सावधानः निपाह की आशंका से दिल्ली-एनसीआर में भी अलर्ट, केरल से आने वाले केले धोकर खाएं     |       न्यूज टाइम इंडिया : बुधवार को कुमारास्वामी लेंगे सीएम पद की शपथ     |       शिवसेना अफजल खान का काम कर रही है: योगी     |       प्रेस रिव्यू: मानव ढाल बनाने वाले मेजर गोगोई से महिला को लेकर पूछताछ     |       वैष्णो देवी पर्वत पर लगी भीषण आग, यात्रा में जाने के सभी मार्ग बंद     |       अमेरिकी बाजार की स्थिरता का असर भारतीय शेयर बाजार पर, हरे निशान के साथ खुले बाजार     |       तूतीकोरिन में धारा 144 लागू, प्लांट बंद होने से 32500 नौकरियों पर चली कुल्हाड़ी     |       पीएम मोदी ने कबूल किया विराट का फिटनेस चैलेंज, कहा- जल्द जारी करूंगा वीडियो     |       संघर्ष विराम उल्लंघन मसले पर पाकिस्तानी उप उच्चायुक्त तलब     |       गीता से शादी के लिए देशभर से आए 26 प्रस्ताव, 15 युवकों में से चुनेगी हमसफर, सबसे करेगी मुलाकात     |       अश्लील सीडी मामले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल से पूछताछ     |       यूपी: पेंशन लेने के लिए मां की लाश को चार महीने तक घर में छिपाए रखा     |       बीजेपी के 13 और व‍िधायकों को धमकी, दाउद के गुर्गों का नाम सामने आया     |       मार्च तक सात महीने में 39 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन : ईपीएफओ आंकड़े     |       गंगा दशहरा 2018: जान तो लीजिए क्यों मनाते हैं यह पर्व     |       पैरंट्स का 750 करोड़ है प्राइवेट स्कूलों की जेब में     |       पीएम मोदी और नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट के बीच द्विपक्षीय बैठक आज, इन मामलों पर होगी बड़ी डील     |       IPL 2018, KKR VS RR: जीत कर भी ये शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर गई केकेआर     |       एसएससी पेपर लीक मामले में सीबीआई ने की कार्रवाई, पटना, जहानाबाद, पूर्णिया समेत देश के 12 शहरों में हुई छापेमारी     |       मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती हुए लालू, इलाज में जुटी सात डॉक्टरों की टीम     |      

गपशप


योगी का मीडिया योग

योगी को तब आश्चर्य हुआ जब उन्होंने देखा कि कई पत्रकारों के तो संभ्रांत कॉलोनियों में आलीशान कोठियां हैं, जिन्हें उन्होंने मोटे किराए पर चढ़ा रखा है।


up-cm-yogi-adityanath-government-house-media-lucknow

यूपी में अखिलेश और मायावती राज में पत्रकारों की पौ-बारह थी। पर मौजूदा योगी सरकार में पत्रकारों की हालत खस्ता हो गई है। योगी ने न सिर्फ महज सरकारी विज्ञापनों के लिए कुकरमुत्तों की तरह राज्य में उग आए गिनती के छपने वाले पत्र-पत्रिकाओं को अपनी सरकार के विज्ञापन देने बंद कर दिए हैं। इसके अलावा योगी ने राज्य के वैसे पत्रकारों की पूरी लिस्ट निकाल ली है जिनका लखनऊ में अपना घर है, बावजूद वे वर्षों से सरकारी कोटे के घरों में कुंडली मारे बैठे हैं। योगी को तब आश्चर्य हुआ जब उन्होंने देखा कि कई पत्रकारों के तो संभ्रांत कॉलोनियों में आलीशान कोठियां हैं, जिन्हें उन्होंने मोटे किराए पर चढ़ा रखा है। एक पत्रकार ने तो अपना घर एक बैंक को लीज कर रखा है जहां से उन्हें महीने के साढ़े तीन लाख रुपए मिल रहे हैं, तो कईओं ने अपने घर स्पॉ और रेस्टोरेंट चलाने के लिए किराए पर दे रखे हैं। ऐसे पत्रकारों से सरकारी घर खाली कराए जा रहे हैं, अधाए-खाए-बुढ़ाए कई वरिष्ठ पत्रकार राज्य की योगी सरकार से बेतरह नाराज़ हैं, उनकी कलम आग उगल रही है, और वे पानी-पानी हैं।

advertisement