ममता की बंगाल सरकार और चंद्र बाबू की आंध्र सरकार ने CBI को जांच से रोका     |       लखनऊ में रेलमंत्री पीयूष गोयल की टिप्पणी से नाराज कर्मचारियों का हंगामा     |       पटना में उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी RLSP की बैठक आज, बड़ी घोषणा की अटकलें...     |       NDTV से बोलीं मायावती, न BJP के साथ जाएंगे, न कांग्रेस के साथ, एक सांपनाथ, एक नागनाथ     |       पंजाब में दिखा 12 लाख का इनामी आतंकी, जम्मू-कश्मीर सहित दोनों राज्यों में हाई अलर्ट     |       दिल्ली / 13 दिन बंद रहेगा आईजीआई एयरपोर्ट का एक रनवे, 86% तक बढ़ा फ्लाइट्स का किराया     |       सीबाआई में घमासान: सीवीसी ने कहा, कुछ आरोपों पर जांच की जरूरत     |       सबरीमाला / मंदिर के पट खोले गए, सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू करने के लिए वक्त मांगेगा प्रबंधन     |       तमिलनाडु में गाजा तूफान से 13 लोगों की मौत, PM ने ली जानकारी     |       मालदीव में आज पीएम मोदी की यात्रा से भारत को मिला पैर जमाने का मौका     |       आरबीआई के अहम फैसलों में बड़ी भागीदारी चाहती है सरकार     |       मोदी चुनाव वाले राज्यों में संबोधित कर सकते हैं करीब 25 रैलियों को     |       मेक इन इंडिया की सौगात, देश की पहली T-18 ट्रेन ट्रायल के लिए पहुंची मुरादबाद     |       डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कोर्ट में किया समर्पण, मिली जमानत     |       आपत्तिजनक कंटैंट को यूजर्स के रिपोर्ट करने से पहले ही हटा देगा फेसबुक     |       वाराणसी की चर्चित लेडी डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगा दी जान, सुसाइड नोट पढ़ कर हर कोई हैरान     |       सरेंडर नहीं करने पर बिहार पुलिस जब्त कर सकती है मंजू वर्मा की संपत्ति : DGP     |       MP चुनावः वरिष्ठ BJP नेता ने कहा- चुनाव नहीं होते, तो पार्टी MLA के तोड़ देता दांत     |       यूपी के बाहुबली विधायक राजा भैया ने की पार्टी बनाने की घोषणा, आयोग को भेजे तीन नाम     |       अब आंख मारकर सपना चौधरी ने ढाया कहर, VIDEO देखकर छूटेंगे पसीने!     |      

विदेश


दक्षिण कोरिया पहुंचे ट्रम्प, उत्तर कोरियाई मुद्दे पर वार्ता शुरू

यह द्विपक्षीय वार्ता मुख्य रूप से उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण के संयुक्त प्रयासों और दोनों देशों के गठबंधन को मजबूत करने के तरीकों पर केंद्रित रही।


trump-arrives-in-seoul-talks-on north-korea-issue

5 एशियाई देशों की यात्रा पर निकले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने दो दिवसीय दक्षिण कोरिया दौरे पर सियोल पहुँच गए हैं। उन्होंने दक्षिण कोरियाई के राष्ट्रपति मून जे इन के साथ द्विपक्षीय वार्ता शुरू कर दी है। इस दौरान चर्चा का मुख्य केंद्र उत्तर कोरिया की परमाणु धमकी और द्विपक्षीय मुक्त व्यापार समझौते का प्रस्तावित संशोधन रहा। गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने छठा और अब तक का सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण तीन सितंबर को किया था।

मून और ट्रंप संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को भी संबोधित करेंगे। समाचार एजेंसी योनहप के मुताबिक, ट्रंप आज सुबह दक्षिण कोरिया पहुंचे। वह बीते 25 वर्षो में दक्षिण कोरिया की राजकीय यात्रा करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं।

दोनों नेताओं के बीच वार्ता शुरू होने से पहले राष्ट्रपति कार्यालय चेयोंग वा डे ने ट्रंप के सम्मान में आधिकारिक स्वागत समारोह का आयोजन किया। दोनों नेताओं ने इस सम्मान समारोह में शामिल 300 सदस्यीय गार्ड्स का निरीक्षण किया।

यह द्विपक्षीय वार्ता मुख्य रूप से उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण के संयुक्त प्रयासों और दोनों देशों के गठबंधन को मजबूत करने के तरीकों पर केंद्रित रही।

ट्रंप ने कहा कि उनके एजेंडे में व्यापार मुद्दा सर्वोपरि रहेगा। उन्होंने प्योंगटेक के कैंप हम्फ्रेज में अमेरिकी सेना के साथ बैठक के दौरान कहा, "कुछ देर में व्यापार को लेकर राष्ट्रपति मून और उनके प्रतिनिधियों के साथ हमारी बैठक होने वाली है।"

उन्होंने कहा, "हम उत्तर कोरिया के मुद्दे पर विभिन्न जनरलों के साथ बैठक करेंगे। मुझे लगता है कि हमारी बैठक कामयाब होगी, यह हमेशा कामयाब होती है और इसे कामयाब होना चाहिए।"

सियोल से लगभग 70 किलोमीटर दूर स्थित कैंप हम्फ्रेज ट्रंप की दक्षिण कोरियाई यात्रा का पहला पड़ाव रहा। उन्होंने वायुसेना अड्डे पर राष्ट्रपति मून और दक्षिण कोरिया एवं अमेरिकी सेना के जवानों के साथ लंच किया। 

मून ने शिविर में कहा, "मैं दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सभी जवानों की सराहना करना चाहता हूं और उनके प्रति सम्मान जताना चाहता हूं। ऐसा कहा जाता है कि मुसीबत के समय ही सच्चे दोस्तों की पहचान होती है। आप हमारे सच्चे दोस्त हैं, जब दक्षिण कोरिया अपने बुरे दौर से गुजर रहा था तो आपने हमारी मदद की।"

मून ने कोरिया-अमेरिका गठबंधन का महत्व बताते हुए इसे सिर्फ कोरियाई प्रायद्वीप में ही नहीं, बल्कि पूरे क्षेत्र में शांति और समृद्धि का आधार बताया।

मून ने कहा, "आप कोरिया-अमेरिका गठबंधन की आधारशिला और भविष्य हैं। आइए एक साथ मिलकर कोरियाई प्रायद्वीप और पूर्वोत्तर एशिया में शांति और समृद्धि की स्थापना करें।"

चेयोंग वा डे के मुताबिक, इस द्विपक्षीय वार्ता के बाद एक सम्मेलन होगा, जिसमें दोनों देशों के कई शीर्ष सरकारी अधिकारी शामिल होंगे। 

ट्रंप बुधवार को चीन रवाना होने से पहले दक्षिण कोरियाई संसद को संबोधित कर सकते हैं। उनका वियतनाम में एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपेक) सम्मेलन और फिलीपींस में दक्षिणपूर्व एशियाई देशों (आसियान) के सम्मेलन मंम भी शिरकत करने का कार्यक्रम है।

advertisement