केंद्र ने कहा- कारगिल में राफेल होता तो कम सैनिक हताहत होते     |       केपाटन से मंत्री बाबूलाल वर्मा का टिकट कटा, चंद्रकांता मेघवाल को मौका     |       डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं     |       कोंकणी रिवाजों से एकदूजे के हुए 'दीपवीर', सबसे पहले यहां देखें तस्वीरें और वीडियो     |       मोदी ने वैश्विक नेताओं से की मुलाकात, अमेरिकी उपराष्ट्रपति को दिया भारत आने का न्योता     |       बयान से पलटे शाहिद आफरीदी, कहा- कश्मीर में भारत कर रहा जुल्म     |       इसरो / जीसैट-29 का सफल प्रक्षेपण, 2020 तक गगनयान के तहत पहला मानव रहित मिशन शुरू होगा     |       मैं सीएम की रेस में नहीं, आेपी चौटाला के नाम का सहारा लेने वाले उनका फैसला मानें: अभय     |       रामायण सर्किट: 16 दिन में अयोध्या से रामेश्वर तक का सफर     |       स्कूलों में बच्चों ने स्टाॅलें लगाने में दिखाया अपना कौशल     |       नॉनस्टॉप 100: देश भर में मनाया गया छठ, आज समापन     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       Srilanka : संसद में प्रधानमंत्री राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास     |       केंद्र ने लौटाया बांग्ला नाम का प्रस्ताव, ममता ने जताया नाराजगी     |       अयोध्या में RSS की रैली, इकबाल अंसारी बोले- छोड़ देंगे अयोध्या     |       हल्की बारिश से दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में सुधार, फिर भी सेहत के लिए है हानिकारक     |       दीक्षांत समारोह में छात्रों को गोल्ड मेडल देंगे राष्ट्रपति     |       अखिलेश का BJP पर तंज- तरक्की के रुके रास्ते, बदल रहे बस नाम     |       डीआरआई और सेना ने पाक सीमा से सटे इलाके में बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए     |       सबरीमला: तृप्ति देसाई 17 नवंबर को जाएंगी मंदिर, पीएम मोदी से मांगी सुरक्षा     |      

विदेश


चीन-अमेरिका के बीच 19 समझौतें, व्यापार घाटे को कम करना उद्देश्य

चीन के उपप्रधानमंत्री वांग यांग और अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस के बीच ग्रेट हॉल में इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। ये समझौते ऊर्जा, कृषि और वैज्ञानिकी क्षेत्रों में हुए हैं।


sign-19-international-agreements-between-china-us

बीजिंगः अमेरिका और चीन की कंपनियों के बीच नौ अरब डॉलर के कुल 19 समझौते किए गए हैं। यह समझौता अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की चीन यात्रा के पहले दिन ही यह समझौता हुआ है। चीन के उपप्रधानमंत्री वांग यांग और अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस के बीच ग्रेट हॉल में इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। ये समझौते ऊर्जा, कृषि और वैज्ञानिकी क्षेत्रों में हुए हैं।

गौरतलब है कि पांच एशियाई देशों के दौरे पर निकले राष्ट्रपति ट्रंप बुधवार को अपने तीन दिवसीय दौरे पर बीजिंग पहुंचे थे। इस दौरान ट्रंप के साथ विमानन, कृषि, जैव प्रौद्योगिकी और मशीनरी क्षेत्रों की लगभग 30 बड़ी कंपनियों के अधिकारी भी हैं। रॉस ने जारी बयान में कहा कि अमेरिका का उद्देश्य चीन के साथ व्यापार घाटे को कम करना है।

वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से वार्ता के दौरान कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध नए ऐतिहासिक प्रारंभिक बिंदू पर हैं। दोनों नेताओं की मुलाकात बीजिंग के ग्रेट हॉल ऑफ द पीपुल में हुई। शी ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच स्वस्थ संबंध बनाए रखने के लिए सहयोग ही एकमात्र विकल्प है।

दोनों देशों के बीच कोरियाई प्रायद्वीप और अफगानिस्तान सहित अन्य मुद्दों पर संचार और समन्वय मजबूत करने पर सहमति बनी। यह ट्रंप का राष्ट्रपति के रूप में चीन का पहला दौरा है और यह इस साल शी के साथ उनकी तीसरी बैठक है। दोनों नेताओं के बीच चीन के साथ अमेरिका के व्यापारिक घाटे पर भी चर्चा हो सकती है।

advertisement