कश्मीर पर शाहिद अफरीदी का यू टर्न, कहा- अपने देश के लिए हूं निष्ठावान     |       देश के सबसे भारी रॉकेट 'बाहुबली' से जीसैट-29 लॉन्‍च, कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट में जीवन करेगा आसान     |       राफेल की कीमत, ऑफसेट पार्टनर सब जानकारी SC के पास, डील पर फैसला सुरक्षित     |       राजस्‍थान चुनाव: बीजेपी की दूसरी लिस्‍ट में 14 विधायकों, तीन मंत्रियों के टिकट कटे     |       Birthday Special: चीन से हार के बाद जवाहरलाल नेहरू ने क्या कहा था?     |       राहुल की हरी झंडी, राजस्थान में गहलोत और सचिन पायलट दोनों लड़ेंगे चुनाव     |       संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसबंर से, क्या राम मंदिर पर कानून लाएगी मोदी सरकार?     |       हमलावर: एनडीए में अलग-थलग पड़े उपेन्द्र को सांसद अरुण का साथ     |       सिंगापुर / मोदी ने 23 देशों के दो अरब लोगों को जोड़ने वाला बैंकिंग सॉल्यूशन लॉन्च किया     |       पैग के लिए प्लेन में पंगा! देखिए विदेशी महिला के हंगामे का VIDEO     |       टूट गया चौटाला परिवार, जिस इनेलो को खड़ा किया उसी से निकाले गए अजय चौटाला     |       'पहाड़ों की साफ हवा' की होने लगी होम डिलीवरी, जानिए क्या है रेट     |       SC में सरकार ने नहीं बताई राफेल की कीमत, कहा-विरोधी उठा सकते हैं फायदा, फैसला सुरक्षित     |       आज से शुरू हो रही है रामायण एक्सप्रेस ट्रेन     |       व्हाइट हाऊस में तकरारः मेलानिया ट्रंप ने महिला सुरक्षा सलाहकार को निकालने को क्यों कहा?     |       1992 जैसी भीड़ उमडऩे की आशंका से इकबाल ने दी अयोध्या से पलायन की चेतावनी     |       तृप्ति देसाई का एलान, बोलीं- 17 नवंबर को सबरीमाला मंदिर में करूंगी प्रवेश, सीएम से मांगी सुरक्षा     |       खुदकुशी / 17 पेज का सुसाइड नोट, 13 मिनट की वीडियो रिकाॅर्डिंग के बाद दी जान     |       छठ पूजा पर कुरुक्षेत्र के सरोवर में उमड़े श्रद्धालु     |       श्रीलंकाः राष्ट्रपति को एक और झटका, संसद में राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास     |      

विदेश


संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष ने कहा सुरक्षा परिषद में हो विश्वसनीय सुधार

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष मिरोस्लाव लैकजक ने कहा कि सुरक्षा परिषद में सुधार के लिए समय बर्बाद करने के बजाय बातचीत की एक 'विश्वसनीय' प्रक्रिया बननी चाहिए।


un-general-assembly-said-trustworthy-improvement-in-security-council

बता दें कि लैकजक ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मैं एक विश्वसनीय प्रक्रिया चाहता हूं, एक ऐसी प्रक्रिया जिस पर सदस्य राष्ट्र विश्वास कर सकें। हम ऐसी छवि नहीं बनाना चाहते हैं, जिससे लगे कि हम समय बर्बाद कर रहे हैं और इस प्रक्रिया के परिणाम पर विश्वास किए बगैर किसी विषय पर चर्चा कर रहे हैं। यह प्रक्रिया एक दशक से भी अधिक समय से स्थगित है, हालांकि सुधार के लिए अंतर-सरकारी वार्ता की बैठकों को समय-समय पर आयोजित किया गया है।

उन्होंने कहा कि अभी तक मुख्य बाधा बातचीत के एजेंडे को स्वीकृति न मिल पाना ही रही है, क्योंकि कुछ देशों ने इसका विरोध किया है। संवाद प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के प्रयासों पर लैकजक ने कहा कि मैं उन सभी समूहों से मिल चुका हूं, जो सुरक्षा परिषद में सुधार पर चर्चा में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं। हालिया सप्ताहों में एल.69 के रूप में जाने जाने वाले समूह और आम सहमति के लिए एकजुट समूह ने सुधारों पर उनके दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए अलग-अलग मुलाकातें भी की हैं। एल.69 में भारत सहित 42 विकासशील देश शामिल हैं।

लैकजक ने सुधार के लिए वार्ता के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि यह एक मुद्दा है, जो बाहर से दिखाई देता है और बहुत से लोगों के लिए यह बेंचमार्क है। इससे वे संयुक्त राष्ट्र द्वारा सुधार में उनकी तत्परता दिखाने का आकलन करते हैं।

 

advertisement