नंबर गेम में कमजोर विपक्ष शब्दों के तीर से करेगा सरकार को 'घायल'     |       100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       गोपाल दास नीरज : कारवां गुजर गया..     |       इस ट्रेन में मिलेगा हवाई जहाज जैसा आनंद, बटन दबाने पर खुल जाएंगी खिड़कियां     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       उलमा कौन होते निदा का हुक्का-पानी बंद करने वालेः तनवीर हैदर उसमानी     |       एयरसेल-मैक्सिस मामलाः CBI ने पी चिदंबरम, उनके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की     |       ग्रेटर नोएडा हादसा : नौ शव बरामद, पुलिस ने किया पांच लोगों को गिरफ्तार, कई लोग अब भी फंसे     |       खुशखबरी! अब टिकट काउंटर पर नहीं लगेगी भीड़, मोबाइल ऐप से बुक कराएं जनरल टिकट     |       लखनऊ में सूदखोर कारोबारी से मिला 100 किलो सोना व नकद 9.21 करोड़ रुपये     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       अमेरिकी अधिकारी आसमान में विमानों की टक्कर के कारणों की जांच में जुटे     |       देवरिया जेल में छापा, बाहुबली अतीक अहमद की बैरक से मिले सिम-पैन ड्राइव     |       पटना पहुंचते ही विरोधियों पर जमकर बरसे तेजस्वी     |       गुजरात : MBBS में गोल्ड मेडल जीतने वाली डॉक्टर बनी साध्वी, अरबों की संपत्ति ठुकराई     |      

खेल


प्रो-कबड्डी लीग : खिताबी भिड़ंत के लिए पटना-गुजरात तैयार

हालांकि दोनों ही टीमें दमदार हैं। पटना और गुजरात, दोनों के पास बेहतरीन रेडर हैं। गुजरात हालांकि लीग में एक मजबूत टीम के रूप में उभरकर आई। उसकी रेडिंग कप्तान सुकेश हेगड़े, महेंद्र राजपूत और सचिन तंवर जैसे खिलाड़ियों के दम पर शानदार रही है


pro-kabaddi-league-patna-gujarat-ready-for-title-battle

चेन्नई: प्रो-कबड्डी लीग के पांचवे सीजन में शामिल हुई चार नई टीमों में से एक गुजरात फार्च्यूनजाएंट्स ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर फाइनल में पहुंच गया है। अब वह शनिवार को दो बार की खिताबी विजेता पटना पाइरेट्स के खिलाफ अंतिम भिड़ंत के लिए तैयार है। पटना ने सीजन-3 और सीजन-4 में लगातार दो बार लीग का खिताब अपने नाम किया है। वह तीसरी बार लीग के फाइनल में पहुंचा है। वहीं स्टार रेडर प्रदीप नरवाल की टीम ने क्वालीफायर-2 में गुरुवार को खेले गए मैच में बंगाल वॉरियर्स को मात देकर खिताबी मुकाबले में कदम रखा तो वहीं गुजरात ने क्वालीफायर-1 में बंगाल को ही हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

हालांकि दोनों ही टीमें दमदार हैं। पटना और गुजरात, दोनों के पास बेहतरीन रेडर हैं। गुजरात हालांकि लीग में एक मजबूत टीम के रूप में उभरकर आई। उसकी रेडिंग कप्तान सुकेश हेगड़े, महेंद्र राजपूत और सचिन तंवर जैसे खिलाड़ियों के दम पर शानदार रही है, लेकिन अबोजार, फाजेल अत्राचेली और परवेश बैंसवाल के कारण उसके मजबूत डिफेंस को तोड़ पाना अन्य 11 टीमों के लिए इस सीजन में असंभव रहा है। इन तीनों ने गुजरात के डिफेंस को इस सीजन का मजबूत डिफेंस साबित किया है। लीग में गुजरात और पटना की भिड़ंत दो बार हुई है। दोनों ही बार सुकेश की टीम ने पटना को मात दी है।

इंटरजोनल वीक चैलेंज में 29 सितंबर को गुजरात ने पटना को 30-29 से हराया था। वहीं आठ अक्टूबर को इंटरजोनल वाइल्ड कार्ड वीक में सुकेश की टीम ने 33-29 से प्रदीप की टीम पर जीत हासिल की थी। गुजरात के कोच मनप्रीत सिंह भी फाइनल मुकाबले के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने एक बार कहा था कि वह लीग में पटना के खिलाफ किसी भी मैच में प्रदीप को सुपर-10 नहीं मारने देंगे और ऐसे हुआ भी। पटना की बात की जाए, तो उसके पास 'डुबकी किंग' प्रदीप और मोनू गोयट के रूप में दो बेहतरीन रेडर हैं, लेकिन उसका डिफेंस कमजोर है, जिसका फायदा गुजरात को मिल सकता है।

वहीं कप्तान प्रदीप ने खुद भी टीम के कमजोर डिफेंस की बात को स्वीकारा है। उन्होंने कहा, 'मेरी टीम में रेडिंग की जिम्मेदारी मैं और मोनू गोयट मुख्य रूप से संभालेंगे, लेकिन हमें अपने कमजोर डिफेंस को बेहतर करना होगा। प्रदीप ने कहा कि मैं जानता हूं कि गुजरात की रेडिंग और डिफेंस दोनों ही शानदार हैं। ऐसे में फाइनल का मैच हम दोनों टीमों के बीच रोमांचक होगा। फाइनल के मैच में हम 'या तो कटेंगे या जीतेंगे' के इरादे से उतरेंगे, तभी जीत संभव होगी। नहीं, तो नई टीम खिताब ले जाएगी और हम हैट्रिक नहीं मार पाएंगे।

मनप्रीत के बयान पर प्रदीप ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि हमारी टीम अगर फाइनल में पहुंचती है, तो मैं निश्चित तौर पर सुपर-10 मारकर मनप्रीत के इस कथन को गलत साबित करने की पूरी कोशिश करूंगा। पटना ने सीजन-3 और सीजन-4 में कबड्डी लीग का खिताब अपने नाम किया था और इसके तहत अगर वह इस बार फाइनल में जीत हासिल करती है, तो वह जीत की हैट्रिक बनाएगी। इस सीजन में प्रदीप 300 रेड अंक पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी हैं।

advertisement