कर्नाटक का 'नाटक' LIVE: बीजेपी बोली- 2 दिन में गिर जाएगी सरकार, कांग्रेस ने बुलाई 18 जनवरी को विधायकों की बैठक - NDTV India     |       ब्रेक्जिट डील गिरने से मुश्किल में घिरीं टेरीजा मे, जा सकती है कुर्सी - News18 इंडिया     |       NEWS FLASH: ओडिशा के अनुगुल जिले में रेनगली बांध के किनारे तेंदुए का शव बरामद - NDTV India     |       Mayawati's multi-layered birthday cake looted in Amroha, video goes viral - Watch - Times Now     |       विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष विष्णु हरि डालमिया का निधन - आज तक     |       Kumbh: मकर संक्रांति पर संगम स्नान को उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, आंकड़ा डेढ़ करोड़ के करीब - दैनिक जागरण     |       Kumbh Mela 2019 Shahi Snan: Union Minister Smriti Irani takes a dip in Ganges - Times Now     |       महबूबा ने कश्मीरी आतंकियों को माटी का सपूत बताया, कहा- केंद्र उनके नेताओं से बात करे - Dainik Bhaskar     |       World Bank अध्‍यक्ष की रेस में ये भारतीय महिला, दुनिया मानती है लोहा - आज तक     |       नैरोबी के पांच सितारा होटल में आतंकी हमला, 11 लोगों की मौत - Dainik Bhaskar     |       चीन की अंतरिक्ष एजेंसी ने चांद पर उगाना शुरू किया कपास, ऐसे उगाए जा रहे पौधे - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       खौफ के 88 दिन: बंधक के कब्जे से छूटी लड़की ने बताया किडनैपर ने क्या किया - नवभारत टाइम्स     |       बाजार शानदार तेजी लेकर बंद, निफ्टी 10880 के पार टिका - मनी कॉंट्रोल     |       पेट्रोल हुआ सस्ता, लेकिन आज प्रमुख शहरों में बढ़ गए डीजल के दाम - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       IBPS: कैलेंडर घोषित, देखें- 2019-20 में कब-कब होगी परीक्षा - आज तक     |       ₹399 के रिचार्ज प्लान में रोज मिलेगा 3.21GB डेटा, 74 दिन होगी वैलिडिटी - Navbharat Times     |       पहले भी कमेंट कर चुके हैं हार्दिक - बॉलीवुड भास्कर     |       प्रिया प्रकाश ने बताया फ़िल्म Sridevi Bungalow का सच, भड़के फ़ैंस ने उड़ाईं धज्जियां - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Manikarnika Bharat song launch: कंगना-अंकिता की बॉन्डिंग - आज तक     |       दीपिका पादुकोण के एक्स ब्वॉयफ्रेंड को मिला नया प्यार, अगले महीने ही कर लेंगे शादी- Amarujala - अमर उजाला     |       India vs Australia 2nd ODI: Virat Kohli, MS Dhoni shine as visitors level three-match series 1-1 - Times Now     |       ind vs aus odi series: अजहर ने कहा- अगर ऐसा रहा तो 100 सेंचुरी मारेंगे विराट कोहली - Hindustan     |       Spurs star Harry Kane out until March with ankle injury: Club - Times Now     |       'It's a Serena-tard': Serena Williams unveils her latest fashion statement at Australian Open - Times Now     |      

संपादकीय


दिल्ली की दमघोंटू हवा में सांस लोना भी मुहाल

जिस समस्या से लोगों का सांस लेना तक दूभर हो गया है, वह किसी राजनेता या रीजनीतिक दल के एजेंडे पर नहीं है....


smog-poisonous-air-mosque-delhi-ncr-government-scientist

कहने को भले दिल्ली भारत का दिल और राजधानी दोनों हो, पर हकीकत यह है कि यहां के लोग जहरीली हवा (स्मॉग) में सांस लेने को मजबूर हैं। हाल ही में जब दिल्ली में एक मैराथन रन होने वाला था तो एम्स की तरफ से इस तरह के आयोजन पर एतराज जताया गया और कहा गया कि दिल्ली-एनसीआर की आबोहवा एेसी नहीं रही कि लोग सुबह सैर पर निकलें या सामूहिक रूप से सड़कों पर दौड़ें। कमाल की बात यह है कि जिस समस्या से लोगों का सांस लेना तक दूभर हो गया है, वह किसी राजनेता या रीजनीतिक दल के एजेंडे पर नहीं है।

इस मामले में अदालतों में जरूर कुछ कार्रवाई चल रही है और समय-समय पर एनजीटी के कुछ दिशानिर्देश आ जाते हैं, जिससे सरकार को भी थोड़ी हरकत में आना पड़ता है। वरना सरकार के लिए भी यह हर साल का कुछ दिनों का रोना भर है। वह भी समझती है कि यह समस्या सीजनल है। बाद में तो स्थिति खुद ब खुद सामान्य हो जाती है। पर यह सोच गलत और खतरनाक दोनों है। दिल्ली से लगे पूरे इलाके में दिन में सूरज के दर्शन नहीं हो रहे हैं और रात का आलम तो कुछ ज्यादा ही संगीन हो गया है। हाइवे और एक्सप्रेस-वे पर दुर्घटना होने की कई खबरें आ रही हैं। यह स्थिति तब है जब इस बार सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में आतिशबाजी को हतोत्साहित करने के लिए पटाखों की बिक्री पर ही रोक लगा दी थी, जिससे धुएं और शोर के स्तर को कम किया जा सके। पिछले साल की धुंध के बारे में वैज्ञानिकों का अनुमान था कि वह दिवाली के मौके पर दिल्ली की भयंकर आतिशबाजी और पंजाब-हरियाणा में जलाई जाने वाली पराली की देन थी। विचित्र स्थिति यह भी है कि मौसम विज्ञानी अब भी कोई सटीक कारण प्रस्तुत नहीं कर पा रहे हैं।

दिल्ली सरकार ने इससे पूर्व सड़कों पर एक प्रयोग सम-विषम नंबर की गाड़ियों को लेकर जरूर किया था, पर यह कदम भी अपेक्षित नतीजे देने में असफल रहा। बहरहाल, प्रदूषण की गंभीर स्थिति को देखते हुए दिल्ली-एनसीआर में प्राइमरी स्कूलों को एहतियातन बंद करने के आदेश दिए जाने लगे हैं। ‘सफर’ (सिस्टम आॅफ एअर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च) ने दिशा-निर्देश जारी कर सेहत की दृष्टि से नाजुक स्थिति वाले लोगों को घरों से बाहर निकलने से मना किया है और सुबह-शाम गतिविधि कम करने तथा अच्छी गुणवत्ता के मॉस्क लगाने की भी सलाह दी है। हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने से बढ़ी इस समस्या का तोड़ क्या हो सकता है, इस पर एक सामूहिक सहमति की तत्काल जरूरत है, जिस पर सरकारों के संबंधित पक्ष भी पूरी तरह सहमत हों। अगर एेसा नहीं होता तो यह आगे और बड़ी समस्या को जान-बूझकर न्योता देना साबित होगा।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें