आईपीएल-11 : राशिद का हरफनमौला प्रदर्शन, हैदराबाद फाइनल में (राउंडअप)     |       कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने साबित किया बहुमत, BJP का वॉकआउट     |       2019 में अमेठी या रायबरेली हम जीतेंगे, SP-BSP साथ आए तो मिलेगी चुनौती: अमित शाह     |       निपाह का रहस्य गहराया: रिपोर्ट्स में खुलासा- वायरस फैलने की मुख्य वजह चमगादड़ नहीं     |       समिट रद्द करने के दूसरे दिन ट्रम्प ने जताई किम जोंग के साथ जल्द मुलाकात की उम्मीद, उत्तर कोरिया की तारीफ की     |       CBSE 12th Results 2018: सीबीएसई 12वीं के नतीजे आज होंगे जारी, cbseresults.nic.in पर देखें रिजल्ट     |       रोहिंग्या मुद्दे पर बांग्लादेश ने मांगी भारत से मदद     |       मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्कवायरी का आदेश     |       अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट की रवीश कुमार को जान से मारने की धमकी वाली खबर, एलजी से पूछा- है दम इस पर एक्‍शन लेने का     |       देश में पानी और तेल को लेकर आग     |       सीमा पर गोलीबारी व घुसपैठ बंद करे पाकिस्तान : महबूबा     |       गर्मी का कोहराम! दिल्‍ली और इन इलाकों के लिए लू का रेड अलर्ट     |       दिल्ली पुलिस ने सिसोदिया से 3 घंटे में पूछे 100 सवाल, कई के नहीं मिले जवाब     |       बिहार : 5 साल पहले महाबोधि मंदिर के पास हुए बम विस्फोट मामले में सभी 5 आरोपी दोषी करार     |       14 साल के छात्र से महिला टीचर पर संबंध बनाने का आरोप, अरेस्ट     |       अपडेट.. सैन्य शिविर पर ग्रेनेड हमला, दो सैन्यकर्मी घायल     |       झीरम घाटी हत्याकांड की बरसी पर कांग्रेस ने निकाली संकल्प यात्रा     |       घर आने की योजना रद्दकर ड्यूटी पर लौट गया था शहीद     |       वायरल सच: हिंदू लड़की को मुस्लिम लड़के से अलग करने में गुंडागर्दी का सच     |       बंगले को लेकर बदला मायावती का लहजा, देश में शांति व्यवस्था प्रभावित होने की दी चेतावनी     |      

राजनीति


सुप्रीम कोर्ट ने ममता को लगाई फटकार, कहा- नागरिक की तरह दाखिल करें याचिका

अगस्त महीने में पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तमाम योजनाओं को आधार से जोड़ने की मोदी सरकार की योजना के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में यातिका दाखिल की थी।


supreme-court-says-cm-mamata-banerjee-petition-filed-as-municipal

नई दिल्लीः पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा कि यदि ममता बनर्जी को समस्या है तो एक नागरिक की हैसियत से याचिका दाखिल करें। बता दें कि बीते अगस्त महीने में पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तमाम योजनाओं को आधार से जोड़ने की मोदी सरकार की योजना के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

इस याचिका पर सुनवाई सोमवार 30 अक्टूबर को होनी थी, याचिका की सुनवाई के दौरान जब सुप्रीम कोर्ट ने देखा की याचिका राज्य सरकार द्वारा दाखिल की गई है तो इस पर कोर्ट ने आपत्ति जताई। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्य सरकार संसद से पास योजना के खिलाफ कोर्ट कैसे जा सकती है। राज्य सरकार इस तरह याचिका दाखिल नहीं कर सकती। यदि ममता बनर्जी को इससे समस्या है तो वह एक आम नागरिक की तरह याचिका दाखिल करें।

गौरतलब है कि बीते दिनों पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा था कि वह अपना मोबाईल फोन आधार से लिंक नहीं कराएंगी भले ही उनका फोन बंद कर दिया जाए। इसके अलावा भी उन्होंने केंद्र सरकार की तमाम योजनाओं को विरोध हमेशा से विरोध जाताया है। दरअसल ममता नहीं चाहती है कि किसी भी योजना को आधार कार्ड से लिंक कराया जाए।

advertisement