चंद्र ग्रहण और सुपरमून, जानें सबकुछ - Navbharat Times     |       साधना सिंह के बयान के बाद धरने पर बैठै सपा-बसपा नेता, मुकदमा दर्ज करने की मांग - Amarujala - अमर उजाला     |       कुंभ से उत्तर प्रदेश सरकार को 1.2 लाख करोड़ का राजस्व मिलने की उम्मीद - Hindustan     |       ब्रिटेन को पछाड़कर 2019 में दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है भारत: पीडब्ल्यूसी - Dainik Bhaskar     |       कश्मीर/ सरकार का आदेश- अफसर गणतंत्र दिवस समारोह में अनिवार्य रूप से शामिल हों - Dainik Bhaskar     |       कर्नाटक: कांग्रेसी विधायकों में रिजॉर्ट में 'मारपीट', एक अस्‍पताल में भर्ती, पार्टी बोली- छाती में दर्द था - News18 Hindi     |       पौष पूर्णिमा 2019: जानें कब है पूर्णिमा, पूजा विधि और दान-दक्षिणा का समय - Hindustan     |       शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने PM मोदी को बताया तानाशाह, झारखंड के भड़के मंत्री ने कहा गद्दार - दैनिक जागरण     |       मेक्सिको: तेल पाइपलाइन में हुए धमाके से अब तक 73 लोगों की मौत, 74 घायल - आज तक     |       नहीं रहा दुनिया का सबसे वृद्ध शख्स, जानिये कितनी थी उम्र... - NDTV India     |       नशे में महिला सैनिक ने पुरुष साथी का किया यौन शोषण, नहीं मिली सजा - trending clicks - आज तक     |       Mauritian Prime Minister Pravind Jugnauth to arrive in India on 8-day visit - Times Now     |       पेट्रोल-डीजल के दाम में रविवार को हुई भारी बढ़ोतरी, फटाफट जानें नए रेट्स - News18 Hindi     |       अनिल अंबानी के बेटे अंशुल बने कंपनी में ट्रेनी, न्यूयॉर्क से की पढ़ाई - आज तक     |       ऐमजॉन, फ्लिपकार्ट की सेल, जानें क्या है खास - नवभारत टाइम्स     |       मिनी अर्टिगा जैसी दिखती है न्‍यू WagonR, आएगी अलॉय व्‍हील के साथ - Zee Business हिंदी     |       Bhabhiji Ghar Par Hain actress Saumya Tandon shares FIRST PHOTO of her newborn baby - Times Now     |       सारा अली खान की वजह से परेशान हुए बोनी कपूर, हो रही है बेटी जाह्नवी की चिंता - Hindustan     |       विवादित प्रॉपर्टी को लेकर बेटी सारा के साथ थाने पहुंचीं अमृता सिंह - नवभारत टाइम्स     |       युवराज सिंह की पत्नी हेजल कीच ने सुनाई आपबीती, फोटो शेयर कर दिखाए हालात- Amarujala - अमर उजाला     |       क्रिकेट/ अमला ने तोड़ा कोहली का रिकॉर्ड, सबसे कम पारियों में लगाए 27 शतक - Dainik Bhaskar     |       ऑस्ट्रेलियन ओपन/ फेडरर उलटफेर का शिकार, 15वीं रैंकिंग वाले सितसिपास से हारे; नडाल की जीत - Dainik Bhaskar     |       AUS ओपन का लुफ्त उठा रहे हैं विरुष्का, इस दिग्गज के साथ दिखे - Sports AajTak - आज तक     |       फेडरर के साथ फोटो पर बुरी फंसीं अनुष्का, इस वजह से हो गईं ट्रोल - Sports - आज तक     |      

राजनीति


राहुल गांधी ने कहा- योजनाओं को ठीक से लागू नहीं कर पा रही सरकार

अमेठी में  किसानों की रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस की उपज ग्रामीण रोजगार परियोजना 'मनरेगा' का मोदी 'मजाक' उड़ाया करते थे, लेकिन मोदी को यह एहसास हुआ कि आम आदमी के लिए मनरेगा के क्या मायने हैं


rahul-gandhi-says-government-not-implement-schemes-properly

अमेठीः कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के कार्यक्रमों को लापरवाही के साथ लागू कर रही है। उन्होंने इस संबंध में वस्तु एवं सेवा कर(जीएसटी) के खराब क्रियान्वयन का उदाहरण भी पेश किया, जिससे आम आदमी को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। राहुल ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह केवल कांग्रेस नीत संप्रग सरकार की परियोजनाओं के नाम बदल रहे हैं और उसे लागू कर रहे हैं।

अमेठी में  किसानों की रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस की उपज ग्रामीण रोजगार परियोजना 'मनरेगा' का मोदी 'मजाक' उड़ाया करते थे, लेकिन मोदी को यह एहसास हुआ कि आम आदमी के लिए मनरेगा के क्या मायने हैं और बाद में वह इसकी सराहना करने लगे। कांग्रेस किसी भी कार्यक्रम को शुरू करने से पहले आम आदमी से संपर्क करती है। इतना ही नहीं कांग्रेस आ आदमी के सुझाव को सुनती भी है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के लोग ऐसा नहीं करते, बल्कि अपनी योजनाओं को आम जनता पर थोप देते हैं। उन्होंने  कहा कि पीएम मोदी ने अचानक सोचा कि भारत को स्वच्छ होना चाहिए और बिना किसी से संपर्क किए, उन्होंने सभी को झाड़ू उठाने और भारत को साफ करने का निर्देश दे दिया। राहुल  ने कहा कि जीएसटी भी कांग्रेस की पहल है और सरकार ने बिना किसी से, खासकर छोटे व्यापारियों और किसानों से संपर्क किए ही इसे लागू कर दिया।

पीएम मोदी ने हमसे कहा कि सभी करों के स्थान पर एक कर लाना अच्छा कदम है और करों में कोई वृद्धि नहीं की जाएगी। उन्होंने हमसे वादा किया था कि 18 प्रतिशत से अधिक कर लागू नहीं किया जाएगा, लेकिन भाजपा सरकार ने कई स्लैब बनाकर जीएसटी की सीमा अधिकतम 28 प्रतिशत तक बढ़ा दी और सभी राज्यों का अपना एक अलग जीएसटी स्थापित कर दिया। उन्होंने कहा कि जीएसटी के गलत क्रियान्वयन से छोटे व्यापारियों को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। भाजपा सरकार ने जीएसटी के पीछे की भावना को नहीं समझा और इसे जल्दबाजी और लापरवाही से लागू कर दिया।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें