कश्मीर पर शाहिद अफरीदी का यू टर्न, कहा- अपने देश के लिए हूं निष्ठावान     |       "बाहुबली' सैटेलाइट लांच के बाद PM मोदी ने कहा-देश को मिली दोहरी सफलता     |       राफेल की कीमत, ऑफसेट पार्टनर सब जानकारी SC के पास, डील पर फैसला सुरक्षित     |       Birthday Special: चीन से हार के बाद जवाहरलाल नेहरू ने क्या कहा था?     |       राजस्थान विधानसभा चुनाव: भाजपा ने जारी की 31 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट     |       राहुल की हरी झंडी, राजस्थान में गहलोत और सचिन पायलट दोनों लड़ेंगे चुनाव     |       सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने कहा- राफेल डील की समीक्षा करना कोर्ट का नहीं, विशेषज्ञों का काम     |       टूट गया चौटाला परिवार, जिस इनेलो को खड़ा किया उसी से निकाले गए अजय चौटाला     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       हमलावर: एनडीए में अलग-थलग पड़े उपेन्द्र को सांसद अरुण का साथ     |       सिंगापुर / मोदी ने 23 देशों के दो अरब लोगों को जोड़ने वाला बैंकिंग सॉल्यूशन लॉन्च किया     |       शराब नहीं मिली तो विदेशी महिला ने फ्लाइट में किया हंगामा, देखें वीडियो     |       7.5 लीटर हवा खरीदिए 1499 में और दूर रहिए प्रदूषण से     |       अयोध्या-रामेश्वरम की तीर्थयात्रा के लिए रामायण एक्सप्रेस रवाना     |       कमलनाथ ने मुसलमानों से कहा, 'चुनावों तक RSS से सतर्क रहें, बाद में हम देख लेंगे'     |       डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में मनाई दिवाली, ट्वीट में हिंदुओं को ही बधाई देना भूले     |       तृप्ति देसाई का एलान, बोलीं- 17 नवंबर को सबरीमाला मंदिर में करूंगी प्रवेश, सीएम से मांगी सुरक्षा     |       पत्नी से परेशान होकर पति ने किया सुसाइड, लिखा- तू समझ नहीं पाई मेरा प्यार     |       25 नवंबर से पहले सुरक्षा दें नहीं तो छोड़ देंगे अयोध्या: इकबाल अंसारी     |       उदीयमान सूर्य को व्रती महिलाओं ने दिया अर्घ्य, श्रद्धालुओं ने की समृद्धि की कामना     |      

राष्ट्रीय


सुप्रीम कोर्ट ने दार्जिलिंग से केंद्रीय बलों को हटाने की दी इजाजत

गौरतलब है कि पीठ ने पश्चिम बंगाल सरकार से हाईकोर्ट द्वारा पहाड़ी जिलों में तैनात केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की 15 कंपनियों में से 10 को वहां से हटाने के निर्णय को रोके रखने के फैसले के विरुद्ध केंद्र सरकार की अपील पर प्रतिक्रिया भी मांगी है।


supreme-court-allows-permission-to-remove-central-forces-from-darjeeling

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को पश्चिम बंगाल के हिंसाग्रस्त दार्जिलिंग और कलिमपोंग जिले से केंद्रीय अर्ध सैनिक बल की सात टुकड़ियों को वहां से हटाने की इजाजत दे दी। हालांकि यहां अलग गोरखालैंड की मांग को लेकर पिछले दिनों प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति डी. वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने केंद्र सरकार को केंद्रीय सशस्त्र अर्ध सैन्य बल को हिमाचल प्रदेश और गुजरात में चुनाव के मद्देनजर पश्चिम बंगाल के इन हिंसाग्रस्त जिलों से हटाने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि पीठ ने पश्चिम बंगाल सरकार से हाईकोर्ट द्वारा पहाड़ी जिलों में तैनात केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की 15 कंपनियों में से 10 को वहां से हटाने के निर्णय को रोके रखने के फैसले के विरुद्ध केंद्र सरकार की अपील पर प्रतिक्रिया भी मांगी है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में उच्च न्यायालय के समक्ष लंबित कार्यवाही पर भी रोक लगा दी और कहा कि इस मामले को संपूर्ण रूप से देखा जाएगा और केंद्र की अपील पर सुनवाई के लिए अगली तारीख 27 नवंबर तय की।

बता दें कि हाईकोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में 27 अक्टूबर तक दार्जिलिंग में सीएपीएफ को हटाने पर रोक लगा दी थी। राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के केंद्रीय बलों को हटाने के निर्णय का अदालत में विरोध किया था।

advertisement

  • संबंधित खबरें