केंद्र ने कहा- कारगिल में राफेल होता तो कम सैनिक हताहत होते     |       केपाटन से मंत्री बाबूलाल वर्मा का टिकट कटा, चंद्रकांता मेघवाल को मौका     |       डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं     |       कोंकणी रिवाजों से एकदूजे के हुए 'दीपवीर', सबसे पहले यहां देखें तस्वीरें और वीडियो     |       मोदी ने वैश्विक नेताओं से की मुलाकात, अमेरिकी उपराष्ट्रपति को दिया भारत आने का न्योता     |       बयान से पलटे शाहिद आफरीदी, कहा- कश्मीर में भारत कर रहा जुल्म     |       इसरो / जीसैट-29 का सफल प्रक्षेपण, 2020 तक गगनयान के तहत पहला मानव रहित मिशन शुरू होगा     |       अजय चौटाला को इनेलो से निष्कासित किए जाने सहित दिन के 10 बड़े समाचार     |       रामायण सर्किट: 16 दिन में अयोध्या से रामेश्वर तक का सफर     |       स्कूलों में बच्चों ने स्टाॅलें लगाने में दिखाया अपना कौशल     |       बिहार समेत कई राज्यों में उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ संपन्न हुआ छठ का महापर्व     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       केंद्र ने लौटाया पश्चिम बंगाल का नाम बदलने का प्रस्ताव, ममता नाराज     |       Srilanka : संसद में प्रधानमंत्री राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास     |       अयोध्या में RSS की रैली, इकबाल अंसारी बोले- छोड़ देंगे अयोध्या     |       हल्की बारिश से दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में सुधार, फिर भी सेहत के लिए है हानिकारक     |       दीक्षांत समारोह में छात्रों को गोल्ड मेडल देंगे राष्ट्रपति     |       डीआरआई और सेना ने पाक सीमा से सटे इलाके में बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए     |       अखिलेश का BJP पर तंज- तरक्की के रुके रास्ते, बदल रहे बस नाम     |       सबरीमला: तृप्ति देसाई 17 नवंबर को जाएंगी मंदिर, पीएम मोदी से मांगी सुरक्षा     |      

राजनीति


तेजस्वी बनाम तेज प्रताप की जंग तेज, बात इतनी बढ़ गई कि लालू यादव को आना पड़ा बीच में!

"कहते हैं बेकाबू होकर आधी रात को तेज ने अपने छोटे भाई का दरवाजा खटखटा दिया, दरवाजा खुला तो कथित तौर पर उस पर अपनी देसी तान दी, बमुश्किल बवाल शांत हुआ"


tejasvi-versus-tej-pratap-fight-lalu-yadav-had-to-settle-it

लालू परिवार में तूफान आने से पहले का सन्नाटा बिखरा पड़ा है, लालू के दोनों पुत्रों तेजस्वी और तेज प्रताप के बीच महत्त्वाकांक्षाओं की जंग उफान मार रही है और परिवार में संशकित लम्हों की आहटों को हर पल महसूस किया जा सकता है।

सूत्र बताते हैं कि एक दिन जब रात के खाने की टेबल पर लालू को छोड़कर अन्य पूरा परिवार इकट्ठा था तो तेज और तेजस्वी में किसी बात को लेकर घोर बहस हो गई।

सूत्रों की मानें तो तेज की अपने छोटे भाई को राय थी कि 'कांग्रेस को साथ ढोने में क्या अक्लमंदी है अगर उसके पास वोट ही इतने कम बचे रह गए हैं। इसके अलावा तेज ने झारखंड को लेकर भी अपनी कुछ राय रखी।'

कहते हैं इस पर तेजस्वी उखड़ गए और आदतन उन्होंने अपने बड़े भाई से थोड़ी तल्खी से कह डाला- 'जितनी बुद्धि है उतना ही दिमाग लगाओ, जितना भगवान ने दिया है उतना ही चलाया करो। हमारा लीडर जेल में है और आप पार्टी के थिंक टैंक नहीं।'

पर यह सब कहते हुए तेजस्वी भूल गए कि अब तेज के पास भी एक ऐश्वर्या है, ऐश्वर्या राय उनकी धर्मपत्नी। रात में पत्नी ने अपने पति को समझाया कि यादवों के असली नेता तो आप हो, आपके छोटे भाई तो बस 'पोस्टर ब्यॉय' हैं।

तेज को बात जम गई, जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना, कहते हैं बेकाबू होकर आधी रात को तेज ने अपने छोटे भाई का दरवाजा खटखटा दिया, दरवाजा खुला तो कथित तौर पर उस पर अपनी देसी तान दी, बमुश्किल बवाल शांत हुआ।

अगली सुबह तेजस्वी भागे-भागे अपने पिता के पास पहुंचे और उनसे दो टूक कहा- 'आप तय कर दीजिए कि आपकी विरासत आगे लेकर कौन चल सकता है।'

हालांकि तेज अपने पिता के बहुत करीबी हैं पर सियासत के धुरंधर लालू को मालूम है कि उनकी विरासत को सही मायनों में आगे कौन ले जा सकता है, सो, उन्होंने वहीं से तेज को फोन लगाया और उन्हें डपट दिया।

परिवार में इतना तनाव था कि लालू पुत्री मीसा भारती की जुबान फिसल गई फिर मीडिया के समक्ष उन्होंने खुद को सुधारा और कहा-उनके परिवार में ऐसी कोई तनातनी नहीं है। पर सियासत कहे शब्दों पर कब चली है?
 

advertisement

  • संबंधित खबरें