मतगणना आज: फिर बनेगी मोदी सरकार या विपक्ष करेगा चमत्कार? - Navbharat Times     |       Election Results 2019: इस तरह जान सकते हैं चुनाव के नतीजों की पल-पल की जानकारी - NDTV India     |       उर्मिला से लेकर जया प्रदा तक, क्या हार जाएंगे ये 13 मशहूर चेहरे? - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       लोकसभा चुनाव/ गृह मंत्रालय का राज्यों को अलर्ट, सुरक्षा पुख्ता रखें; वोटों की गिनती के दौरान हिंसा की आशंका - Dainik Bhaskar     |       Lok Sabha Election 2019 Result Live Updates: आ गई फैसले की घड़ी, आठ बजे से शुरू होगी मतगणना - दैनिक जागरण     |       क्या होते हैं पोस्टल बैलेट पेपर, क्यों होती है सबसे पहले इनकी गिनती - आज तक     |       बिना EVM के इन देशों में होती है वोटिंग, ऐसे होते हैं चुनाव - Education AajTak - आज तक     |       कर्नाटक में गरमाई सियासत: केंद्रीय मंत्री गौड़ा ने कहा- शुक्रवार सुबह तक ही सीएम रहेंगे कुमारस्वामी - दैनिक जागरण     |       Loksabha Election 2019: यूपी के उपमुख्यमंत्री बोले- 23 मई को बीजेपी विरोधी दलों का हो जाएगा ‘राजनीतिक अंतिम संस्कार’ - Jansatta     |       RBSE 12th Arts Result 2019: मोबाइल पर सिर्फ एक क्लिक में चेक करें राजस्थान बोर्ड 12वीं आर्ट्स रिजल्ट - Hindustan हिंदी     |       फ्रांस में राफेल विमान का काम देख रहे भारतीय वायुसेना के दफ्तर में 'घुसपैठ की कोशिश' - NDTV India     |       टॉपलेस कुंवारी लड़कियों की परेड, राजा किसी को भी बना लेता है पत्नी - आज तक     |       SCO बैठक में एक दूसरे के अगल-बगल बैठे सुषमा स्वराज और कुरैशी, पुलवामा हमले के बाद बढ़ा था भारत-पाक में तनाव - Hindustan     |       ब्रिटेन : हाउस ऑफ कॉमन्स की नेता एंड्रिया लेडसम का इस्तीफ़ा - BBC हिंदी     |       क्या चुनावी नतीजों के रॉकेट पर सवार होकर 40 हजार पहुंचेगा सेंसेक्‍स? - आज तक     |       Hyundai Creta vs Hyundai Venue Comparison - Prices, Specs, Features - CarDekho     |       ह्यूंदै वेन्यू: जानें, SUV का कौन सा वेरियंट आपके लिए बेस्ट - नवभारत टाइम्स     |       TikTok वाली कंपनी अब लाई नया चैट ऐप, जानें कैसे करेगा काम - आज तक     |       ऐश्वर्या पर बना मीम शेयर कर बुरे फंसे विवेक, यूं उड़ रहा मजाक - Entertainment - आज तक     |       सलमान खान ने प्रियंका चोपड़ा पर किया कमेंट, बोले- पति के लिए छोड़ा 'भारत' को - NDTV India     |       ये ऐतिहासिक किरदार करना चाहते हैं सलमान खान, बोले- 'मौका मिला तो..' - अमर उजाला     |       कान्स 2019/ रेड कार्पेट पर सोनम व्हाइट टक्सीडो सूट में आईं नजर, बहन रिया ने फाइनल किया लुक - Dainik Bhaskar     |       मिताली राज के मुताबिक ये हैं वो कारण जो टीम इंडिया को बनाएंगे विश्व चैंपियन - Times Now Hindi     |       WC: अगर चल गए ये ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, तो दूसरी टीम के लिए इससे बुरी बात नहीं - आज तक     |       World Cup 2019: विश्व कप के इतिहास में भारत की सबसे बूढी टीम है कोहली सेना, क्या उम्र पर हावी होकर अनुभव दिलाएगा कप? - India TV हिंदी     |       World Cup 2019: Team India का full schedule, पाकिस्तान से इस दिन होगा महामुकाबला - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |      

राजनीति


स्वराज इंडिया ने कहा- यदि बढ़ा मेट्रो का किराया तो विरोध में उतरेंगे सड़क पर

वहीं स्वराज इंडिया ने मांग की है कि पिछले 10 मई को हुई वृद्धि के बाद अब कम से कम एक साल तक किराए में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की जाए।


swaraj-india-says-if-increased-metro-fare-will-go-protest

नई दिल्लीः दिल्ली मेट्रो के बढ़ते किराए का विरोध जताते हुए स्वराज इंडिया ने जन-विरोधी कदम बताया है। इसके साथ ही पार्टी ने कहा कि दिल्ली की लगातार बढ़ती आबादी के लिए आज भी सार्वजनिक परिवहन की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। दिल्ली में डीटीसी बसों की व्यवस्था भी चरमराई हुई है। ऐसे में मेट्रो के सफर को भी महंगा करना जन-विरोधी कदम है।

वहीं स्वराज इंडिया ने मांग की है कि पिछले 10 मई को हुई वृद्धि के बाद अब कम से कम एक साल तक किराए में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की जाए। यदि इस जनविरोधी निर्णय को वापस नहीं लिया गया तो दिल्ली की जनता के हक में उसे मजबूरन सड़कों पर उतरना पड़ेगा।

स्वराज इंडिया पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम कहा कि दिल्ली मेट्रो ने देश की राजधानी की सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में एक अहम योगदान निभाया है, लेकिन छह महीने में दो बार किराए में अप्रत्याशित वृद्धि दिल्ली के छात्रों, महिलाओं, आम जनता, गरीब एवं मध्यम वर्ग पर कठोर वार करना है। बीते 10 मई को 2009 के बाद पहली बार मेट्रो किराया बढ़ाया गया था, इसलिए पिछली वृद्धि का विरोध नहीं किया गया।

अनुपम ने कहा कि अब अक्टूबर से दोबारा किराए में वृद्धि की जा रही है। मात्र छह महीने की समय सीमा में किराए में हो रहे इस वृद्धि पर स्वराज इंडिया कड़ा विरोध जताती है। अनुपम ने मांग की है कि अक्टूबर से मेट्रो के बढ़ने वाले किराए पर तत्काल रोक लगे और किराया वृद्धि संबंधी अगली कोई भी समीक्षा कम से कम एक साल तक न हो।
 

advertisement