इमरान की चिट्ठी पर भारत का जवाब- मुलाकात को तैयार, पर ये बातचीत की शुरुआत नहीं     |       मायावती का कांग्रेस को बड़ा झटका: MP में 22 उम्मीदवार घोषित, छग में अजीत जोगी से किया गठबंधन     |       मेट्रो में PM को देख मची सेल्फी की होड़, IICC सेंटर का शिलान्यास करने जा रहे थे     |       जेट की उड़ान में यात्रियों की नाक से निकाला खून, जाँच के आदेश     |       चुनाव / राहुल बोले, गली-गली में शोर है चौकीदार चोर है     |       राफेल पर रक्षा मंत्री ने देश को गुमराह करने की कोशिश की, इस्तीफा दें : कांग्रेस     |       सरकार ने पीपीएफ और अन्य बचत योजनाओं पर बढ़ाई ब्याज दरें     |       पाक BAT एक्शन का भारत लेगा बदला! राजनाथ ने BSF डीजी को दिए निर्देश     |       भागवत बोले, हिंदू राष्ट्र का यह अर्थ नहीं कि मुस्लिमों के लिए जगह नहीं, जानें संघ-बीजेपी में अंतर     |       आरएसएस का संवाद कार्यक्रम राजनीति से प्रेरित : मायावती     |       5वीं की छात्रा से 9 महीने तक रेप करते रहे प्रिंसिपल और क्लर्क, गर्भवती होने पर हुआ खुलासा     |       उत्तर प्रदेशः पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराए 25 हजार के दो ईनामी गैंगस्टर, पत्रकारों ने कैमरे में कैद की मुठभेड़     |       कैबिनेट का फैसला / तीन तलाक देने पर 3 साल जेल, मोदी सरकार के अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी     |       पिल्‍लों पर हमला किया तो कोबरा से भिड़ गया कुत्‍ता, देखें वीडियो     |       मध्य प्रदेश: हाईकोर्ट के आदेश पर हटाई जाएंगी पीएम मोदी और शिवराज की फोटो वाली टाइल्स     |       IMD Alert: ओडिशा-आंध्र में साइक्लोन की चेतावनी, 6 शहरों में भारी बारिश की आशंका     |       Asia Cup 2018: IND ने PAK को चटाई धूल लेकिन खुश हुआ अमेरिका, टीम इंडिया को दी मुबारकबाद     |       महंगाई / एक दिन की राहत के बाद पेट्रोल के रेट फिर बढ़े, मुंबई में 89.60 रु हुआ     |       बिहार : आरा में भाजपा नेता के महिंद्रा ट्रैक्टर शोरूम पर दिनदहाड़े फायरिंग, एक की मौत     |       कश्मीर में मारे आतंकियों पर पाकिस्तान ने जारी किए डाक टिकट, बताया आजादी का सिपाही     |      

जीवनशैली


टाइप-2 डायबिटीज से पीड़ित बुजुर्गो को फ्रैक्चर का जोखिम ज्यादा

नई दिल्लीः टाइप-2 डायबिटीज वाले बुजुर्गों में फ्रैक्चर का खतरा ज्यादा होता है, यह हम नहीं एक स्टडी में सामने आया है। टाइप-2 डायबिटीज वाले बुजुर्गों की कॉर्टिकल हड्डी कमजोर हो जाती है, जिससे उनमें फ्रेक्चर का खतरा बढ़ जाता है।


type-II-diabetes-have-more-risk-of-fracture-in-old-man

क्या है कॉर्टिकल?

मानव शरीर में हड्डियों की घनी बाहरी परत को कॉर्टिकल कहते हैं, जो अंदरूनी भाग की रक्षा करती है। टाइप-2 डायबिटीज से बुजुर्गों की इस हड्डी की बनावट बदलने की संभावना रहती है, जिससे फ्रैक्चर का जोखिम पैदा हो सकता है। वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने कहा है कि टाइप-2 डायबिटीज एक गंभीर पब्लिक हैल्थ समस्या है। बुजुर्गो की बढ़ती आबादी के साथ उनमें यह समस्या भी बढ़ने की संभावना है, जिन लोगों में मधुमेह है उनमें  टाइप-2 डायबिटीज वाले लोग ज्यादा हैं। इसके रोगियों में इंसुलिन तो बनता है, लेकिन कोशिकाएं इसका इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। इसी को इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है।

क्या कहते हैं आईएमए के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल?

डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा कि टाइप-2 डायबिटीज आमतौर पर खाने-पीने की खराब आदतों, मोटापे और एक्सरसाइज न करने की वजह से होती है। चूंकि शरीर ग्लूकोज को कोशिकाओं तक पहुंचाने में इंसुलिन का प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर पाता, इसलिए यह ऊतकों, मांसपेशियों और अंगों में वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों पर निर्भर करता है। यह एक चेन रिएक्शन की तरह होती है और कई लक्षणों के साथ बढ़ती जाती है।

डॉ. अग्रवाल ने कहा कि टाइप-2 डायबिटीज समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होती जाती है और शुरुआत में इसके लक्षण बहुत हल्के फुल्के होते हैं। जीवनशैली के मुद्दों के अलावा, ऐसे अन्य कारक भी हैं, जो इस विकार के विकास में योगदान कर सकते हैं। कुछ लोगों के लीवर में बहुत अधिक ग्लूकोज पैदा होता है। कुछ लोगों में टाइप-2 डायबिटीज की आनुवांशिक स्थिति भी हो सकती है। मोटापा इंसुलिन प्रतिरोध के खतरे को बढ़ाता है।

 

टाइप-2 डायबिटीज के शुरुआती प्रमुख लक्षण

टाइप-2 डायबिटीज के शुरुआती प्रमुख लक्षण लगातार भूख लगते रहना, ऊर्जा की कमी, थकान, वजन घटना, अत्यधिक प्यास लगना, बार बार मूत्र करना, मुंह सूख जाना, त्वचा में खुजली और दृष्टि धुंधलाना हैं। चीनी के स्तर में वृद्धि से यीस्ट का संक्रमण हो सकता है, घाव भरने में ज्यादा समय लगता है, त्वचा पर काले पैच पड़ जाते हैं, पैर में तकलीफ और हाथों में सुन्नपन पैदा हो सकती है।

इसे अपना कर टाइप-2 डायबिटीज को कम करने में मिल सकती है मदद

-अपने आहार में फाइबर और स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट से युक्त खाद्य पदार्थो को शामिल करें।
-फल, सब्जियां और साबुत अनाज खाने से रक्त शर्करा का स्तर स्थिर रहने में मदद मिलेगी।
-नियमित अंतराल पर खाएं और भूख लगने पर ही खाएं।

-अपना वजन नियंत्रित रखें और अपना दिल स्वस्थ रखें।

-इसका मतलब है कि रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट, मिठाई और एनीमल फैट कम से कम खाएं।
 

-अपने दिल को स्वस्थ बनाए रखने में मदद के लिए रोजाना आधा घंटा तक एरोबिक व्यायाम करें।
-व्यायाम भी रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करता है।

 

advertisement