BJP की एक और लिस्ट जारी- मेनका गांधी, मनोज सिन्हा सहित 39 उम्मीदवारों के नाम, जानें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव - NDTV India     |       राष्ट्रवाद पर छिड़ी बहस को राहुल ने अमीर बनाम गरीब की तरफ मोड़ा, अब क्या करेगी बीजेपी? - आज तक     |       बीजेपी में शामिल हुईं अभिनेत्री जया प्रदा Bollywood actress Jaya Prada join Bharatiya Janata Party - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       it is not impossible to implement Rahul Gandhis Scheme says VK Jain - राहुल गांधी की योजना असंभव नहीं वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बर - NDTV Khabar     |       शारदा घोटाला/ सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सीबीआई ने अतिगंभीर खुलासे किए, आदेश अभी देना संभव नहीं - Dainik Bhaskar     |       राहुल का वादा,'युवाओं को बिजनस शुरू करने के बाद 3 साल नहीं लेनी होगी कोई परमिशन' - नवभारत टाइम्स     |       LokSabha Elections 2019: कन्हैया का गिरिराज पर तंज, मंत्रीजी ने कह दिया 'बेगूसराय को वणक्कम' - Hindustan     |       दिल्ली में बोले राजनाथ सिंह, चौकीदार चोर नहीं, प्योर है और दोबारा पीएम बनना श्योर है - दैनिक जागरण     |       चीन ने अरुणाचल को भारत का हिस्सा दिखाने वाले हजारों मैप्स नष्ट किए: रिपोर्ट - Hindustan     |       PAK में हिन्दुओं का जबरन धर्मांतरण: लड़कियों का चौंकानेवाला खुलासा - trending clicks AajTak - आज तक     |       पाकिस्तान के हाथ लगा ये खजाना तो बदल जाएगी पूरी तस्वीर - आज तक     |       डर रहे हैं पाक PM इमरान, कहा-चुनाव के चलते भारत दिखा सकता है और दुस्साहस - आज तक     |       सेंसेक्स 400 अंक फिसला, इन कारणों से बाजार में हाहाकार - Navbharat Times     |       जेट एयरवेज संकट: आखिरकार नरेश गोयल ने दिया बोर्ड और चेयरमैन पद से इस्तीफा - Navbharat Times     |       1 अप्रैल से पड़ेगी महंगाई की मार, आपकी जेब होगी ढीली - Business - आज तक     |       Hyundai Qxi से जल्द उठेगा पर्दा, इन SUV को टक्कर देगी 'बेबी क्रेटा' - Navbharat Times     |       'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' को लगा तीसरा शॉक, अब इस एक्टर ने भी शो को किया टाटा-बाय बाय - India TV हिंदी     |       Chhapaak में दीपिका पादुकोण को देख प्रियंका चोपड़ा भूल गयीं अपनी छुट्टियां, हुआ ऐसा हाल! - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       PM नरेंद्र मोदी बायोपिक: मुश्किल में फिल्म, हाइकोर्ट में रोक लगाने के लिए याचिका - आज तक     |       बॉक्स ऑफिस कलेक्शन/ 100 करोड़ के करीब पहुंची केसरी, 5 दिन में कमाए 86.32 करोड़ - Dainik Bhaskar     |       IPL 2019: मांकड़िंग विवाद पर BCCI ने अश्विन को लेकर कही ये बात - Hindustan     |       Michael Schumacher's son Mick Schumacher to make Formula One debut for Ferrari in Bahrain test - Times Now     |       रूस/ बैकाल झील जब जम जाती है, तब उस पर यह रेस होती है; इस बार 23 देशों के 127 खिलाड़ी उतरे - Dainik Bhaskar     |       हर्षा भोगले की कलम से/ दिल्ली के अरमानों पर पानी फेर सकती है धीमी पिच - Dainik Bhaskar     |      

राजनीति


शरद पवार ने कहा - मोदी सरकार के खिलाफ है जनभावना , देश में बढ़ी बेरोजगारी

पवार ने कहा कि कपड़ा बनाने वाली 67 कंपनियां बंद हो गई हैं, जिसकी वजह से 17,600 लोग बेरोजगार हो गए। लारसन एंड टर्बो, इन्फोसिस और सुजलोन जैसी कंपनियों ने 17,000 कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया है।


sharad-pawar-said-public-sentiment-against-modi-government

मुंबईः राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई  के कारण देश की जनभावना मोदी सरकार के खिलाफ हो गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद से कई कंपनियों में ताले लग गए, जिससे बीजेपी सरकार की हर मोर्चे पर विफलता नजर आने लगी है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में बेरोजगारी बढ़ रही है, कृषि क्षेत्र संकट में है, किसान आत्महत्या कर रहे हैं, महंगाई चरम पर है , वित्तीय क्षेत्र असफल हो रहा है और गरीब तबके के लोग बहुत परेशान है। लोग अब सरकार के खिलाफ हो गए है। ऐसे में हमें अगले चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए।

पवार ने कहा कि कपड़ा बनाने वाली 67 कंपनियां बंद हो गई हैं, जिसकी वजह से 17,600 लोग बेरोजगार हो गए। लारसन एंड टर्बो, इन्फोसिस और सुजलोन जैसी कंपनियों ने 17,000 कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया है। आने वाले दिन देश के लिए बेहद मुश्किलों से भरे होंगे। उन्होंने कहा कि आज आलम यह है कि लोग सोशल मीडिया पर अपनी खींझ प्रकट कर रहे हैं और जवाब में सरकार उन्हें पुलिस नोटिस भेज रही है।

शरद पवार ने कहा कि लोकतंत्र में हर नागरिक को अपनी बात प्रकट करने का अधिकार है। सरकार को उन्हें नोटिस भेजकर धमकाना नहीं चाहिए और उनकी निजी स्वतंत्रता छीनने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। वहीं पवार ने 5 नवंबर को औरंगावाद में किसान संगठनों के सम्मेलन की घोषणा की।

advertisement