नंबर गेम में कमजोर विपक्ष शब्दों के तीर से करेगा सरकार को 'घायल'     |       100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       तेजस एक्सप्रेस दौड़ने को तैयार, नई दिल्ली-चंडीगढ़ तक चलने वाली इस ट्रेन में हैं खास सुविधाएं     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       उलमा कौन होते निदा का हुक्का-पानी बंद करने वालेः तनवीर हैदर उसमानी     |       एयरसेल-मैक्सिस मामलाः CBI ने पी चिदंबरम, उनके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की     |       ग्रेटर नोएडा हादसा : नौ शव बरामद, पुलिस ने किया पांच लोगों को गिरफ्तार, कई लोग अब भी फंसे     |       खुशखबरी! अब टिकट काउंटर पर नहीं लगेगी भीड़, मोबाइल ऐप से बुक कराएं जनरल टिकट     |       लखनऊ में सूदखोर कारोबारी से मिला 100 किलो सोना व नकद 9.21 करोड़ रुपये     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       अमेरिकी अधिकारी आसमान में विमानों की टक्कर के कारणों की जांच में जुटे     |       देवरिया जेल में छापा, बाहुबली अतीक अहमद की बैरक से मिले सिम-पैन ड्राइव     |       पटना पहुंचते ही विरोधियों पर जमकर बरसे तेजस्वी     |       गुजरात : MBBS में गोल्ड मेडल जीतने वाली डॉक्टर बनी साध्वी, अरबों की संपत्ति ठुकराई     |       भोपाल पहुंचे अखिलेश यादव, होर्डिंग्स लगाकर शक्ति प्रदर्शन, कांग्रेस से गठबंधन पर साधी चुप्पी     |      

राष्ट्रीय


पत्रकार विनोद वर्मा अरेस्ट, सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

वहीं प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया कि यह दोनों राज्यों की पुलिस द्वारा संयुक्त अभियान था, जबकि उत्तर प्रदेश पुलिस ने स्पष्ट कर दिया कि इस मामले में उनकी कोई भूमिका नहीं थी।


senior-journalist-vinod-verma-arrested-by-haryana-police

गाजियाबादः छत्तीसगढ़ पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद स्थित उनके घर से हिरासत में ले लिया है। हालांकि अभी इस बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है कि विनोद को हिरासत में क्यों लिया गया। वहीं सूत्र बतातें है कि छत्तीसगढ़ में उनके खिलाफ जबरन वसूली की शिकायत के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने पत्रकार विनोद वर्मा की ट्रांजिट गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। कोर्ट ने कहा कि बिना सीडी के क्यों वर्मा को गिरफ्तार किया गया।

वहीं प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया कि यह दोनों राज्यों की पुलिस द्वारा संयुक्त अभियान था, जबकि उत्तर प्रदेश पुलिस ने स्पष्ट कर दिया कि इस मामले में उनकी कोई भूमिका नहीं थी। लखनऊ में डीजीपी कार्यालय में जनसंपर्क अधिकारी श्रीवास्तव ने कहा कि रायपुर जिले के पंड्री पुलिस स्टेशन में वर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 384 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा अमर उजाला और बीबीसी में काम कर चुके हैं। वहीं वर्मा छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपेश बघेल के संबंधी हैं। सूत्रों ने बताया कि पंडरी इलाके में रहने वाले प्रकाश बजाज नाम के एक शख्स को फोन पर ब्लैकमेल कर धमकी दी गयी थी। उसे कहा गया कि मंत्री की सीडी है, यह शख्स मंत्री का करीबी बताया जा रहा है। वहीं इस मामले में पंडरी थाने में एक FIR दर्ज किया गया और SP अजातशत्रु के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की एक टीम को दिल्ली रवाना किया गया।

हालांकि कुछ रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्मा ने छत्तीसगढ़ सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री के खिलाफ स्टिंग ऑपरेशन की योजना बनाई थी। सूत्रों ने बताया कि वर्मा मंत्री से धन उगाही की कोशिश कर रहे थे। वहीं पुलिस ने उनके पास से कई सीडी, पेन ड्राइव और कुछ दस्तावेजों को बरामद किया है।

वहीं वर्मा ने कहा है कि मुझे फंसाया गया है। मेरा इससे कुछ लेना देना नहीं है। उन्होंने सेक्स सीडी अपनेपास होने की बात भी स्वीकार की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस को मेरे घर से लैपटाप मिला है। हमने कभी भी राजेश मूणत से बात नहीं की और ना ही हमने कभी किसी को धमकाया है।

advertisement