देश के सबसे भारी रॉकेट 'बाहुबली' से जीसैट-29 लॉन्‍च, कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट में जीवन करेगा आसान     |       राफेल की कीमत, ऑफसेट पार्टनर सब जानकारी SC के पास, डील पर फैसला सुरक्षित     |       राजस्थान विधानसभा चुनाव: भाजपा ने जारी की 31 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट     |       Birthday Special: चीन से हार के बाद जवाहरलाल नेहरू ने क्या कहा था?     |       राहुल की हरी झंडी, राजस्थान में गहलोत और सचिन पायलट दोनों लड़ेंगे चुनाव     |       कश्मीर पर शाहिद अफरीदी का यू टर्न, कहा- अपने देश के लिए हूं निष्ठावान     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       टूट गया चौटाला परिवार, जिस इनेलो को खड़ा किया उसी से निकाले गए अजय चौटाला     |       हमलावर: एनडीए में अलग-थलग पड़े उपेन्द्र को सांसद अरुण का साथ     |       सिंगापुर / मोदी ने 23 देशों के दो अरब लोगों को जोड़ने वाला बैंकिंग सॉल्यूशन लॉन्च किया     |       पैग के लिए प्लेन में पंगा! देखिए विदेशी महिला के हंगामे का VIDEO     |       'पहाड़ों की साफ हवा' की होने लगी होम डिलीवरी, जानिए क्या है रेट     |       SC में सरकार ने नहीं बताई राफेल की कीमत, कहा-विरोधी उठा सकते हैं फायदा, फैसला सुरक्षित     |       आज से शुरू हो रही है रामायण एक्सप्रेस ट्रेन     |       व्हाइट हाऊस में तकरारः मेलानिया ट्रंप ने महिला सुरक्षा सलाहकार को निकालने को क्यों कहा?     |       कमलनाथ ने मुसलमानों से कहा, 'चुनावों तक RSS से सतर्क रहें, बाद में हम देख लेंगे'     |       1992 जैसी भीड़ उमडऩे की आशंका से इकबाल ने दी अयोध्या से पलायन की चेतावनी     |       तृप्ति देसाई का एलान, बोलीं- 17 नवंबर को सबरीमाला मंदिर में करूंगी प्रवेश, सीएम से मांगी सुरक्षा     |       खुदकुशी / 17 पेज का सुसाइड नोट, 13 मिनट की वीडियो रिकाॅर्डिंग के बाद दी जान     |       छठ पूजा पर कुरुक्षेत्र के सरोवर में उमड़े श्रद्धालु     |      

राष्ट्रीय


भागवत ने अलापा हिंदूत्व राग, बोले- हिंदुस्तान में रहने वाला हर कोई हिंदू

उन्होंने कहा कि विविधता के बावजूद भारत में आंतरिक तौर पर निरंतर एकता का प्रवाह चला आ रहा है। मिलकर चलने और उत्कर्ष प्राप्त करने को ही धर्म कहा गया है। इस दौरान भागवत विकास और स्वच्छता जैसे मसलों पर भी बोलने से नहीं चूके।


rss-chief-mohan-bhagwat-says-hindustan-country-of-hindu

इंदौर: चिमनबाग मैदान में विद्यार्थियों और शिक्षकों के कार्यक्रम 'शंखनाद' में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हिंदुस्तान हिंदू राष्ट्र है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि देश दूसरे धर्म वालों का नहीं है। जो भारतीय हैं, जिनके पूर्वज इस भूमि के हैं, सब हिंदू ही कहलाएंगे, इसलिए इसे हिंदुत्व कहा जाता है, हिंदूज्म नहीं। इसके साथ ही भागवत ने अन्य देशों का जिक्र करते हुए कहा कि जैसे जर्मनी में रहने वाला हर नागरिक जर्मन, अमेरिका में रहने वाला अमेरिकन है, वैसे ही हिंदुस्तान में रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू है।

उन्होंने कहा कि विविधता के बावजूद भारत में आंतरिक तौर पर निरंतर एकता का प्रवाह चला आ रहा है। मिलकर चलने और उत्कर्ष प्राप्त करने को ही धर्म कहा गया है। इस दौरान भागवत विकास और स्वच्छता जैसे मसलों पर भी बोलने से नहीं चूके। विकास को समझाते हुए उन्होंने कहा कि एक शेर जंगल में रहता है, वह अविकसित कहलाएगा, जब वह पिंजरे में आ जाएगा तो दर्शकों के लिए भी तय व्यवस्था होगी, इस तरह वह विकसित कहलाएगा।

आरएसएस प्रमुख ने विकास में जनभागीदारी को जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि विकास सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं हो सकता, समाज जितना आगे बढ़ता है, सरकार भी उतनी ही चलती है। इसका मतलब है कि समाज से ही सरकार चलती है। भागवत ने इशारों में कई स्थानों पर बल के इस्तेमाल से बदलाव की कोशिश पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि किसी भी डंडे के बूते परिवर्तन नहीं हो सकता। भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए आचरण, विचार, दृष्टि में बदलाव लाना होगा। हम उस दिशा में तेजी से बढ़ भी रहे हैं। 

advertisement

  • संबंधित खबरें