नंबर गेम में कमजोर विपक्ष शब्दों के तीर से करेगा सरकार को 'घायल'     |       100 रुपये के नए नोट का क्या है गुजरात कनेक्शन?     |       गुजर गया कारवां: नहीं रहे मशहूर गीतकार गोपालदास 'नीरज'     |       इस ट्रेन में मिलेगा हवाई जहाज जैसा आनंद, बटन दबाने पर खुल जाएंगी खिड़कियां     |       32 किलोमीटर पैदल चलकर पहले दिन ऑफिस समय पर पहुंचा युवक, बॉस ने दिया ये ईनाम (VIDEO)     |       Exclusive: अगस्ता के बिचौलिये की वकील का दावा- सोनिया के खिलाफ गवाही देने का दबाव     |       उलमा कौन होते निदा का हुक्का-पानी बंद करने वालेः तनवीर हैदर उसमानी     |       एयरसेल-मैक्सिस मामलाः CBI ने पी चिदंबरम, उनके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की     |       ग्रेटर नोएडा हादसा : नौ शव बरामद, पुलिस ने किया पांच लोगों को गिरफ्तार, कई लोग अब भी फंसे     |       खुशखबरी! अब टिकट काउंटर पर नहीं लगेगी भीड़, मोबाइल ऐप से बुक कराएं जनरल टिकट     |       लखनऊ में सूदखोर कारोबारी से मिला 100 किलो सोना व नकद 9.21 करोड़ रुपये     |       राज ठाकरे का BJP पर हमला, इस वजह से भाजपा को चुनावों में मिली जीत, दोबारा सत्ता में नहीं होगी वापसी     |       साउथ दिल्ली के करीब 16000 पेड़ो के कटने पर लगे स्टे को NGT ने 27 जुलाई तक बढ़ाया     |       टिहरी में बस के खाई में गिरने से 14 की मौत, 17 लोग घायल     |       रायबरेली में भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या, दारोगा व सिपाही लाइन हाजिर     |       सुरक्षा बल के जवान ने प्राइवेट पार्ट पर करंट लगाकर पत्नी को मार डाला     |       अमेरिकी अधिकारी आसमान में विमानों की टक्कर के कारणों की जांच में जुटे     |       देवरिया जेल में छापा, बाहुबली अतीक अहमद की बैरक से मिले सिम-पैन ड्राइव     |       पटना पहुंचते ही विरोधियों पर जमकर बरसे तेजस्वी     |       गुजरात : MBBS में गोल्ड मेडल जीतने वाली डॉक्टर बनी साध्वी, अरबों की संपत्ति ठुकराई     |      

विदेश


संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष ने कहा सुरक्षा परिषद में हो विश्वसनीय सुधार

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष मिरोस्लाव लैकजक ने कहा कि सुरक्षा परिषद में सुधार के लिए समय बर्बाद करने के बजाय बातचीत की एक 'विश्वसनीय' प्रक्रिया बननी चाहिए।


un-general-assembly-said-trustworthy-improvement-in-security-council

बता दें कि लैकजक ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मैं एक विश्वसनीय प्रक्रिया चाहता हूं, एक ऐसी प्रक्रिया जिस पर सदस्य राष्ट्र विश्वास कर सकें। हम ऐसी छवि नहीं बनाना चाहते हैं, जिससे लगे कि हम समय बर्बाद कर रहे हैं और इस प्रक्रिया के परिणाम पर विश्वास किए बगैर किसी विषय पर चर्चा कर रहे हैं। यह प्रक्रिया एक दशक से भी अधिक समय से स्थगित है, हालांकि सुधार के लिए अंतर-सरकारी वार्ता की बैठकों को समय-समय पर आयोजित किया गया है।

उन्होंने कहा कि अभी तक मुख्य बाधा बातचीत के एजेंडे को स्वीकृति न मिल पाना ही रही है, क्योंकि कुछ देशों ने इसका विरोध किया है। संवाद प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के प्रयासों पर लैकजक ने कहा कि मैं उन सभी समूहों से मिल चुका हूं, जो सुरक्षा परिषद में सुधार पर चर्चा में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं। हालिया सप्ताहों में एल.69 के रूप में जाने जाने वाले समूह और आम सहमति के लिए एकजुट समूह ने सुधारों पर उनके दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए अलग-अलग मुलाकातें भी की हैं। एल.69 में भारत सहित 42 विकासशील देश शामिल हैं।

लैकजक ने सुधार के लिए वार्ता के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि यह एक मुद्दा है, जो बाहर से दिखाई देता है और बहुत से लोगों के लिए यह बेंचमार्क है। इससे वे संयुक्त राष्ट्र द्वारा सुधार में उनकी तत्परता दिखाने का आकलन करते हैं।

 

advertisement