     |       पंजाब में घुसे जैश के सात अातंकी, पुलिस ने जारी किए फोटो, दिल्ली में भी घुसने की फिराक में     |       सीएम ममता बनर्जी का निशाना: कहा- बीजेपी हिस्ट्री चेंजर है और देश डेंजर में है     |       रघुराज प्रताप सिंह 'राजा भैया' ने कहा-संसद में SC-ST कानून में संशोधन न्यायसंगत नहीं     |       बिहार: छठ पर सपना चौधरी के शो में हुड़दंग, 1 की मौत, 12 लोग जख्मी     |       उपेंद्र कुशवाहा आज अमित शाह से मिलने की कोशिश करेंगे, 'नीच' शब्द को लेकर पीएम मोदी को भी घसीटा     |       आज खुलेंगे सबरीमला के कपाट, मंदिर जाने के लिए केरल पहुंचीं तृप्ति देसाई एयरपोर्ट पर फंसीं     |       चंद्रबाबू नायडू की आंध्र सरकार ने CBI को जांच से रोका, केंद्र से बढ़ सकती है और तल्खी     |       गंगाजल लेकर प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में पहुंचे कांग्रेस नेता, कहा- पूरे करेंगे वादे     |       लिफ्ट में बच्ची को पीटने और लूटपाट करने वाली महिला गिरफ्तार     |       दिल्ली सरकार ने टीएम कृष्णा को कार्यक्रम के लिए किया आमंत्रित, एएआई ने किया था रद्द     |       42 साल की उम्र की इस महिला ने इंटरनेट पर मचाई धूम, जानें इनकी खूबसूरती का राज     |       लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष ने खुद को मारी गोली, मौत     |       नोटबंदी नहीं की गई होती, तो भारत की अर्थव्यवस्था ढह जाती : RBI निदेशक एस गुरुमूर्ति     |       इलाहाबाद हाईकोर्ट में 10वीं और 12वीं पास के लिए बंपर भर्ती, पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें     |       Indian Railways: साल भर में 14 करोड़ रुपये के कंबल-तौलिए-चादर चुरा ले गए रेल यात्री!     |       12वीं में पढ़ने वाली होमगार्ड की लड़की बन गई 1.5 करोड़ की मालकिन, देखिए एेसे खुली किस्मत     |      

राष्ट्रीय


राष्ट्रपति ने की सूल्तान की सराहना, बोले- टीपू की हुई ऐतिहासिक मौत

हालांकि राष्ट्रपति कोविंद ने टीपू सूल्तान को मैसूर रॉकेट के विकास काअग्रदूत बताया। इसके साथ ही उन्होंने राज्य और देश के निर्माण में मैसूर और कर्नाटक के पूर्व शासकों, सैनिकों, राजनीतिज्ञों और वैज्ञानिकों के योगदान को सराहा।


president-ramnath-kovind-tipu-sultan-karnataka-assembly

बेंगलुरुः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने टीपू सुल्तान की सराहना करते हुए कहा कि मैसूर के शासक अंग्रेजों से लड़ते हुए 'ऐतिहासिक मृत्यु' को प्राप्त हुए थे। हालांकि कुछ दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने टीपू को 'क्रूर हत्यारा और सामूहिक दुष्कर्मी' बताया था। कोविंद ने कर्नाटक विधानसभा के भवन विधान सौध के 60 वर्ष पूरे होने पर हीरक जयंती समारोह के अवसर पर यह बातें कहीं।

हालांकि राष्ट्रपति कोविंद ने टीपू सूल्तान को मैसूर रॉकेट के विकास काअग्रदूत बताया। इसके साथ ही उन्होंने राज्य और देश के निर्माण में मैसूर और कर्नाटक के पूर्व शासकों, सैनिकों, राजनीतिज्ञों और वैज्ञानिकों के योगदान को सराहा। इसी क्रम में कोविंद ने टीपू के बारे में जैसे ही बोला, पूरे सदन ने इसका जोरदार स्वागत किया। राष्ट्रपति ने यह बयान ऐसे समय दिया है, जब कुछ दिन पहले ही भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने टीपू सुल्तान को 'क्रूर हत्यारा, नीच कट्टरपंथी और सामूहिक दुष्कर्मी' बताया था। राज्य की कांग्रेस सरकार राज्य में 10 नवंबर को टीपू जयंती मनाएगी। हेगड़े ने राज्य सरकार से इस समारोह में निमंत्रित लोगों की सूची में उन्हें शामिल नहीं करने के लिए कहा था।

वहीं सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रपति का टीपू को सराहने का बयान बीजेपी के गले नहीं उतर रहा है। बीजेपी नेता एवं पूर्व उप सीएम के.एस. ईश्वरप्पा ने कहा कि सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रपति को 'जबरदस्ती' टीपू सुल्तान पर बोलने के लिए कहा है। ईश्वरप्पा ने संयुक्त सत्र के बाद कहा कि यह भाषण कांग्रेस सरकार द्वारा जानबूझकर राष्ट्रपति से टीपू सुल्तान की सराहना के लिए बुलवाया गया है। कर्नाटक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष दीनेश गुंडु राव ने कहा कि बीजेपी राष्ट्रपति के भाषण की आलोचना कर उनका अपमान कर रही है। राव ने कहा कि वे हमारे देश के राष्ट्रपति का केवल अपमान कर रहे हैं।

सत्तारूढ़ कांग्रेस ने वर्ष 2015 में 10 नवंबर को टीपू जयंती के रूप में मनाने का फैसला किया था, जिसके बाद दक्षिणपंथी संगठनों ने मैसूर और राज्य में अन्य जगहों पर हिंसक प्रदर्शन किए थे। भारतीय जनता पार्टी राज्य में टीपू को हिंदू-विरोधी और कन्नड़-विरोधी बताकर इस जयंती का विरोध करती रही है। टीपू सुल्तान ने अपने पिता हैदर अली के निधन के बाद वर्ष 1782-1799 तक मैसूर पर शासन किया था।

advertisement

  • संबंधित खबरें